Advertisement
Home » Personal Finance » Financial Planning » Step To Step GuideAll You Need To Know About Post Office Savings Account

पोस्ट ऑफिस में मात्र 20 रुपए में खुल जाता है सेविंग्स अकाउंट, यहां जानिए इसके फायदे

निवेश करने के लिए पोस्ट ऑफिस बेहद अच्छा विकल्प है

1 of

नई दिल्ली.

अगर आप अपने लिए इंवेस्टमेंट स्कीम ढूंढ रहे हैं तो आपके लिए पोस्ट ऑफिस में निवेश करना बढ़िया ऑप्शन हो सकता है। पोस्ट ऑफिस अपने निवेशकों को कई तरह के डिपॉजिट ऑफर करता है। इन्हें स्मॉल सेविंग स्कीम्स कहा जाता है। इन स्कीम्स पर सरकारी गारंटी मिलती है, जिसका मतलब यह हुआ कि आपका पैसा कभी नहीं डूबेगा। इनमें से कई स्कीम्स ऐसी हैं जिनमें आयकर ऐक्ट के सेक्शन 80 सी के तहत टैक्स छूट का फायदा भी उठाया जा सकता है। सरकार इन सभी स्कीम्स के ब्याज दर की समीक्षा हर तीन महीने में करती है और नए सिरे से नई दरें तय करती है। इसी के तहत रेगुलर सेविंग अकाउंट की सुविधा मिलती है। इंडिया पोस्ट इस खाते में जमा राशि पर 4 फीसद की सालाना दर से ब्याज देता है।

 

10 हजार रुपए तक अर्जित ब्याज पर कोई टैक्स नहीं

इस खाते की सबसे खास बात यह है कि इसमें जमा राशि पर मिलने वाला 10,000 रुपए सालाना तक का ब्याज टैक्स फ्री होता है। इस सेविंग अकाउंट को आप मात्र 20 रुपए में खुलवा सकते हैं। पोस्ट ऑफिस की सभी सेविंग स्कीम्स के बारे में आप India Post की वेबसाइट से जानकारी ले सकते हैं।

 

 

इस खाते से जुड़ी अन्य अहम बातें

-पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट को सिर्फ नकदी के माध्यम से खोला जा सकता है। इसमें चेक की सुविधा तभी दी जाती है जब खाता 500 रुपए के साथ खुलवाया गया हो, साथ ही इसमें 500 रुपए का न्यूनतम बैलेंस रखना जरूरी है।

-बिना चेक सुविधा के इस खाते को चालू रखने के लिए 50 रुपए का न्यूनतम बैलेंस मेंटेन करना जरूरी है।

-इस खाते में खाता खुलवाने के समय और खाता खुलवाने के बाद नॉमिनेशन की सुविधा दी जाती है।

-सेविंग अकाउंट को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर करवाया जा सकता है।

-एक पोस्ट ऑफिस में एक बार में एक ही खाता खुलवाया जा सकता है।

-पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट को नाबालिग के नाम पर खुलवाया जा सकता है। अगर नाबालिग 10 वर्ष या उससे ऊपर की उम्र का है तो दोनों ही खाते को खुलवा और उसके संचालित कर सकते हैं। बालिग हो जाने पर उसे यह खाता अपने नाम पर करवाना होता है।

-इस खाते को साझा रुप से दो या तीन वयस्कों की ओर से खोला जा सकता है।

-इसमें बड़ी आसानी से आप सिंगल अकाउंट को ज्वाइंट अकाउंट में और ज्वाइंट अकाउंट को सिंगल अकाउंट में बदलवा सकते हैं।

-खाते को एक्टिव रखने के लिए तीन वित्त वर्ष के दौरान इसमें एक बार रुपए जमा कराना और एक बार रुपए निकालना जरूरी है।

-निकासी और जमा की सुविधा कोर बैंकिंग पोस्ट ऑफिसेज में इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से मिलती है। इसमें एटीएम की सुविधा भी दी जाती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement