Home » Economy » Bankingrecalibration of all atm according to new note will take 1 years time

100 रुपए के नए नोट पर फंसा ATM का पेंच, कंपनियों ने कहा-नया डालें या पुराना

एटीएम सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनियां 100 रुपए के नए और पुराने नोट को लेकर मुश्किल में फंस गई हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। रिजर्व बैंक ने 100 रुपए का नया नोट लाने का ऐलान कर दिया है लेकिन आपको सभी ATM पर यह नोट मिलने में 1 साल तक का समय लग सकता है। एटीएम सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनियां 100 रुपए के नए और पुराने नोट को लेकर मुश्किल में फंस गई हैं। एटीएम कंपनियोंं का कहना है कि 100 रुपए का नया नोट पुराने नोट से अलग है। सरकार कह रही है कि 100 रुपए के नए और पुराने नोट दोनों चलेंगे। एटीएम कंपनियों की समस्‍या यह है कि वे 2.4 लाख  एटीएम को नए नोट के हिसाब से रीकैलिबेरेट कैसे करें। खास कर तब जब 100 रुपए के पुराने और नए नोट के साइज में अंतर है। 

 

सभी एटीएम को नए नोट के हिसाब से जल्‍द रीकैलिबरेट करना मुश्किल 

एटीएम सर्विसेज मुहैया कराने वाली बैकिंग एंड पेमेंट टेक्‍नोलॉजी कंपनी एफआईसी के मैनेजिंग डायरेक्‍टर राधा रमा दोराई का कहना है कि जब तक रिजर्व बैंक 100 रुपए के पुराने नोट को पूरी तरह से वापस नहीं ले लेता है तब तक नए और पुराने दोनों तरह के नोट सिस्‍टम में रहेंगे। ऐसे में सभी नोट को जल्‍द ही 100 रुपए के नए नोट के हिसाब से रीकैलिबरेट करना मुश्किल होगा। उनका कहना है कि इस बात की संभावना है कि नए नोट की सप्‍लाई और पुराने नोट को वापस लेने की प्रक्रिया में असंतुलन हो। 

 

 

दोराई का कहना है कि अगर नए नोट की सप्‍लाई पुराने नोट को वापस लेने से पैदा हुई कमी को भर नहीं पाती है तो एटीएम के नए नोट की एटीएम में उपलब्‍धता प्रभावित हो सकती है। ऐसे में बैंकों और सर्विस प्रोवाइडर्स को यह तय करने दिया जाए कि एटीएम को नए नोट के हिसाब से कब कैलिबरेट किया जाए। 

 

ये भी पढें-RBI नए डिजाइन में जारी करेगा 100 रुपए का नोट, पुरानेे नोट भी रहेंगे वैलिड, ATM में होंगे बदलाव

नए और पुराने नोट के हिसाब से कैसे रीकैलिबरेट करें एटीएम 

 

नए और पुराने नोट के हिसाब से कैसे रीकैलिबरेट करें एटीएम 

एटीएम सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनी एफएसएस के डायरेक्‍टर, सीएटीएमआई एंड प्रेसीडेंट वी बालासुब्रमणियम ने कहा कि किसी नोट के साइज में बदलाव होने से एटीएम को उस नोट के साइज के हिसाब से रीकैलिबरेट करना पड़ता है। अब सवाल यह है कि हम  एटीएम को नए और पुराने दोनों तरह के नोट के हिसाब से कैसे रीकैलिबरेट करें। ऐसे में एटीएम में पुराने नोट का जारी रहना और एटीएम चैनल के जरिए नए नोट पेशन होना और उसकी उपलब्‍धता यह सुनिश्चित करेगी कि इसे रीकैलिबरेट किया जाए या नहीं। 


2.4 लाख एटीएम को रीकैलिबरेट करने में लगेगा 1 साल तक का समय 

 

हिताची पेमेंट सर्विसेज के एमडी लोनी एंटनी का कहना है कि हमारा मानना है कि 100 रुपए के नए नोट के हिसाब से 2.4 लाख एटीएम को रीकैलिबरेट करने में 12 माह का समय लगेगा और कम से कम 100 करोड़ रुपए की लागत आएगी। अभी 200 रुपए के नए नोट के हिसाब से सभी एटीएम रीकैलिबरेट करने की प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है। 

नए नोट का क्‍या है साइज 


नया नोट आकार में पुराने 100 के नोट से छोटा व 10 के नोट से मामूली बड़ा होगा। इसका साइज 66 mm×142 mm है। रिजर्व बैंक ने कहा है पुराने 100 रुपए के नोट भी लीगल टेंडर यानी वैध रहेंगे। जब नए डिजाइन में नोट जारी किये जाते हैं तक उसकी छपाई और आम लोगों तक सप्‍लाई के लिए उसका डिस्‍ट्रीब्‍यूशन धीरे-धीरे बढ़ता है। 

 

फ्रंट में क्या होगा 

 

- नोट के केंद्र में महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर होगी। 
- माइक्रो लेटर्स में ‘RBI’, ‘भारत’, ‘India’ and ‘100’ लिखा होगा। 
- अंकों में 100 नीचे की तरफ लिखा होगा। 
- दाईं तरफ ही अशोक स्तंभ होगा। 
- देवनागरी लिपि में १०० बीच में गांधी जी के चित्र के बाईं ओर अंकित होगा। 
-  महात्मा गांधी की तस्वीर के दाईं ओर प्रॉमिस क्लॉज होगा और उसके नीचे गवर्नर के साइन होंगे। 

 

बैक में क्या होगा? 

 

- नोट की छपाई का साल बाईं तरह होगा। 
- स्‍लोगन के साथ स्‍वच्‍छ भारत का लोगो होगा। 
- लैंग्‍वेज पैनल होगा। 
- ऐतिहासिक धरोहर 'रानी की वाव' का रूपांकन होगा। 
- देवनागरी में १०० की वैल्‍यू अंक में छपी होगी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट