विज्ञापन
Home » Personal Finance » Financial Planning » Step To Step GuideFollow these tips to make big money from investment

पैसा बनाने का देखते हैं सपना, तो करें ये पांच काम, इस साल के अंत तक लग जाएगा पैसों का ढेर

धन बनाने की प्रक्रिया में समय, सब्र और धैर्य बहुत ही जरूरी है

1 of

नई दिल्ली.

हर आदमी धन बनाना चाहता है। लेकिन इसे बनाने की एक प्रक्रिया होती है। निवेशक यदि पैसा कमाना चाहता है तो उसे सब्र करना होगा। अपने निवेश के प्रतिलाभ के लिए धैर्य रखना होगा। क्योंकि धन बनाने की प्रक्रिया में समयए सब्र और धैर्य बहुत ही जरूरी है। ये साल यानी 2019 चुनावी साल है। इसके पहले छह महीने में चुनावी माहौल जोर पकड़ेगा। चारों तरफ अस्थिरता रहेगी। ये पहली बार नहीं हैं। ऐतिहासिक आंकड़ें बताते हैं कि जब भी चुनावी वातावरण बने हैं निवेश और बाजार में अनिश्चितितता छाई है। ऐसे में निवेशकों को बाजार चाहे स्थिर हो या अस्थिर एकदम अनुशासित तरीके से निवेश करना चाहिए। निवेश के सही माध्यम और असेट का चुनाव करना चाहिए।

 

अलग-अलग पोर्टफोलियो में करें निवेश

निवेशकों को एक सही एवं अच्छी तरह से विविधतापूर्ण वाले पोर्टफोलियो को देखना चाहिए। ऐसे पोर्टफोलियो में निवेश करने से नुकसान वाले असेट को बैलेंस करने में मदद मिलती है। सभी जानते हैं कि कोई भी असेट क्लास हर साल लगातार बढ़िया प्रदर्शन नहीं करता है। इसलिए यह जरुरी है कि निवेशकों को अपने निवेश सतत प्रतिलाभ पाने के लिए अलग-अलग पोर्टफोलियों में निवेश करना चाहिए। धन बनाने के लिए एक ही जगह सारे पैसे नहीं डालना चाहिए। हर निवेश की अपनी एक राह होती है और निवेशकों को इस राह पर चलकर पैसा बनाने के लिए लक्ष्यों और उद्देश्यों को निर्धारित करना होगा कि उसे अपने निवेश से कितना पैसा चाहिए। निवेश करते समय एक लक्ष्य बनाएं कि आपको क्या कार खरीदनी है या बच्चे की शिक्षा को देखना है। प्राॅपर्टी खरीदनी है या धन बनाना है। यहां आपके हर लक्ष्य के लिए एक अलग पोर्टफोलियो बनेगा।

 

 

अपने पोर्टफोलियों को करें नियमित रूप से रिबैलेंस

हम हमेशा निवेशकों को बताते हैं कि वे अपने पोर्टफोलियो को नियमित आधार पर (वर्ष में कम से कम एक बार) रिबैलेंस करें ताकि व्यक्तिगत लक्ष्य और उद्देश्य पूरे हों। ये रिबैलेंस या रिलोकेशन एक महत्वपूर्ण कवायद है जिसमें निवेशकों की बदलती व्यक्तिगत परिस्थितियों में उत्पन्न जोखिमों को फिर से निर्धारित की जाती है।

 

अपने निवेश को ऐसे बांटे

यदि कोई निवेशक 2019 में कम से कम 3 से 5 साल के लिए निवेश करना चाहता है तो उसे विभिन्न असेट क्लास में निवेश की नीति पर काम करना चाहिए। उसे अपने निवेश का 20 प्रतिशत भाग ऐसे इक्विटी में डालना चाहिए जो मिड और स्मॉल कैप वाले शेयर हों और 40 प्रतिशत निवेश बड़े कैप वाले शेयरों में होना चाहिए। इसके अलावाए 40 प्रतिशत भाग डेट यानी ऋण पत्रों में निवेश किया जाना चाहिए जैसे बॉन्ड्स और एनसीडी। इनमें निवेश करने से एक तो विविधता एवं स्थिरता रहती है और जोखिम भी नगण्य होता है।

बैंकों और इंफ्रास्ट्रक्चर फंड में करें निवेश

अगर हम इस साल सेक्टर के अनुसार ग्रोथ को देखें तो आने वाले समय में हमें लगता है कि बैंक और कैपिटल गुड्स में निवेश बेहतर हो सकते हैं औऱ इसे प्राथमिकता दे सकते हैं। इस साल की दूसरी छमाही में हमें लगता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में क्षमता निर्माण प्रक्रिया में मजबूत वृद्धि होगी। बैंकों के बैलेंस शीट दुरुस्त हो जाएंगे और बैकों के एनबीएफसी में प्रवेश करने से क्रेडिट ग्रोथ मजबूत हो सकती है। पैसा कमाने की चाह रखने वाले निवेशक बैंकों और इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड को देख सकते हैं और इसमें अपने कुल निवेश का तकरीबन 10 प्रतिशत भाग अवश्य निवेश करना चाहिए।

 

अपने लिए रखें एक फाइनेंशियल डॉक्टर

निवेशकों को खुद निर्णय करना चाहिए कि वे कितना जोखिम उठा सकते हैं और उनकी क्षमता कितनी है जोखिम उठाने की। इसलिए बेहतर होगा कि हर निवेशक अपने निवेश के लिए एक फाइनेंशियल डॉक्टर जैसे एक वैल्थ मैनेजर बनाए जो आपको सुझाव दे कि आपको अपने निवेश के लिए क्या करना चाहिए जैसे डॉक्टर आपके स्वास्थ्य के लिए दवा खरीदने के लिए सलाह देते हैं।वैल्थ मैनेजर भी आपका फाइनेंशियल डॉक्टर है जो आपको विभिन्न निवेश उत्पादों और असेट क्लासेस को आपके सामने रखेगा और तब आपको एक मेव निर्णय लेना होगा कि आपके लक्ष्य को पाने के लिए कौन सा निवेश विकल्प सही और उचित है। निवेशकों को खास ध्यान देना चाहिए कि आगे चुनाव को लेकर अनेक तरह के माहौल बनेंगे। ऐसे में उन्हें अपने निवेश को अस्थिरता से बचाने के लिए SIP (सिस्टैमेटिक इवेंस्टमेंट प्लान) का मार्ग अपनाना चाहिए और धीरे-धीरे निवेश करना चाहिए।

 

-मोहित पोद्दार, असोसिएट डायरेक्टर, वेल्थ मैनेजमेंट, इंडियानिवेश (IndiaNivesh)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन