विज्ञापन
Home » Money Making TipsBudget 2019 Expectations: Income Tax Changes, Budget 2019 Tax Slab, Rebate in Income Tax

बजट 2019: टैक्सपेयर्स को मोदी सरकार से चाहिए ये सौगात

बढ़ सकती है होम लोन पर टैक्स छूट की लिमिट 

Budget 2019 Expectations: Income Tax Changes, Budget 2019 Tax Slab, Rebate in Income Tax

Budget 2019 Expectations:बजट 2019 अगले कुछ दिनों में पेश किया जाने वाला है। अगले कुछ माह में आम चुनाव होने की वजह से यह अंतरिम बजट होगा। हालांकि सरकार ने संकेत दिया है कि वह सिर्फ वोट ऑन अकाउंट पेश नहीं करेगी।

नई दिल्ली। बजट 2019 अगले कुछ दिनों में पेश किया जाने वाला है। अगले कुछ माह में आम चुनाव होने की वजह से यह अंतरिम बजट होगा। हालांकि सरकार ने संकेत दिया है कि वह सिर्फ वोट ऑन अकाउंट पेश नहीं करेगी। सरकार ने पिछले बजट में टैक्स के मोर्चे पर खास कटौती का ऐलान नहीं किया था। ऐसे मं माना जा रहा है कि सरकार आम चुनाव से पहले मिडिल क्लास को लुभागने के लिए टैक्स के मोर्चे पर बड़ी राहत दे सकती है। 

 

आम लोगों की बचत बढ़ाने पर हो सकता है फोकस 

 

अंतरिम बजट होने के बावजूद ऐसा कोई नियम नहीं है कि सरकार कोई नई पॉलिसी नहीं बना सकती या आम लोगों को बेनेफिट्स मुहैया नहीं करा सकती है। उम्मीद है कि सरकार अंतिरम बजट में नियमों में  ऐसे बदलाव करेगी जिससे आम लोग ज्यादा पैसे बचा सकें। इसके लिए सरकार कई तरह के कदम उठा सकती है। 

 

बढ़ सकती है 80 सी लिमिट 

 

बैंकबाजारडॉटकॉम के सीईओ आदिल शेट्‌टी के अनुसार मौजूदा समय में इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80 सी के तहत 1.5 रुपए तक के निवेश पर टैक्स छूट क्लेम की जा सकती है। महंगाई और और लोगों की आय बढ़ने के कारण यह लिमिट अब कम लगती है। सरकार अगर इस लिमिट को बढ़ा कर 2 से 2.5 लाख रुपए कर देगी तो इससे लोगों को राहत मिलेगी। सरकार के इस कदम से फाइनेंशियल असेट्स में निवेश भी बढ़ेगा। 

 

80 सी और डेट फंड और हाइब्रिड फंड को भी शामिल करना 

 

मौजूदा समय में 80 सी के तहत सिर्फ  एक म्युचुअल फंड इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम यानी ELSS में निवेश करके ही आप टैक्स छूट ले सकते हैं। जोखिम न उठा सकने वाले निवेशकों की पसंद डेट फंड और हाइब्रिड फंड हैं। ये फंड 80 सी के दायरे से बाहर हैं। अंतरिम बजट में डेट और हाइब्रिड फंडों को भी 80 सी में शामिल किया जा सकता है।  

 

बढ़ सकती है होम लोन पर टैक्स छूट की लिमिट 

 

सरकार को हाउसिंग लोन पर टैक्स छूट की सीमा को बढ़ाने पर विचार करना चाहिए खास कर मेट्रो शहरों में। होम लोन पर टैक्स छूट की मौजूदा लिमिट 2 लाख को 4 लाख कने से ज्यादातर होम लोन लेने वालों को राहत मिलेगी। मुंबई जैसे शहरों में जहां ज्यादातर घरों की कीमत 1 करोड़ या इससे अधिक होती है वहां होम लोन अमाउंट ज्यादा होता है। ऐसे में इन लोगों को भी इससे फायदा होगा। 

 

बढ़ सकती है टैक्स छूट की सीमा 

 

सरकार को अंतरिम बजट में टैक्स छूट की सीमा को बढ़ाना चाहिए। मौजूदा समय में यह 2.5 लाख रुपए है। पिछले बजट में 2.5 लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक की सालाना इनकम वालों के लिए इनकम टैक्स रेट को 10 फीसदी से घटा कर 5 फीसदी कर दिया गया था। इसके अलावा 5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए वालों के लिए टैक्स रेट 5 फीसदी से बढ़ा कर 20 फीसदी कर दिया गया था। यह काफी ज्यादा है। सरकार को इसे तार्किक बनाना चाहिए। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन