विज्ञापन
Home » Personal Finance » Financial PlanningPublic Provident Fund: Important Thing To Keep In Mind While Investing In PPF

PPF में करते हैं निवेश, तो समझ लें 5 का फंडा, 15 साल में मिलेंगे 3.6 लाख अतिरिक्त रुपए

अधिकतर लोग इसपर ध्यान नहीं देते हैं, जिसके चलते उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है

Public Provident Fund: Important Thing To Keep In Mind While Investing In PPF

Public Provident Fund: Know This simple rule to earn extra return of 3.6 lakh in ppf: अगर आप भी टैक्स बचाने या निवेश के लक्ष्य से PPF में निवेश करते हैं या करने की योजना बना रहे हैं तो आपके लिए 5 का फंडा जान लेना बेहद जरूरी है। इसके मुताबिक अगर आप महीने की पांच तरीख से पहले ही खाता खुलवाकर उसमें पैसे जमा कर देते हैं तो आप अधिक रिटर्न पा सकेंगे। दरअसल पीपीएफ के नियमों के मुताबिक पीपीएफ जमा पर ब्याज का कैलकुलेशन हर महीने की पांच तारीख और महीने की आखिरी तारीख के बीच न्यूनतम जमा पर किया जाता है।

नई दिल्ली.

अगर आप भी टैक्स बचाने या निवेश के लक्ष्य से PPF में निवेश करते हैं या करने की योजना बना रहे हैं तो आपके लिए 5 का फंडा जान लेना बेहद जरूरी है। इसके मुताबिक अगर आप महीने की पांच तरीख से पहले ही खाता खुलवाकर उसमें पैसे जमा कर देते हैं तो आप अधिक रिटर्न पा सकेंगे। दरअसल पीपीएफ के नियमों के मुताबिक पीपीएफ जमा पर ब्याज का कैलकुलेशन हर महीने की पांच तारीख और महीने की आखिरी तारीख के बीच न्यूनतम जमा पर किया जाता है।

 

 

15 साल में पा सकते हैं 3.6 लाख अतिरिक्त

अगर आप 15 साल के लिए हर साल 1.5 लाख रुपए पांच तारीख से पहले जमा करते हैं, तो आप पांच तारीख के बाद जमा करने वाले लोगों की अपेक्षा 3.6 लाख रुपए का अतिरिक्त रिटर्न पा सकेंगे। यानी जैसे-जैसे आप इंस्टॉलमेंट में देरी करते जाएंगे, वैसे-वैसे आपकी बढ़िया रिटर्न पाने की संभावनाएं कम होती जाएंगी। हालांकि यह अधिक निवेश आपको तभी मिलेगा जब आप एकमुश्त रकम का निवेश करेंगे। यानी महीने की शुरुआत में ही 1.5 लाख रुपए जमा कराएंगे।

 

यह भी पढ़े- दस साल के इंतजार के बाद मोदी सरकार में फाइनल हुई यह बड़ी डील, 16.4 हजार करोड़ में तय हुआ सौदा

 

ऐसे होगा आपको अतिरिक्त फायदा

इसे इस तरह आसानी से समझा जा सकता है। माना, आप अपने पीपीएफ अकाउंट में 5 अप्रैल से पहले 1.5 लाख रुपए की एकमुश्त रकम जमा करते हैं। 29 मार्च, 2019 को जारी सरकारी अधिसूचना के मुताबिक, अप्रैल से जून 2019 की तिमाही में पीपीएफ पर आठ फीसदी की सालाना ब्याज दर निर्धारित की गई है। अप्रैल महीने के लिए इंट्रेस्ट का कैलकुलेशन पांच अप्रैल तथा 30 अप्रैल के बीच खाते में जमा न्यूनतम रकम के आधार पर किया जाएगा। इस तरह, अगर आपने 5 अप्रैल से पहले अपने पीपीएफ अकाउंट में 1.5 रुपए की रकम जमा की है और इस वर्ष और कोई जमा नहीं किया है, तो इंट्रेस्ट का कैलकुलेशन इस तरह होगा। (1,50,000*8%)/12=1,000 रुपए

 

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections 2019: भाजपा ने 4 लाख तक के किराए पर लिए 20 हेलीकॉप्टर्स और 12 जेट

 

 

मिलेगा अधिक इंटरेस्ट

इसलिए अप्रैल महीने में आपको आपके पीपीएफ अकाउंट पर 1,000 रुपए का इंट्रेस्ट मिलेगा। इतनी ही राशि का इंट्रेस्ट आपको मई तथा जून के महीने में भी मिलेगा, क्योंकि साल की एक तिमाही के लिए ब्याज दर समान रहती है। वहीं दूसरी तरफ, अगर एकमुश्त रकम 5 अप्रैल के बाद जमा की जाती है, तो आपको अप्रैल महीने का ब्याज नहीं मिल पाएगा।

 

यह भी पढ़ें- 50 हजार लगाकर सालाना कमा सकते हैं 5 लाख रुपए तक, इस प्रोडक्ट की है देश-दुनिया में तगड़ी डिमांड 

 

ऐसे होता है आपको फायदा 

पीपीएफ में लॉक-इन पीरियड 15 साल का होता है, ऐसे में अगर आप अतिरिक्त ब्याज को जोड़ेंगे तो यह बड़ी रकम बन जाएगी। अधिकतर लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं और उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है। दरअसल जितने लंबे समय के लिए रकम को अकाउंट में रखा जाता है, उसपर उतना ही कंपाउंडिंग इंटरेस्ट लगता जाता है, जिससे रकम बढ़ती चली जाती है। 

 

यह भी पढ़ें- अब iPhone 7 होगा Made in India, बेंगलुरु में शुरू हुई मैन्युफैक्चरिंग

 

होगी 3.6 लाख रुपए की अतिरिक्त आमदनी

मान लीजिए अगर पीपीएफ अकाउंट पर पूरे 15 साल के दौरान आठ फीसदी इंट्रेस्ट मिलता है। अगर कोई व्यक्ति वित्त वर्ष शुरू होने से पहले (5 अप्रैल से पहले) अपने पीपीएफ खाते में 1.5 लाख रुपए जमा करता है, तो वह उनसे 3.6 लाख रुपए अधिक कमाएगा, जो वित्त वर्ष के अंत में रकम जमा करते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Recommendation
विज्ञापन
विज्ञापन