Advertisement

​क्‍या आप भी सेविंग पर बनाते हैं ये 6 बहाने, हो जाएगा करोड़ों का नुकसान

आम तौर पर 30 साल या इससे कम उम्र वाले लोग आज की लाइफ से जुड़ी चिंताओं पर ध्‍यान देते हैं।

1 of


नई दिल्‍ली। आम तौर पर 30 साल या इससे कम उम्र वाले लोग आज की लाइफ से जुड़ी चिंताओं पर ध्‍यान देते हैं। फ्यूचर के लिए सेविंग करने पर उनका ध्‍यान कम रहता है। इसके लिए वे आम तौर पर 6  बहाने बनाते हैं। इससे वे कम उम्र में सेविंग नहीं शुरू कर पाते हैं। इससे बाद में उनके पास सेविंग और निवेश के लिए कम समय मिलता है। अगर आप भी 30 की एज ग्रुप के हैं या इससे कम उम्र के हैं और सेविंग पर 6  बहाने बनाते हैं तो आप अलर्ट हो जाएं। इससे आपको करोड़ों रुपए का नुकसान हो सकता है। हम आपको बता रहे हैं कि ये 7 बहाने कौन से हैं। 

 

सेविंग की जरूरत पर गौर न करना 

 

बैंकबाजारडॉटकॉम के अनुसार आम तौर पर 30 साल या इससे कम उम्र के लोग कैरियर शुरू करने के बाद भी सेविंग शुरू नहीं कर पाते हैं। इसका कारण यह होता हे कि वे सोचते हैं कि उनकी सैलरी बढ़ेगी इससे वे बेहतर लाइफ जी सकेंगे और ज्‍यादा एंजॉय कर सकेंगे। लेकिन वे इस बात पर गौर नहीं करते हैं कि ऐसा वे तब तक कर सकते हैं जब कि उनको हर माह सैलरी मिल रही है। जब वे रिटायर हो जाएंगे तो सिर्फ कुछ सेविंग से उनका काम नहीं चलेगा। रिटायरमेंट के बाद की जरूरतों के लिए उनको काफी अधिक पैसे की जरूरत होगी। इसके लिए उनको अपनी मंथली इनकम का 15 से 20 फीसदी हर माह म्‍युचुअल फंड, फिक्‍स्ड डिपॉजिट या सेविंग स्‍कीमों में निवेश करना होगा। तभी वे एक बड़ा फंड बना पाएंगे जिससे उनकी रिटायरमेंट के बाद की जरूरतें पूरी हो सकें। 

Advertisement

 

अभी बहुत दूर है रिटायरमेंट 

 

आम तौर पर लोग सोचते हैं कि अरे अभी कैरियर शुरू हुआ है बाद में कर लेंगे सेविंग अभी रिटायरमेंट अभी बहुत दूर है। लेकिन वे यह भूल जाते हैं कि अभी आपकी शादी नहीं हुई है। ऐसे में आपके लिए पैसा बचाना आसान है। शादी होने के बाद खर्चे तेजी से बढ़ते हैं। ऐसे में ज्‍यादा सेविग करना आसान नहीं होता है। इसके अलावा कम उम्र में आप जो भी सेविंग और निवेश आप करते हैं उस पर आपको ज्‍यादा मुनाफ होता है। इसका कारण यह है कि जब आपका निवेश ज्‍यादा समय तक बना रहता है तो इस पर आपको कंपाउंउिंग का फायदा मिलता है और आपको पैसा तेजी से बढ़ता है। अगर आप ज्‍यादा उम्र में निवेश शुरू करते हैं तो कंपाउंडिंग के लिए कम समय मिलता है और आपको वह फायदा नहीं मिलता है तो आपको कम उम्र में निवेश करने पर मिलता। कई बार यह अंतर करोड़ों रुपए का हो जाता है। 

Advertisement

 

अभी इनकम कम है 

 

आम तौर पर जब लोग कैरियर शुरू करते हैं तो इनकम या सैलरी कम होती है। ऐसे में आप सोचते हैं कि अभी सैलरी कम है सैलरी बढ़ जाने पर सेविंग या निवेश शुरू करेंगे। लेकिन आप यह नहीं सोचते हैं कि अगर आपको हर माह 2,000 रुपए कम सैलरी मिले तब भी आपका खर्च चल जाएगा। अगर आप इस तरह से सोच कर हर माह 2,000 रुपए निवेश करना शुरू करें तो आपकी यह शानदार शुरुआत हो सकती है। 

Advertisement

 

आगे पढें

एजुकेशन लोन 

 

बड़े पैमाने पर युवा एजुकेशन लोन लेकर पढ़ाई पूरी करते हैं और नौकरी शुरू करने पर उनको यह एजुकेशन लोन चुकाना होता है। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो आप अपना लोन किसी ऐसे बैंक में शिफ्ट कर सकते हैं जिसकी इंटरेस्‍ट रेट कम है। इस तरह से आप इंटरेस्‍ट की रकम कम कर सकते हैं और इस बचत से निवेश की शुरूआत कर सकते हैं। 

कार खरीदना 

आम तौर पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट से ऑफिस आने जाने में थोड़ी दिक्‍कत होती है। ऐसे में कार लोन लेकर कार खरीदना काफी आकर्षक विकल्‍प लगता है। बहुत से युवा इस विकल्‍प को अपनाते हैं। लेकिन कार खरीदने के साथ ही आपको लोन की ईएमआई देनी होती है। इसके साथ ही कार रखने से आपका खर्च भी बढ़ जाता है। ऐसे में अगर आप सेविंग की कीमत पर कार खरीद रहे हैं तो आपको लंबी अवधि में इसका नुकसान उठाना होगा। 

अपना घर खरीदना है 

अगर आप मेट्रो शहर या किसी भी शहर में रहते हैं और आपका घर नहीं है तो यह हर व्‍यक्ति का सपना होता है कि उसका अपना घर हो। ऐसे में लोग सोचते हैं कि अपना घर होना जरूरी है। लेकिन अगर आपके पास घर की ईएमआई देने के बाद सेविंग के लिए पैसा नहीं बचता है तो घर खरीदने का फैसला आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। आपके लिए बेहतर होगा कि आप घर खरीदने के लिए तब तक इंतजार करें जब तक कि आपकी सैलरी इस लेवल पर आ जाए जब आप होम लोन की ईएमआई और मंथली निवेश दोनों चीजों को एक साथ मैनेज कर सकें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement