विज्ञापन
Home » Money Making TipsIncome Tax : Investment options for you to save tax

टैक्स बचाने के लिए कर लें ये काम, इस महीने नहीं कटेगी सैलरी 

इन तरीकों से बचा सकते हैं अपनी खून पसीने की कमाई 

Income Tax : Investment options for you to save tax

नई दिल्‍ली। अगर आप किसी कंपनी में जॉब करते हैं और आपको कंपनी की ओर से बताया गया है कि इस महीने आपकी सैलरी (Salary) कट सकती है, क्योंकि आपने इनकम टैक्स (Income Tax) को बचाने से संबंधित डॉक्यूमेंट नहीं दिए हैं तो घबराइए नहीं, आप अब भी ऐसे तरीके अपना सकते हैं, जिससे आप टैक्स देने से बच सकते हैं। आज हम आपको ऐसे ही तरीकों के बारे में बताएंगे। 

यहां करें इन्वेस्ट 
इनकम टैक्‍स एक्‍ट के तहत टैक्‍स छूट पाने का पापुलर तरीका है कि आप लाइफ इन्‍श्‍योरेंस का प्रीमियम जमा कर, ईएलएसएस म्‍यूचुअल फंड, ईपीएफ कंट्रीब्‍यूशन, एन्‍युटी प्‍लान के प्रीमियम पेमेंट, पोस्‍ट ऑफिस स्‍माल सेविंग स्‍कीम्‍स में निवेश और होम लोन के प्रिंसिपल अमाउंट का रिपेमेंट कर टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। इसके अलावा 5 साल की बैंक एफडी और पब्लिक प्रॉविडेंट फंड में निवेश कर आप टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। सेक्‍शन 80 सी के तहत आप अधिकतम 1.5 लाख रुपए निवेश कर टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। 

ये इंश्योरेंस प्लान आएंगे काम 
सेक्‍शन 80 डी के तहत आप सेक्‍शन 80 सी पर मिलने वाली टैक्‍स छूट के अतिरिक्‍त आप अपने लिए, पत्‍नी, बच्‍चों और पैरेंट्स के लिए 25,000 रुपए तक का हेल्‍थ इन्‍श्योरेंस प्रीमियम भुगतान कर टैक्‍स छूट पा सकते हैं। अगर आपके पैरेंट्स सीनियर सिटीजन हैं और आप उनके लिए हेल्‍थ इन्‍श्‍योरेंस प्रीमियम का भुगतान कर रहे हैं तो आप 30,000 रुपए तक के प्रीमियम पर टैक्‍स छूट पा सकते हैं। यहां तक कि अगर आपके पैरेंट्स आर्थिक रूप से आत्‍मनिर्भर हैं तब भी आप सेक्‍शन 80 डी के तहत टैक्‍स छूट पा सकते हैं। 

ऐसे भी पा सकते हैं छूट  
अगर आपके परिवार का कोई सदस्‍य दिव्‍यांग है जो आर्थिक तौर पर आप पर निर्भर है तो सेक्‍शन 80 डीडी के तहत टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। टैक्‍स छूट की राशि विकलांगता के स्‍तर पर निर्भर करेगी। 40 से 80 फीसदी विकलांगता के लिए आप 75,000 रुपए तक टैक्‍स छूट पा सकते हैं वहीं 80 फीसदी से अधिक विकलांगता के लिए आप 1.25 लाख रुपए तक टैक्‍स छूट मिल सकती है। विकलांगता का स्‍तर तय करने के लिए किसी मेडिकल प्रैक्टिसर द्वारा जारी किया गया विकलांगता प्रमाण पत्र फाइनल अथॉरिटी होगा।

ऐसे भी ले सकते हैं छूट  
अगर आपका कोई रिश्‍तेदार जो आप पर निर्भर हो गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो आप आप सेक्‍शन 80 डीडीबी के तहत 40,000 रुपए तक पर टैक्‍स छूट पा सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि बीमारी इनकम टैक्‍स एक्‍ट के रूल 11डी में दी गई बीमारी में से एक होनी चाहिए। अगर आप सीनियर सिटीजन है तो आप को 60,000 रुपए तक टैक्‍स छूट मिल सकती है और अगर किसी की उम्र 80 साल से अधिक है तो उसे 80,000 रुपए तक की टैक्‍स छूट मिल सकता है। सेक्‍शन 80 डीडीबी के तहत टैक्‍स छूट पाने के लिए आपको हॉस्पिटल या मेडिकल स्‍पेशलिस्‍ट से बीमारी का सर्टिफिकेट देना होगा।

बच्चों के लिए किया है यह काम तो ...
अगर आपने खुद के लिए या बच्‍चों के लिए एजुकेशन लोन लिया है तो आप इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 80 ई के तहत टैक्‍स छूट पा सकते हैं। लोन के रिपेमेंट पर जो ब्‍याज आप चुकाएंगे उस पर आप टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। आप जब से एजुकेशन लोन का रिपेमेंट शुरू करते हैं उसके बाद 8 साल तक आप टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। 

अगर किया है दान तो ...
अगर आप दान के तौर पर किसी संगठन को पैसा देते हैं जो टैक्‍स छूट का हकदार है तो आप इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 80 जी के तहत टैक्‍स छूट ले सकते हैं। आप इस तरह से 50 फीसदी या 100 फीसदी टैक्‍स छूट पा सकते हैं। यह चैरिटेबल ऑर्गनाइजेशन पर निर्भर करेगा। अगर आप 2,000 रुपए से अधिक कैश में डोनेशन देते हैं तो आप को टैक्‍स छूट नहीं मिलेगी।

 ये अलाउंस आएंगे काम 
सैलरी क्‍लास के लोग सेक्‍शन 10 14 (आई) के तहत आने वाले सभी टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। जैसे आपके इम्‍पलायर द्वारा दिए जाने वाले यूनीफॉर्म अलाउंस, हेल्‍थ क्‍लब अलाउंस, टेलीफोन अलाउंस, टेलीफोन और इंटरनेट अलाउंस, मील बाउचर, प्रोफेशनल जरूरतों के लिए अलाउंस, कार लीज और रीइम्‍बर्समेंट अमाउंटस आदि। इनमें से ज्‍यादतर अलाउंस सेक्‍शन 10 14 (आई) के तहत आते हैं।  

ऐसे भी मिलती है छूट 
- जब आप लोन लेते हैं तो ऐसा नहीं है कि सिफ रिपेमेंट पर ही आप टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। आप बैंक को जो लोन प्रोसेसिंग फीस का भुगतान कर सकत हैं आप सेक्‍शन 2 (28 ए) के तहत टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। 
 - किसी भी लोन पर 2 लाख रुपए तक के इंटरेस्‍ट पेमेंट पर आप सेक्‍शन 24 के तहत टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। होल लोन के लिए प्रिंसिपल अमाउंट पर टैक्‍स सेविंग के अलावा आप सेक्‍शन 24 के तहत टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। 
- आप अपनी सैलरी का 10 फीसदी तक न्‍यू पेंशन सिस्‍टम यानी एनपीएस में निवेश कर 80 सीसीडी के तहत 50, 000 रुपए टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। यह 80 सी के तहत 1.5 लाख रुपए तक मिलने वाली टैक्‍स छूट के अतिरिक्‍त है। 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन