बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » UpdatePPF, NPS या सुकन्या योजना में है खाता, तो 31 मार्च से पहले करें ये काम

PPF, NPS या सुकन्या योजना में है खाता, तो 31 मार्च से पहले करें ये काम

PPF, NPS और सुकन्या स्कीम को मेंटेन करना पड़ता है, वरना उठाना पड़ता है नुकसान।

1 of
 
नई दिल्ली. वित्त वर्ष 2017-18 खत्म होने में अब सिर्फ 15 दि‍न का समय ही बचा है। ऐसे में लोग टैक्स की बचत के लिए तरह-तरह के विकल्पों में निवेश करते हैं। ऐसे मेंं वि‍कल्‍पों में सबसे ऊपर है PPF, NPS और सुकन्या समृद्धि स्कीम। लेकि‍न इन स्‍कीम को मेंटेन करना पड़ता है, वरना अकाउंट बंद हो जाता है, जि‍से फि‍र से शुरू करवाने के लि‍ए पेनल्‍टी देनी पड़ती है। ऐसेे में पेनल्‍टी के साथ आपको बैंक के चक्‍कर भी लगाने पड़ सकते हैं। ऐसे में हम आपको अपनी खबर में बता रहे हैं कि‍ 31 मार्च से पहले कौन से जरूरी काम कर लेंगे तो नहींं होगा नुकसान।  

 
सुकन्या समृद्धि स्कीम 
 
बेटि‍यों के भविष्य को सुरक्षि‍त करने के लिहाज से सुकन्या समृद्धि योजना को एक बेहतर स्कीम माना जाता है। इस स्कीम के तहत खोले गए अकाउंट में भी एक साल के दौरान 1,000 रुपए जमा करवाना जरूरी है। अगर ऐसा नहीं होने की स्‍थि‍ती में में आपको 50 रुपए की पेनल्टी देनी पड़ सकती है। वहीं, ब्‍याज का जो नुकसान होगा वह अलग। 
आगे पढ़ें : नुकसान बचाने के लि‍ए क्‍या करना होगा  
पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) 
 
टैक्स सेविंग और निवेश के लिहाज से पीपीएफ को भी एक बेहतर विकल्प माना जाता है। इस अकाउंट में भी एक निश्चित राशि सुनिश्चित करनी होती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप सुनिश्चित कर लें कि 31 मार्च से पहले आपके अकाउंट में 500 रुपए जमा हो जाएं। ऐसा न होने पर आपको 50 रुपए जुर्माना अदा करना होगा। इसके बाद ही आपका अकाउंट फिर से एक्टिव होगा।  
नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) 
 
नेशनल पेंशन सिस्टम एक बेहतर निवेश विकल्प माना जाता है। यह टैक्स सेविंग के लिहाज से भी अच्छा विकल्प है। अगर आपने भी एनपीएस में अपना अकाउंट खुलवा रखा है तो यह सुनिश्चित कर लें कि 31 मार्च 2018 से पहले-पहले आपके अकाउंट में मिनिमम 500 रुपए मंथली और सालाना जमा होने वाले 6000 रुपए जमा कराए जा चुके हों। ऐसा न होने की सूरत में आपका अकाउंट फ्रीज भी हो सकता है। ऐसा होने पर आपको फिर से अपना अकाउंट एक्टिव करवाने के लिए 100 रुपए की पेनाल्टी देनी होगी। ऐसे में सेवि‍ंग के लि‍ए खोले अकाउंट से कहीं नुकसान न होने लगे। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट