Home » Personal Finance » Financial Planning » Updateepf members facing problem in online ciaim

EPFO का यू टर्न, 10 लाख से ज्‍यादा का पीएफ के लिए ऑफलाइन भी कर सकेंगे आवेदन

कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन ईपीएफओ ने पीएफ क्‍लेम को अपने फैसले पर यू टर्न लिया है।

1 of

नई दिल्‍ली। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन ईपीएफओ ने पीएफ क्‍लेम को अपने फैसले पर यू टर्न लिया है। ईपीएफओ ने 10 लाख रुपए से अधिक का पीएफ क्‍लेम के लिए सिर्फ ऑनलाइन आवेदन करने का फैसला वापस ले लिया है। अब सभी मामलों में पीएफ क्‍लेम के लिए ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन आवेदन भी स्‍वीकार किए जाएंगे। संगठन ने यह फैसला अपने मेंबर्स ऑनलाइन क्‍लेम फाइल करने में आ रही दिक्‍कतों को देखते हुए लिया है। 

 

ईपीएफओ ने जारी किए नए निर्देश 

 

ईपीएफओ ने शुक्रवार को एक सर्कुलर में अपने सभी ऑफिस को पीएफ क्‍लेम को लेकर नए निर्देश जारी किए हैं। सर्कुलर में कहा गया है कि ऑनलाइन क्‍लेम फाइल करने में ईपीएफ मेंबर्स और इंटरनेशनल वर्कर्स को आ रही दिक्‍कतों के मद्देनजर पहले जारी किए गए निर्देश की समीक्षा की गई है। समीक्षा के बाद यह फैसला किया गया है कि 10 लाख रुपए से अधिक पीएफ क्‍लेम के लिए ऑनलाइन क्‍लेम फाइल करने की अनिवार्यता को स्‍थगित किया जा रहा है। इससे पीएफ क्‍लेम के सभी मामलों में ऑफलाइन आवेदन स्‍वीकार किया जाएगा।

 

वेरीफिकेशन के लिए इम्‍लॉयर के पास भेजा जाएगा ऑनलाइन क्‍लेम 

 

सर्कुलर में कहा गया है कि ऑनलाइन क्‍लेम में किसी तरह की धोखाधड़ी को रोकने के लिए पीएफ के सभी ऑनलाइन क्‍लेम को वेरीफिकेशन के लिए इम्‍पलॉयर के पास भेजा जाएगा। इसके बाद ही क्‍लेम का सेटेलमेंट होगा। इम्‍पलॉयर को ईपीएफओ से क्‍लेम मिलने के तीन दिन के अंदर क्‍लेम को स्‍वीकार करके या खारिज करके वापस करना होगा। 

 

28 फरवरी को ईपीएफओ ने किया था यह फैसला 

 

इससे पहले 28 फरवरी को ईपीएफओ ने एक निर्देश जारी कर कहा था कि अगर आपके प्रॉविडेंट फंड (पीएफ) अकाउंट में 10 लाख रुपए से ज्यादा हैं तो आपको क्‍लेम सेटलमेंट के लिए ऑनलाइन एप्लाई करना होगा। इसके लिए इम्प्लॉइज प्रॉविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (ईपीएफओ) अब फिजिकल फॉर्म मंजूर नहीं करेगा। क्लेम में धोखाधड़ी को रोकने के मकसद से यह कदम उठाया गया था।  

 

आगे पढें- पेंशन फंड क्‍लेम करने पर क्‍या था निर्देश 

5 लाख से ज्‍यादा का पेंशन क्‍लेम भी ऑनलाइन

 

 इसके अलावा इम्पलॉइज पेंशन स्‍कीम (ईपीएस) अकाउंट में 5 लाख रुपए से ज्यादा हैं तो क्‍लेम के लिए ऑनलाइन आवेदन को जरूरी बनाया गया था।  इसमें भी फिजिकल फॉर्म मंजूर नहीं किया जाएगा।  इम्प्लॉयर इम्प्लॉई के पीएफ अकाउंट में बेसिक सैलरी का 12 फीसदी कंट्रीब्‍यूट करता है। इसका 8.66 फीसदी हिस्‍सा ईपीएस में जाता है। 

 

ऑनलाइन में फ्रॉड का रिस्क क्यों नहीं?

ईपीएफओ के सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर वीपी जॉय ने moneybhaskar.com को बताया था कि 10 लाख रुपए से ज्‍यादा पीएफ क्‍लेम में फ्रॉड का रिस्‍क रहता है। ऐसे में फ्रॉड के जोखिम को कम करने के हमने यह कदम उठाया है। ऑनलाइन मोड में पीएफ क्‍लेम के लिए वही क्‍लेम कर पाएगा जिसका आधार सिस्‍टम में होगा। ऐसे में किसी तरह के फ्रॉड की गुंजाइश नहीं रहेगी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट