Home » Personal Finance » Financial Planning » Updatenon submission of jeevan praman in epfo

EPFO के 5 लाख पेंशनर्स की पेंशन पर खतरा, आधार बेस्‍ड जीवन प्रमाण है वजह

कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन यानी ईपीएफओ के लगभग 5 लाख पेंशनर्स की पेंशन पर खतरा पैदा हो गया है।

1 of

नई दिल्‍ली। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन यानी ईपीएफओ के लगभग 5 लाख पेंशनर्स की पेंशन पर खतरा पैदा हो गया है। ईपीएफओ ने लाखों पेंशनर्स के आधार बेस्‍ड जीवन प्रमाण को रिजेक्‍ट कर दिया है। इसके अलावा 1 लाख से अधिक पेंशनर्स का जीवन प्रमाण ईपीएफओ के पास अप्रूवल के लिए लंबित है। वहीं जीवन प्रमाण न जमा कराने की वजह से ईपीएफओ के फील्‍ड ऑफिस ने बड़े पैमाने पर पेंशनर्स की पेंशन रोक दी है। ऐसा ईपीएफओ के इस निर्देश के बावजूद किया गया है कि सिर्फ डिजिटल जीवन प्रमाण न जमा कराने की वजह से किसी जेनुअन पेंशनर्स की पेंशन न रोकी जाए। 

 

डिजिटल जीवन प्रमाण सबमिट न होने की वजह से पेंशन रुकी 

 

ईपीएफओ के एडिशनल सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर, पेंशन आर एम वर्मा ने सभी एडिशनल सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर जोन और सभी रीजनल पीएफ कमिश्‍नर को जीवन प्रमाण सबमिट न होने की वजह से पेंशन रोके जाने के मामले में पत्र लिखा है। उन्‍होंने कहा है कि हेड ऑफिस को जानकारी मिली है कि डिजिटल जीवन प्रमाण सबमिट न होने की वजह से कुछ मामलों में फील्‍ड ऑफिस ने पेंशनर्स की पेंशन रोक दी है। उन्‍होंने कहा कि पहले भी इस बारे में सर्कुलर जारी किया जा चुका है कि किसी भी जेनुअन पेंशनर्स की पेंशन सिर्फ इस वजह से न रोकी जाए कि उसने डिजिटल जीवन प्रमाण सबमिट नहीं किया है। पत्र में कहा गया है कि इस सर्कुलर का कठोरतापूर्व पालन सुनिश्चित किया जाए। 

 

लगभग 4 लाख डिजिटल जीवन प्रमाण रि‍जेक्‍ट

 

आर एम वर्मा के पत्र के मुताबिक पेंशनर्स द्वारा सबमिट कराए गए 3,79,643 आधार बेस्‍ड जीवन प्रमाण फील्‍ड ऑफिस द्वारा रिजेक्‍ट कर दिए गए हैं। इसके अलावा 1,35,086 जीवन प्रमाण फील्‍ड ऑफिस में अप्रूवल के लिए लंबित हैं। उन्‍होंने कहा है कि सभी रीजनल सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर रिजेक्‍ट किए गए जीवन प्रमाण के मामलों की अपने स्‍तर पर समीक्षा करें और ऐसे जेन्‍यून मामलों का अप्रूवल सुनिश्चित करें जिन्‍हें इस बारे में जारी निर्देश के तहत स्‍वीकार किया जा सकता है। इसके अलावा लंबित जीवन प्रमाण के मामलों में प्राथमिकता के आधार पर अप्रूवल सुनिश्चित करें। 

 

60 लाख हैं ईपीएफओ के पेंशनर्स 

 

मौजूदा समय में ईपीएफओ के पेंशनर्स की संख्‍या लगभग 60 लाख है। इन पेंशनर्स को ईपीएफओ हर माह पेंशन देता है। मौजूदा नियम के तहत ईपीएफओ के पेंशनर्स की न्‍यूनतम पेंशन 1,000 रुपए है। ईपीएफओ पेंशनर्स न्‍यूनतम पेंशन को बढा कर कम से कम 7,500 रुपए करने की मांग कर रहे हैं। 

पेंशनर्स के लिए डिजिटल जीवन पम्राण जमा कराना जरूरी 

 

ईपीएफओ ने अपने पेंशनर्स के लिए डिजिटल जीवन प्रमाण ऑनलाइन सबमिट कराना जरूरी कर दिया है। जीवन प्रमाण को ऑनलाइन सबमिट कराने के लिए आधार की जरूरत होती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट