बिज़नेस न्यूज़ » Money Making Tipsम्‍युचुअल फंड के बारे में कितना जानते हैं आप 6 फैक्‍ट से करें चेक

म्‍युचुअल फंड के बारे में कितना जानते हैं आप 6 फैक्‍ट से करें चेक

गलत धारणा: म्‍युचुअल फंड का मतलब इक्विटी है

1 of

नई दिल्‍ली। अगर आप म्‍युचुअल फंड में निवेश करना चाहते हैं या निवेश करने जा रहे हैं तो आपको इसके बारे में बेसिक जानकारी जरूर रखनी चाहिए। भले ही आप फाइनेंशियल प्‍लानर की सलाह पर म्‍युचुअल फंड में निवेश करने जा रहे हैं आपको अपने स्‍तर पर म्‍युचुअल फंड के बारे में जरूरी जानकारी जुटानी चाहिए। इसका कारण यह है कि आम तौर पर लोगों में म्‍युचुअल फंड के बारे में कई तरह की गलत धारणा है जिसकी वजह से लोग म्‍युचुअल फंड में निवेश नहीं कर पाते हैं। आज हम आपको ऐसी गलत धारणा और फैक्‍ट के बारे में बता रहे हैं। 

 

1- गलत धारणा: म्‍युचुअल फंड में निवेश करने के लिए ज्‍यादा पैसा चाहिए। 

 

फैक्‍ट :  बहुत से लोगों में यह गलत धारणा है कि म्‍युचुअल फंड में निवेश शुरू करने के लिए ज्‍यादा पैसा चाहिए। जबकि सच यह है कि आप म्‍युचुअल फंड में बहुत कम अमाउंट  जैसे 500 रुपए और 1,000 रुपए से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। ऐसा आप म्‍युचुअल फंड एसआईपी के जरिए कर सकते हैं। इसके अलावा आप म्‍युचुअल फंड में हर साल अपना निवेश 10 या 20 फीसदी तक बढ़ा भी सकते हैं। इस तरह से आप लंबी अवधि में बड़ा फंड बना सकते हैं। 

 

आगे पढें 

2- गलत धारणा: म्‍युचुअल फंड लंबी अवधि में निवेश के लिए है। 

फैक्‍ट:  सच यह है कि म्‍युचुअल फंड में आप कम अवधि के लिए जैसे 5 साल के लिए भी निवेश कर सकते हैं ओर आप 20 और 30 की अवधि के लिए भी कर सकते हैं। अगर आप को 5 साल से कम अवधि के लिए निवेश करना है तो आप डेट म्‍युचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। इस पर आपको बैंक एफडी से बेहतर रिटर्न मिल सकता है। अगर आप म्‍युचुअल फंड में लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं तो इक्विटी म्‍युचुअल फंड बेहतर ऑप्‍शन है। 

3- गलत धारणा: सभी म्‍युचुअल फंड में निवेश पर मिलती है टैक्‍स छूट 

फैक्‍ट: म्‍युचुअल फंड में निवेश पर टैक्‍स छूट मिलती है यह सही बात है लेकिन टैक्‍स छूट सिर्फ इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग स्‍क्‍ीम पर मिलती है। यह एक प्रकार की म्‍युचुअल फंड स्‍कीम है जिसमें निवेश करके आप टैक्‍स छूट पा सकते हैं। लेकिन इस स्‍क्‍ीम में 3 साल का लॉक इन पीरियड होता है। अगर आपने 3 साल के पहले पैसा निकाल लिया तो आपको टैक्‍स छूट नहीं मिलेगी। इसके अलावा डेट या इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश पर आपको टैक्‍स छूट नहीं मिलती है। 

4- गलत धारणा: म्‍युचुअल फंड का मतलब इक्विटी है। 

फैक्‍ट : म्‍युचुअल फंड में निवेश का मतलब यह नहीं है कि आप सिर्फ शेयर या इक्विटी मार्केट में निवेश कर रहे हैं। म्‍युचुअल फंड कई तरह के होते हैं। जैसे इक्विटी म्‍युचुअल फंड। अगर आप इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपका ज्‍यादातर पैसा इक्विटी में निवेश होगा। अगर आप डेट म्‍युचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपका ज्‍यादातर पैसा डेट या फिक्‍स्ड इनकम में निवेश होगा। 

5- गलत धारणा: बच्‍चों के लिए तैयार की गई म्‍युचुअल फंड स्‍कीम आपके बच्‍चे का भविष्‍य सुरक्षित कर देगी। 

फैक्‍ट-किसी भी अन्‍य म्‍युचुअल फंड स्‍कीम की तरह बच्‍चों के लिए तैयार की गई म्‍युचुअल फंड स्‍क्‍ीम का रिटर्न भी बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करता है। इसका मतलब है कि बच्‍चों के लिए सेविंग पर आधारित म्‍युचुअल फंड स्‍क्‍ीम में उतनी ही रिस्‍क होता है जितना दूसरे सामान्‍य म्‍युचुअल फंड स्‍कीम में। 

 

6- गलत धारणा डायवर्सीफिकेशन के लिए आपको कई म्‍युचुअल फंडों में निवेश करना होगा। 

फैक्‍ट-म्‍युचुअल फंड में निवेश खुद से ही डावर्सीफिकेशन को पूरा करता है। कई म्‍युचुअल फंड में निवेश करने का यह मतलब नहीं है कि इससे आपका निवेश डायवर्सीफाइ होगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट