Home » Personal Finance » Financial Planning » Updatechina want to be friendship with india

चीन ने बढ़ाया दोस्‍ती का हाथ, मोदी ने बिठा दी जांच

वैसे तो अकसर चीन और भारत के बीच विवाद की खबरें आती रहती हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। वैसे तो अकसर चीन और भारत के बीच विवाद की खबरें आती रहती हैं। हालांकि अब चीन ने मोदी सरकार की ओर दोस्‍ती का हाथ बढ़ाया है । लेकिन इसके उलट मोदी सरकार ने चीन के खिलाफ जांच बिठा दी है। 

 

चीन ने बढ़ाया दोस्‍ती का हाथ 


दरअसल, हाल ही में चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा है कि भारत और चीन को साथमिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है कि दोनों देश अपनी मानसिक रुकावटों को दूर करें, क्योंकि अगर हम साथ आ गए तो हिमालय भी हमारी दोस्ती के बीच नहीं आ सकता।

 

बढ़ रहे भारत-चीन संबंध


चीन और भारत के बीच पैदा हुए नए विवादों पर वांग ने कहा कि कुछ परेशानी और कठिनाइयों के बावजूद भारत और चीन के आपसी रिश्तों में सुधार हुआ है। उन्‍होंने कहा कि अगर दोनों देश साथ आ गए तो एक और एक दो नहीं ग्यारह हो जाएंगे।

 

भारत ने बिठा दी जांच 


इसके उलट भारत सरकार ने चीन के खिलाफ जांच बिठा दी है। दरअसल, सरकार की ओर से भारतीय इंडस्‍ट्री में चीन की गुड्स के बढ़ते प्रभाव को लेकर जांच के लिए कमिटी गठित की है। इस कमिटी की अगुवाई राज्‍यसभा सांसद नरेश गुजराल करेंगे। इस मुद्दे पर आम लोग भी अपने विचार दे सकेंगे। बयान में कहा गया कि 15 दिनों के भीतर लोगों से टिप्‍पणी मांगी गई है। 

 

एक साल में 19% बढ़ा कारोबार 


बता दें कि भारत और चीन के बीच बीते एक साल में कारोबार करीब 19% बढ़कर 5.5 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया है । हाल ही में आए बाइलैटरल ट्रेड के आंकड़ों के मुताबिक, 2017 में भारत से चीने में एक्सपोर्ट 39% बढ़ा, जो अब 1 लाख करोड़ से ज्यादा हो गया है। वहीं, इस दौरान भारत के इंपोर्ट भी 14.5% की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। खास बात ये है कि दोनों देशों के बीच डोकलाम विवाद, चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर और एनएसजी जैसे मतभेदों का असर ट्रेड पर नहीं पड़ा। आगे पढ़ें - भारत-चीन के बीच इन मुद्दों पर रहा तनाव 

 

 

भारत-चीन के बीच इन मुद्दों पर रहा तनाव 

- बता दें कि दोनों देशों के बीच पिछले साल में कई मसलों को लेकर तनाव बना रहा। इसमें डोकलाम विवाद, चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर, एनएसजी में एंट्री को लेकर चीन का अड़ंगा लगाना, आतंकी मुद्दों पर पाकिस्तान के साथ खड़ा होना शामिल हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट