बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateक्रेडि‍ट कार्ड के लि‍ए आया है कॉल तो समझ लें ये 6 बातें

क्रेडि‍ट कार्ड के लि‍ए आया है कॉल तो समझ लें ये 6 बातें

आपके पास अक्‍सर अलग-अलग बैंकों से फोन आते होंगे कि‍ सर अपना क्रेडि‍ट कार्ड बनवा लीजि‍ए।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. अक्‍सर आपके पास क्रेडि‍ट कार्ड के बनवाने के लि‍ए कॉल आता होगा। वह आपको तरह-तरह के ऑफर देकर कार्ड बनवाने की बात कहते हैं। ऐसे में अगर आपको क्रेडि‍ट कार्ड बनवाना है और इस दौरान आपके पास कि‍सी बैंक से कॉल आ जाए तो     आपको उससे क्‍या सवाल पूछने चाहि‍ए यह बताया बैंकबाजार डॉट कॉम के सीईओ आदि‍ल शेट्टी ने moneybhaskar को। ताकि‍ क्रेडि‍ट कार्ड बनवाने के बाद आपको कि‍सी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। 

 
ऑफर का प्रूफ मांगे 
 
अगर आप कि‍सी टेलीमार्केटिंग करने वाले से क्रेडि‍ट कार्ड बनवाने के लि‍ए बात कर रहे हैं तो सबसे पहले उन आॅफर्स पर ध्‍यान दें जो कि‍ वह आपको देने की बात कर रहा है। कई बार ग्राहक ऑफर को पूरी तरह से समझ नहीं पाते और कार्ड ले लेते हैं। जबकि‍ बाद में पता चलता है कि‍ जो ऑफर दि‍या गया है वह आपकी फाइनेंशि‍यल प्‍लानि‍ंग और लाइफस्‍टाइल से मेल ही नहीं खाता। इसके अलावा एक बात जो सबसे ज्‍यादा कही जाती है वह है कि‍ कार्ड पूरी तरह चार्ज फ्री है। यानी उसकी एन्‍युअल फीस जीरो है। अगर टेलीमार्केटिंग करने वाला शख्‍स यह बात कहता है तो उससे इसका प्रूफ जरूर मांगे और ऑफर की लि‍खि‍त कॉपी भी लें। क्‍योंकि‍ वो सि‍र्फ ऐसा कहकर आपको लालच देते हैं। जबकि‍ बाद में स्‍टेटमेंट के साथ चार्ज लगकर आता है। ऐसे में यह जरूरी है कि‍ आप ऑफर का प्रूफ लि‍खि‍त में मांगे। 
 
तय करें आप क्‍या खरीदना चाहते हैं  
 
आपको फोन करने वाले व्‍यक्‍ति‍ का एकमात्र उद्देश्य कार्ड बेचना है। ऐसे में आपको पता होना चाहिए कि वह क्या बेच रहा है और जो कार्ड वह बेच रहा है उसे खरीदने से आपको फायदा होगा कि‍ नहीं। उदाहरण के लिए, आप एक एयर माइल्‍स क्रेडि‍ट कार्ड लेना चाहते हैं क्‍योंकि‍ आप सफर करते हैं। लेकिन टेलीमार्केटि‍ंग के जरि‍ए आपको कार्ड बेचने वाला सख्‍श आपको एक लाइफस्टाइल कार्ड चुनने के लिए कह रहा है जि‍समें आपको शॉपि‍ंग और बाहर खाने पर छूट और रि‍वॉर्ड प्‍वाइंट मि‍लते हैं। ऐसे में इस कार्ड को लेने से आपको कोई फायदा नहीं होगा। 
 
जल्दी में न करें हस्‍ताक्षर 
 
आपसे बात करने के दौरान हो सकता है कि‍ बैंक की ओर से फोन करने वाला मार्केटर डॉक्‍युमेंट और साइन लेने के लि‍ए एजेंट को घर भेजने की बात कहे। लेकिन आपको जल्दबाजी में इससे सहमत नहीं होना चाहिए। क्‍योंकि‍ बैंक पहले आपकी क्रेडि‍ट हि‍स्‍ट्री चेक करता है। इसी को हार्ड इन्‍क्‍वायरी कहा जाता है। ऐसे में हर नई हार्ड इन्‍क्‍वायरी के बाद आपका क्रेडि‍ट स्‍काेेर कम होता जाता है। (लेकि‍न यह स्‍काेर फि‍र से बढ़ जाता है जब आप क्रेडि‍ट कार्ड के भुगतान समय पर करते हैं।) यह प्रक्रि‍या तब शुरू होती है जब आप क्रेडि‍ट कार्ड के आवेदन पर हस्‍ताक्षर कर देते हैं। ऐसे में जब आप तय कर लें कि‍ यह कार्ड आपके लि‍ए सही है तभी आवदेन करें। 
आगे पढ़ें : सालाना और रि‍न्‍युअल चार्ज की पूरी डि‍टेेेल चेक करें  
चेक करें सालाना और रि‍न्‍युअल चार्ज 
 
आपको ऑफर मि‍लेगा कि‍ क्रेडि‍ट कार्ड लाइफ टाइम फ्री है। इसका मतलब है कि‍ आपको कार्ड के लि‍ए कोई एक्‍स्‍ट्रा फीस नहीं देनी होती है। अक्‍सर ये चार्ज हाई एंड और प्रीमि‍यम कार्ड पर लगता है, जि‍नमें कई तरह के फीचर दि‍ए होते हैं। लेकि‍न कभी-कभी सालाना चार्ज में छूट दी जाती है। लेकि‍न अगर यह छूट लाइफटाइम है तो कार्ड लेने के पहले डबल चेक कर लें। 
 
ब्याज दर की जांच करें 
 
जब आप कि‍सी खरीदारी के बाद क्रेडि‍ट कार्ड से पेमेंट करते हैं तो आपके पास पैसे लौटाने के लि‍ए कुछ दि‍न का समय होता है, जि‍समें ब्‍याज नहीं लगता। लेकि‍न अगर आप तय समय में बैंक को पेमेंट नहीं करते तो इस पर भारी ब्‍याज लगता है। यह ब्‍याज 30 फीसदी सालाना हो सकता है। ऐसे में कार्ड लेने से पहले चेक करें कि‍ जो कार्ड आप ले रहे हैं उसमें ब्‍याज दर क्‍या है। 
आगे पढ़ें : चेक कर लें कहां-कहां लगती है पेनल्‍टी 
सभी पेनल्‍टी और चार्ज को चेक करें 
 
क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं तो लगने वाले जुर्माने और चार्ज पर अचंभित न हों। बल्‍कि‍ इन्‍हें समझने का प्रयास करें। उदाहरण के लिए :  
- अगर आप एटीएम से नकद निकालने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं तो आपको इस पर भारी ब्याज देना पड़ेगा। 
- अगर आप लि‍मि‍ट से ज्‍यादा खर्च करते हैं तो इस पर भी चार्ज लगेगा। 
- आप अपनी देनदारियों पर न्यूनतम भुगतान नहीं करते हैं तो इस पर भी चार्ज देना होगा। 
- यदि आप विदेश में कार्ड का उपयोग करते हैं, तो विदेशी मुद्रा शुल्क (Forex) चार्ज लगाया जा सकता है। 
 
ऐसे में इन सभी पेनल्‍टी और चार्ज के बारे में अच्‍छे से जानकारी ले लें। ऐसे में जब कार्ड लें तो इन सभी बारीकि‍यों पर आधा घंंटा लगे चाहे 1 घंटा सब समझकर ही कार्ड चूज करें। क्‍योंकि‍ आधा घंटा लेट कार्ड लेना आपको बाद में होने वाली कई परेशानियों से बचाएगा।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट