Home » Money Making Tipsincome tax notice to people carried suspected transaction during notebandi

इनकम टैक्स विभाग ने 10,000 लोगों को जारी किया नोटिस, अकाउंट में जमा कराया है इनकम से ज्यादा पैसा

दूसरों के अकाउंट में पैसा जमा कराने वाले भी आएंगे बेनामी कानून के दायरे में

1 of

नई दिल्ली। इनकम टैक्स विभाग ने 10,000 से अधिक लोगों को बेनामी कानून के तहत नोटिस जारी किया है। इन लोगों को यह नोटिस नोटबंदी के दौरान उनकी इनकम की तुलना में अधिक पैसा बैंक अकाउंट में जमा कराने को लेकर जारी किया गया है। सूत्रों के मुताबिक इनकम टैक्स विभाग आने वाले समय में इस सिलसिले में और अधिक लोगों को  नोटिस जारी कर सकता है। 

 

बैंकों में जमा कराया बड़ा अमाउंट 

 

इनकम टैक्स विभाग से जुड़े सूत्रों के मुताबिक नोटबंदी के दौरान बड़े पैमाने पर लोगों ने अपने बैंक अकाउंट में कैश जमा कराया था। यह पैसा बैंकिंग सिस्टम में जरूरत आया है लेकिन शुरुआती जांच में पता चला है कि अकाउंट होल्डर्स ने अपनी इनकम के स्रोत से अधिक पैसा बैंक अकाउंट में जमा कराया है। अगर अकाउंट होल्डर्स जांच में यह साबित नहीं कर पाते हैं कि यह पैसा उनकी इनकम का है तो उनके खिलाफ बेनामी कानून के तहत एक्शन हो सकता है। बेनामी कानून के तहत 7 साल की सजा का प्रावधान है। 

 

आगे पढ़ें,

दूसरों के अकाउंट में पैसा जमा कराने वाले भी आएंगे बेनामी कानून के दायरे में 

 

नोटबंदी के दौरान लोगों ने दूसरों के बैंक अकाउंट में भी पैसा जमा कराया है। सूत्रों का कहना कि ऐसे मामले में पैसा जमा कराने वाले और जिसके अकाउंट में पैसा जमा कराया गया है दोनों के खिलाफ बेनामी कानून के तहत एक्शन लिया जा सकता है। 


टैक्स चोरी पकड़ने के लिए सरकार करी रही है बिग डाटा एनॉलिटिक्स का यूज 

 

इनकम टैक्स विभाग इनकम टैक्स की चोरी पकड़ने के लिए बिग डाटा एनॉलिटिक्स का यूज कर रहा है। इसके तहत टैक्सपेयर्स के पैन, क्रेडिट कॉर्ड ट्रांजैक्शन, इनकम टैक्स रिटर्न डिटेल के आधार पर उसकी इनकम प्रोफाइल का पता लगाया जा रहा है। अगर इनकम टैक्स विभाग को लगता है कि किसी टैक्सपेयर्स की इनकम प्रोफाइल टैक्स प्रोफाइल के अनुरूप नहीं है तो वह उसके खिलाफ जांच को आगे बढ़ाता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट