विज्ञापन
Home » Money Making TipsNPS National Pension System account opening process step by step

रिटायरमेंट / करते हैं प्राइवेट नौकरी, तो NPS अकाउंट से होगा पेंशन का इंतजाम, खुलवाने का यह है प्रॉसेस

ऑनलाइन खुल जाता है एनपीएस अकाउंट

1 of

 
नई दिल्ली.
आप प्राइवेट नौकरी करते हैं या अपना बिजनेस करते हैं तो भी आप सरकारी कर्मचारियों की तरह पेंशन पा सकते हैं। इसके लिए आपको न्यू पेंशन सिस्‍टम यानी NPS अकाउंट खुलवाना होगा। 18 साल या उससे ज्यादा उम्र का कोई भी व्‍यक्ति NPS अकाउंट खुलवा सकता है। NPS अकाउंट खुलवाने के लिए अधिकतम उम्र 65 साल है।

ऑनलाइन भी खुलवा सकते हैं यह अकाउंट

नेशनल पेंशन सिस्‍टम (NPS) का अकाउंट आप ऑनलाइन भी खुलवा सकते हैं। एनपीएस के ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर जाकर टियर 1 और टियर 2 अकाउंट खुलवाया जा सकता है। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म eNPS पोर्टल से यूजर एनपीएस अकाउंट में नेट बैंकिंग और डेबिट/क्रेडिट कार्ड के जरिए योगदान कर सकते हैं। एनपीएस सरकार की तरफ से प्रायोजित रिटायरमेंट के लिए पैसे बचाने का एक साधन है, जिसका नियमन पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) करता है।

यह भी पढ़ें-FD से 5 गुना तेज बढ़ सकता है आपका पैसा, ICICI बैंक में है मौका

ईएनपीएस से एनपीएस अकाउंट खुलवाने का यह है प्रॉसेस

-अकाउंट खोलने के लिए यूजर के पास मोबाइल नंबर, ई-मेल और नेट बैंकिंग की सुविधा के साथ बैंक अकाउंट होना चाहिए।
-ईएनपीएस पोर्टल के अनुसार, एनपीएस अकाउंट खोलने के लिए आवेदक को पैन कार्ड की जानकारी देना जरूरी है।
-आवेदक को एनपीएस अकाउंट शुरू करने के लिए या मौजूदा एनपीएस अकाउंट को ऑनलाइन चलाने के लिए पीआरएएन को एक्टिवेट करना जरूरी है।
-यूजर को सबसे पहले ईएनपीएस पोर्टल के नेशनल पेंशन सिस्टम सेक्शन पर जाना होगा।
-ईएनपीएस पोर्टल रजिस्ट्रेशन और राशि जमा करने का ऑप्शन देता है, इसके साथ एनपीएस सेक्शन के तहत टियर 2 अकाउंट को एक्टिवेट भी करता है।
-एप्लीकेशन को पूरा करने के लिए यूजर को सभी जरूरी जानकारियों को भरना होगा और दिए गए दो ऑप्शन में से एक टियर 1 और टियर 2 अकाउंट और टियर 1 अकाउंट का चयन करना होगा।
-जरूरी जानकारी दर्ज करने के बाद यूजर को अपने हस्‍ताक्षर की फोटो के साथ स्कैन की गई अपनी तस्‍वीर भी अपलोड करनी होगी।

यह भी पढ़ें-वैलिड प्रूफ के बिना भी आधार में अपडेट हो जाएगा एड्रेस, समझें ऑनलाइन प्रॉसेस

 

 

 

ऐसा होगा पेमेंट

यह स्टेज पूरी होने के बाद यूजर को एनपीएस अकाउंट में भुगतान करने के लिए गेटवे पर जाना होगा। ईएनपीएस पोर्टल के अनुसार, परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर (PRAN) मिलने के बाद ग्राहक को 30 दिन के अंदर पूरा फॉर्म सेंट्रल रिकॉर्डकीपिंग एजेंसी (CRA) को भेजना होता है। अगर तय समय में ऐसा नहीं किया जाता है तो पहचान संख्या जमा नहीं की जाती है।

 

 

KYC के लिए जरूरी दस्तावेज

पीआरएएन के एक्टिवेशन के लिए केवाईसी की जरूरत पड़ती है जो कि पीओपी के जरिए होती है। इसके लिए आवेदक का नाम और पता पीओपी रिकॉर्ड में दर्ज नाम और पते से मैच करना चाहिए। ये पूरी जानकारी ईएनपीएस पोर्टल पर उपलब्ध है।
केवाईसी प्रक्रिया बैंक या पीओपी के जरिए की जाती है। इनमें से जिसका चुनाव प्रक्रिया के दौरान आवेदक की ओर से किया जाता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन