Home » Money Making Tipsfinancial planing in 30

30 की उम्र से पहले जरूर करें ये 9 फैसले, नौकरी से लेकर बैंक बैलेंस में होगा फायदा

कैरियर को लेकर करें सही फैसला

1 of

नई दिल्ली। अगर आपकी उम्र 30 को पार करने वाली है तो यह आपके लिए सतर्क होने का समय है। 30 की उम्र के बाद आपकी लाइफ का नया फेज शुरू होता है। ज्यादातर लोगों की 30 की उम्र तक शादी हो चुकी होती है या शादी होने वाली होती है। ऐसे में आज हम आपको ऐसे 9 अहम वित्तीय फैसलों के बारे में बता रहे हैं जो आपको 30 की उम्र से पहले जरूर कर लेने चाहिए। इससे आपको कैरियर से लेकर बैंक बैलेंस के के मोर्चे पर फायदा होगा। 

 

1- समझ लें कंपाउंडिंग का फायदा 

 

फाइनेंस की दुनिया में कंपाउंडिंग बेहद पावरफुल शब्द है। जब आप निवेश करते हैं तो आपके निवेश पर जो रिटर्न मिलता है वह आपके प्रिंसिपल अमाउंट में जुड़ जाता है और अगले साल इस पूरी राशि पर आपको रिटर्न मिलता है। निवेश का समय बढ़ने के साथ ही कंपाउंडिंग का फायदा बढ़ता जाता है। इसे आप एक उदाहरण से समझ सकते हैं। समीर ने 25 साल की उम्र में 10,000 रुपए सालाना निवेश करना शुरू किया और 35 साल की उम्र तक निवेश करता रहा। इसके बाद उसने निवेश बंद कर दिया लेकिन पैसा नहीं निकाला। वहीं राजेश ने 35 साल की उम्र में हर साल 10,000 रुपए निवेश करना शुरू किया और 65 साल की उम्र तक निवेश करता रहा। 

 

समीर को राजेश की तुलना में मिला 2.5 गुना ज्यादा पैसा 

 

चौंकने की जरूरत नहीं है। समीर को राजेश की तुलना में लगभग 2.5 गुना ज्यादा पैसा मिला। 65 साल की उम्र में समीर को लगभग 1.28 करोड़ रुपया मिला वहीं राजेश को सिर्फ 46.5 लाख रुपया मिला। ऐसा कंपाउंडिंग के कारण हुआ। समीर ने निवेश जल्द शुरू किया। ऐसे में उसका फंड तेजी से बढ़ता गया और निवेश बंद करने के बाद भी उसको कंपाउंडिंग का ज्यादा फायदा मिला। वहीं राजेश ने देर से निवेश शुरू किया और ज्यादा समय तक निवेश किया फिर भी उसको कंपाउंडिंग का उतना फायदा नहीं मिल पाया। ऐसे में आपको अभी से निवेश शुरू करना चाहिए। चाहे आप सालाना 10,000 रुपए निवेश शुरू करें। आपको कंपाउंडिंग का ज्यादा फायदा मिलेगा।

 

2-घर खरीदना है या रेंट पर रहना है

 

हम लोगों में से अधिकतर लोग चाहते हैं कि उनका अपना घर हो। आपको यह सवाल खुद से पूछना चाहिए कि आपको घर खरीदने की जरूरत है या आप किराए पर रहना चाहते हैं। घर खरीदने और रेंट पर रहने दोनों विकल्पों के अपने फायदे और नुकसान हैं। आपको दोनों विकल्पों पर विचार करने के बाद कोई फैसला करना चाहिए। अगर आप होम लोन के जरिए घर खरीद रहें तो आपको अपनी फाइनेंसियल प्लानिंग पर भी ध्यान देना होगा कि आप होम लोन की ईएमआई चुकाने के बाद भविष्य के लिए जरूरी सेविंग कर पाएंगे या नहीं। 

 

3- खरीदें इन्श्योरेंस कवर 

 

मौजूदा समय में इन्श्योरेंस कवर लेना बहुत जरूरी है। चाहे टर्म प्लान हो या हेल्थ इन्श्योरेंस प्लान। यह दोनों कवर आपके लिए बेहद जरूरी हैं। इन दोनों कवर के बिना आपकी सेविंग का कोई मतलब नहीं है। टर्म प्लान किसी अनहोनी की सूरत में आपके परिवार को वित्तीय सुरक्षा देगा वहीं हेल्थ इन्श्योरेंस आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य के बीमार होने पर मेडिकल खर्च से बचाएगा। 

 

आगे पढें-

4- बनाएं इमरजेंसी फंड 

 

आपको 30 साल की उम्र से पहले इमरजेंसी फंड जरूर बनाना चाहिए। इसके लिए आप 6 माह से 1 साल तक के खर्च के बराबर रकम सेविंग अकाउंट या दूसरे निवेश के विकल्पों में जमा करनी चाहिए। जहां से आप जरूरत पड़ने पर इसे तुरंत निकाल सके। याद रखें आपको इमरजेंसी फंड का पैसा तभी खर्च करना चाहिए जब आपको इसकी बहुत ज्यादा जरूरत हो। इससे आप जो पैसा भविष्य के लिए बचा रहे हैं वह बचा रहेगा। 

 

5- कैरियर को लेकर करें सही फैसला 

 

आम तौर पर लोग 30 की उम्र के होने तक कई नौकरियां बदल चुके होते हैं। अगर आप कैरियर के मोर्चे पर सेटल नहीं हुए है तो आपको कैरियर को लेकर सोच समझ कर फैसला करना चाहिए। कई बार लोग सोचते हैं कि वो नौकरी छोड़ कर अपना खुद को बिजनेस शुरू कर सकते हैं। लेकिन आपको इस बारे में सोच समझ कर फैसला करना चाहिए क्योंकि बिजनेस शुरू करना और बिजनेस सफल होना दोनों अलग अलग बाते हैं। अगर जोखिम लेना चाहते हैं तो आपको पर्याप्त सेविंग करनी चाहिए जिससे आप किसी भी असफलता का सामना कर सकें। 

 

6- खुद पर करें निवेश 

 

ज्यादा पैसा कमाने का दो तरीका है। एक 30 की उम्र तक जितना ज्यादा हो सके उतना बचत करें। दूसरा अपनी इनकम बढ़ाएं। अपनी इनकम बढ़ाना ज्यादा आसान है। क्योंकि आप एक हद तक पैसा बचा सकते हैं। अपनी इनकम बढ़ाने के लिए खुद पर निवेश करें। आपको कोई नई स्किल सीखनी चाहिए जिससे आपको अपनी मौजूदा नौकरी में प्रमोशन मिल सके।

7-रिटायरमेंट के लिए करें प्लानिंग 

 

ज्यादातर लोग समय पर रिटायरमेंट की प्लानिंग नहीं करते हैं। बाद में उनको इसका नुकसान उठाना पड़ता है। या तो यह जान नहीं पाते हैं कि रिटायरमेंट के लिए उनको कितना पैसा  बचाना चाहिए या वे जब से सेविंग शुरू करते हैं तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि आप रिटायरमेंट के लिए 30 की उम्र से पहले प्लानिंग शुरू करें और हर माह एक तय रकम रिटायरमेंट के बाद की जरूरतों के लिए निवेश करें। 

 

8-कर्ज खत्म करें

 

आपको 30 की उम्र से पहले यह कोशिश करनी चाहिए कि आप पर कोई कर्ज न हो। अगर ऐसा संभव नहीं है तो उसे कम से कम करने का जरूर प्रयास करना चाहिए। हर कर्ज बुरा नहीं होता है। लेकिन लोन लेकर महंगा मोबाइल या विलासिता की जरूरतें पूरी करना अच्छा नहीं होता है। भविष्य में आप होम लोन या दूसरा ऐसा कोई लोन लेते हैं जो प्रॉपर्टी क्रिएट करने में आपकी मदद करता है तो कर्ज मुक्त रहने से आपको उस लोन की ईएमआई चुकाने में आसानी होगी। 

9-बच्चों की एजुकेशन और शादी के लिए करें प्लानिंग 

अगर आपकी शादी हो गई है और आप की उम्र 30 के आसपास है तो आपको बच्चों की एजुकेशन और शादी के लिए प्लानिंग जरूर करना चाहिए। एजुकेशल की लागत जिस तरह से बढ़ रही है। आपको बच्चे का एडमीशन कराने के लिए ही लाखों रुपए देने पड़ सकते हैं। 20 साल बाद एक अच्छे बिजनेस स्कूल से एमबीए करने पर 50 लाख रुपए से अधिक का खर्च आ सकता है। ऐसे में आपको बच्चे के नाम पर एक एसआईपी जल्द से जल्द शुरू कर देनी चाहिए जिससे आप उसके लिए 10 15 साल में एजुकेशन फंड बना सके जो उसकी हायर एजुकेशन पर आने वाले खर्च को पूरा कर सके। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट