Home » Money Making Tipsfinancial planing for 30 year old person

30 की उम्र तय करती है आपका फ्यूचर, ऐसे उठाएं फायदा

30 की उम्र तक हर व्‍यक्ति के पास एक खास तरह का एडवांटेज होता है।

1 of

नई दिल्‍ली। आपका फ्यूचर कैसा होगा इसमें 30 साल की उम्र की भूमिका बहुत अहम होती है। 30 की उम्र तक हर व्‍यक्ति के पास एक खास तरह का एडवांटेज होता है, जो 40 या 45 साल की उम्र के व्‍यक्ति के पास नहीं होता है।

 

बैंकबाजारडॉटकॉम के सीईओ आदिल शेट्टी ने moneybhaskar.com को बताया कि 30 की उम्र का एडवांटेज लेने के लिए आपको कुछ जरूरी कदम उठाने होते हैं। अगर आप यह कदम उठा लेते हैं तो आप 30 की उम्र को एडवांटेज 30 में बदल सकते हैं वरना आप इस एडवांटेज को गंवा देंगे और इसकी भरपाई आप जीवन में कमी भी नहीं कर पाएंगे। 

 

सबसे पहले बनाएं इमरजेंसी फंड 
 

30 साल की एज ग्रुप में आम तौर पर लोग अपना कैरियर शुरू कर चुके होते हैं। आप नौकरी कर रहे हैं या बिजनेस इमरजेंसी फंड बनाना जरूरी है। 6 माह से 1 साल तक की अवधि में अपने मंथली खर्च को पूरा करने लायक इमरजेंसी फंड बनाना बेहतर होता है। आप सेविंग अकाउंट में हर माह पैसा जमा करते हुए इमरजेंसी फंड बना सकते हैं। अचानक पैसों की जरूरत पड़ने पर यह फंड आपके काम आएगा और आपको इसके लिए अपनी सेविंग का यूज नहीं करना पड़ेगा। 

 

इसके बाद खरीदें हेल्‍थ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान 
 

30 की उम्र का फायदा उठाने के लिए दूसरा बड़ा स्‍टेप है हेल्‍थ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान खरीदना। अगर आपने अब तक खुद के लिए और अपने परिवार के लिए हेल्‍थ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान नहीं लिया है तो सबसे पहले हेल्‍थ प्‍लान लें। क्‍योंकि इसके बिना आपकी सेविंग हमेशा जोखिम में रहेगी। 30 की उम्र में बीमारियों का रिस्‍क कम होता है। ऐसे में इस उम्र में आपको हेल्‍थ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान कम प्रीमियम में मिल जाएगा। एक 30 साल की उम्र के व्‍यक्ति को वाइफ और एक बच्‍चे को करने वाली 5 लाख रुपए सम एश्‍योर्ड वाली हेल्‍थ पॉलिसी सालाना 4 से 5 हजार रुपए प्रीमियम में मिल जाएगी। 

शुरू करें निवेश 

 

फाइनेंशियल प्‍लानर की मदद से फाइनेंशियल गोल तय करने के बाद इस गोल को पाने के लिए मंथली निवेश शुरू करें। 30 की उम्र में निवेश शुरू करने का सबसे बड़ा फायदा यह हहै कि आप हर माह पैसों की सेविंग से भी बड़ा फंड बना सकते हैं क्‍योंकि आपके पास 20 से 30 साल तक निवेश के लिए समय होता है। लंबी अवधि के लिए जब आप निवेश करते हैं तो कंपाउंडिंग की पावर आपके फंड को तेजी से बढ़ाती हैं। उदाहरण के लिए आपके एसआईपी अकाउंट में 5 लाख रुपए हैं और एसआईपी पर सालाना 10 फीसदी रिटर्न मिल रहा है तो आपका फंड 5 लाख 50 हजार रुपए हो जाएगा। अब आप नए साल में एसआईपी में जो निवेश करेंगे। अगले साल प्रिंसिपल अमाउंट और रिटर्न को मिला कर 10 फीसदी रिटर्न मिलेगा। इस तरह से आपका फंड जितना ज्‍यादा बड़ा होता जाएगा कंपाउंडिंग की वजह से आपका पैसा उतनी हो तेजी से बढ़ेगा। आम तौर पर 15 साल से 25 साल के बीच कंपाउंडिंग का सबसे ज्‍यादा फायदा मिलता है और इस अवधि में पैसा बहुत तेजी से बढ़ता है। लेकिन 40 या 50 साल की उम्र के लोगों को यह फायदा नहीं मिल पाता है क्‍योंकि उउनके पास लंबे समय के लिए निवेश करने का समय नहीं होता है। 

हर साल करें निवेश का रिव्‍यू 

 

आप हर साल अपने निवेश और इस पर मिलने वाले रिटर्न का रिव्‍यू करते रहें। इसके लिए भी आपको फाइनेंशियल प्‍लानर से सलाह लेनी चाहिए। अगर आपको लगता है कि आप जहां पर अपना पेसा निवेश कर रहे हैं वहां पर आपको बेहतर रिटर्न नहीं मिल रहा है तो आप प्रोफेशनल की सलाह से इसे कहीं दूसरी जगह पर निवेश कर सकते हैं जहां आपको ज्‍यादा रिटर्न मिले। 

 

जल्‍द प्‍लान कर सकते हैं रिटायरमेंट 
 

30 की उम्र ऐसी होती है कि इस उम्र में निवेश शुरू करके आप 50 साल की उम्र में भी रिटायरमेंट प्‍लान कर सकते हैं। आपको इसके लिए अपनी सेविंग और निवेश को बढ़ाना होगा। आप सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लानिंग यानी एसआईपी के जरिए 20 साल की अवधि में 2 करोड़ से 10 तक का फंड भी बना सकते हैं। अगर आप कम अवधि में बड़ा फंड बनाना चाहते हैं तो आप एसआईपी में हर साल अपना निवेश 10 से 20 फीसदी तक बढ़ा सकते हैं। इससे आपका फंड तेजी से बढ़ेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट