विज्ञापन
Home » Personal Finance » Financial Planning » UpdateCBDT to industry says Do not misuse IT laws and tax rates already low

CBDT की कंपनियों को सलाह, IT कानूनों का न करें गलत इस्‍तेमाल

सीबीडीटी के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने आज कंपनियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि आईटी कानूनों का गलत इस्‍तेमाल न करें।

CBDT to industry says Do not misuse IT laws and tax rates already low
नई दिल्‍ली। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने आज कंपनियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि टैक्‍स से बचने के लिए आईटी कानूनों का गलत इस्‍तेमाल न करें। उन्‍होंने कहा कि पहले से ही कंपनियों को पहले से ही टैक्‍स में छूट मिल रही है। ऐसे में कंपनियों को अधिक जिम्मेदारी से काम करना चाहिए। तभी सैलरीड वर्ग के लोग टैक्‍स का भुगतान करेंगे और इसके अनुरूप सोसायटी बनाने में मदद मिलेगी।

नई दिल्‍ली। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने आज कंपनियों को कहा है कि टैक्‍स से बचने के लिए आईटी कानूनों का गलत इस्‍तेमाल न करें। उन्होंने कहा कि बड़ी कंपनियों के लिए प्रभावी टैक्‍स रेट विभिन्न छूटों के बाद पहले से ही 26 फीसदी है। ऐसे में कंपनियों को अधिक जिम्मेदारी से काम करना चाहिए। चंद्रा ने आगे कहा कि कंपनियां जिम्‍मेदार होंगी तो इसके अनुरूप सोसायटी बनाने में मदद मिलेगी। 

 

 
चंद्रा ने कहा, 'मैं कंपनियों से साफ तौर पर कहना चाहता हूं कि आईटी कानूनों का गलत इस्‍तेमाल करने की बजाए टैक्‍स भुगतान सही तरीके से करें। इससे खुद ब खुद टैक्‍स रेट्स में कमी आएगी। उन्‍होंने आगे कहा कि  हम सोसायटी को टैक्‍स  कम्प्लाइंट बनाने के लिए आपका साथ देने को तैयार हैं। समाज के वेतनभोगी वर्ग की तुलना में इंडस्ट्री (उद्योगों) को अधिक जिम्मेदारी मिली है
 
कॉरपोरेट टैक्‍स में कटौती 

1 फरवरी को पेश 2018 - 19 के आम बजट में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने उन बिजनेस (व्यवसायों) के लिए कार्पोरेट टैक्स की दर कम कर 25 फीसदी कर दी है जो कि पहले 30 फीसदी थी। इसका लाभ उन्हें मिलेगा जिनका टर्नओवर 250 करोड़ तक का है। बीते सालों के दौरान सरकार ने विभिन्न श्रेणियों की कंपनियों के लिए चरणबद्ध तरीके से टैक्‍स की दरों में कमी की घोषणा की थी और मौजूदा समय में करीब 7000 कंपनियों को 30 फीसदी का टैक्‍स देना पड़ता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन