Advertisement
Home » Money Making Tipsepfo warns employees against political influence

मोदी सरकार में नेताओं की सिफारिश से तंग आया EPFO,दी एक्शन की चेतावनी

ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए EPFO पर है दबाव

epfo warns employees against political influence

महेंद्र सिंह, नई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO)ने अपने कर्मचारियों द्वारा ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए नेताओं की सिफारिश करवाने की आदत से तंग आ गया है। ईपीएफओ ने अब इस पर रोक लगाने के लिए नया निर्देश जारी किया है। ईपीएफओ ने अपने निर्देश में कहा है कि नियम के मुताबिक कर्मचारी द्वारा नौकरी में अपने हितों को लेकर राजनीतिक या बाहर से दबाव डलवाना गलत है। निर्देश में कहा गया है कि कर्मचारी व उसके परिवार के सदस्य द्वारा राजनीतिक या बाहरी दबाव का सहारा लेना नौकरी की सेवा शर्तो का उल्लंघन है और इस मामले में नियमों के तहत कर्मचारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है। 

 

ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए नेताओं से सिफारिश कर रहे EPFO कर्मचारी 

 

ईपीएफओ ने 11.1.2017 को इस मामले में सर्कुलर जारी अपने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने हितों के लिए राजनीतिक या बाहरी दबाव डलवाने से बचने की सलाह दी थी। हालांकि ईपीएफओ की ओर से जारी किए गए नए सर्कुलर में कहा गया है कि बड़े पैमाने पर कर्मचारी सांसदों और मंत्रियों को नौकर के मामलों को लेकर सीधे अपना प्रतिवेदन भेज रहे हैं और यह प्रतिवेदन ईपीएफओ के पास आ रहे हैं। कई मामलों में यह देखा गया है कि कर्मचारी के परिवार के सदस्य ट्रांसफर पोस्टिंग या नौकरी से जुड़े मामलों में शिकायतों को लेकर सीधे जनप्रतिनिधयों को अपना प्रतिवेदन भेज रहे हैं। 

Advertisement

 

EPFO ने दी एक्शन की चेतावनी 

 

ईपीएफओ ने सर्कुलर में कहा है कि अधिकारी या कर्मचारी या इसके परिवार के सदस्य अगर नौकरी के मामलों में राजनीतिक या किसी और बाहरी दबाव का सहारा लेते हैं तो यह सेवा शर्तों का उल्लंघन माना जाएगा और ऐसे मामलों में अधिकारी और कर्मचारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है। 

 

5 करोड़ मेंबर्स के पीएफ का प्रबंधन करता है ईपीएफओ 

 

ईपीएफओ भारत सरकार की रिटायरमेंट फंड बॉडी है और यह अपने लगभग 5 करोड़ मेंबर्स के 8 लाख करोड़ रुपए से अधिक के पीएफ फंड का प्रबंधन करता है। मौजूदा समय में ईपीएफओ के एक्टिव और नॉन एक्टिव मेंबर्स की संख्या 15 करोड़ से अधिक है। 

Advertisement

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss