बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateमेंबर्स की शिकायतों का 20 दिन में निपटारा नहीं कर पा रहा EPFO, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर में कमी पर होगा एक्‍शन

मेंबर्स की शिकायतों का 20 दिन में निपटारा नहीं कर पा रहा EPFO, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर में कमी पर होगा एक्‍शन

कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) 20 दिन की समय सीमा के अंदर अपने मेंबर्स की शिकायतों का निस्‍तारण नहीं कर पा रहा है

1 of

नई दिल्‍ली। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) 20 दिन की समय सीमा के अंदर अपने मेंबर्स की शिकायतों का निस्‍तारण नहीं कर पा रहा है। इसके अलावा मेंबर्स ने शिकायतों के निस्‍तारण की गुणवत्‍ता को लेकर भी असंतोष जताया है। हाल में शिकायतों के निस्‍तारण की प्रगति की समीक्षा के दौरान यह बात सामने आई कि फील्‍ड ऑफिस में मैन पॉवर और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की कमी के कारण भी शिकायतों का निस्‍तारण समय पर नहीं हो रहा है। लेबर मिनिस्‍ट्री ने ईपीएफओ को मेंबर्स की शिकायतों का तय समय में निस्‍तारण करने के लिए जरूरी मैनपावर और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर जैसे कंप्‍यूटर, प्रिंटर और स्‍कैनर जैसी चीजें मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं। 

 

शिकायतों के निस्‍तारण की गुणवत्‍ता बेहतर बनाने पर जोर 

 

ईपीएफओ ने अपने सभी जोनल कार्यालय और फील्‍ड ऑफिस को भेजे सर्कुलर में कहा है कि हमार प्रयास है कि न सिर्फ मेंबर्स की शिकायतों का निस्‍तारण तय समय में हो बल्कि शिकायत करने वाले मेंबर्स की संतुष्टि को शीर्ष प्राथमिकता दी जानी चाहिए। ऐसे में शिकायतों के निस्‍तारण की गुणवत्‍ता का नियमित तौर पर एनालिसिस कर मकैनिज्‍म में लगातार सुधार किया जाना चाहिए। 

 

बिना कारण के लंबित रहती हैं शिकायतें 

 

सर्कुलर में कहा गया है कि ऐसे मामले सामने आए हैं जिनसे पता चलता है कि कई शिकायतों को एनफोर्समेंट ऑफीसर की रिपोर्ट के लिए लंबित रखा जाता है। ऐसे में एनफोर्समेंट ऑफीसर को यह निर्देश दिया जाना चाहिए कि यह सुनिश्चित करें कि शिकायत मिलने के 20 दिन के अंदर उनका निस्‍तारण किया जाना चाहिए। 

 

ये भी पढ़े -  पीएफ क्या है? What is Employee Provident Fund

 

शिकायतों के निस्‍तारण की साप्‍ताहिक समीक्षा के निर्देश 

 

ईपीएफओ ने अपने सभी रीजनल पीएफ कमिश्‍नर्स से कहा है कि वे अपने स्‍तर पर हर सप्‍ताह लंबित शिकातयों के निस्‍तारण की प्रगति की समीक्षा करें। इसके अलावा एसीसी और जोनल स्‍तर पर शिकातयों की 15 दिन में समीक्षा की जानी चाहिए जिससे रीजलल ऑफिस के स्‍तर पर कोई भी शिकायत पब्लिक ग्रिवांस पोर्टल पर 20 दिन से ज्‍यादा लंबित न रहे। 

 

प्रधानमंत्री के निर्देश पर तय की गई 20 दिन की समय सीमा 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर मेंबर्स की शिकायतों का निस्‍तारण 20 दिन के अंदर करने का निर्देश दिया गया है। शिकायतों के निस्‍तारण की प्रगति पर प्रधानमंत्री कार्यालय नजर रखता है और प्रधानमंत्री समय समय पर खुद इसकी समीक्षा करते हैं। 

 

EPFO पेंशनर्स ने की 7500 रुपए मिनिमम पेंशन की मांग, देशव्‍यापी आंदालन की चेतावनी

 

आगे पढें-ईपीएफओ के हैं लगभग 17 करोड़ मेंबर 

 

 

ईपीएफओ के हैं लगभग 17 करोड़ मेंबर 

मौजूदा समय में ईपीएफओ के लगभग 17 करोड़ मेंबर हैं। इसमें 4.5 करोड़ एक्टिव मेंबर है वहीं मेंबर नॉन एक्टिव हैं। यानी उनका मंथली कंट्रीब्‍यूशन पीएफ को नहीं मिल रहा है। ईपीएफओ अपने मेंबर्स के 8 लाख करोड़ रुपए से अधिक के पीएफ फंड का प्रबंधन कर रहा है। 

 

एक ही UAN नंबर से जोड़ सकेंगे 10 पीएफ खाते, EPFO ने दी नई सुविधा

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट