Home » Money Making Tipsweak rupee became beneficial for 5 mutual fund schemes

कमजोर रुपया भी कर गया खेल, 5 जगहों पर मिला FD से 20 गुना तक रिटर्न

रुपए में आई कमजोरी कुछ म्युचुअल फंड स्कीम्स के लिए खासी फायदेमंद रही है।

1 of

 

नई दिल्ली. लगातार कमजोर होते रुपए ने भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार का सिरदर्द बढ़ा दिया है, लेकिन कुछ म्युचुअल फंड स्कीम्स के लिए यह खासा फायदेमंद रहा है। हम यहां बीते एक महीने की टॉप 5 स्कीम्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने इस अवधि में 12 फीसदी तक रिटर्न दिया है। अगर बैंक एफडी से तुलना की जाए तो यह रिटर्न लगभग 20 गुना होता है। बैंक एफडी पर साल भर में औसतन 7 फीसदी रिटर्न ही मिलता है।

 

ये हैं टॉप 5 एमएफ स्कीम्स

खास बात यह है कि टॉप 5 स्कीम्स में सिर्फ फार्मा और हेल्थकेयर सेक्टर फोकस्ड स्कीम्स ही जगह बना सकी हैं। दरअसल, भारत की फार्मा कंपनियां अमेरिका और यूरोपीय देशों को एक्सपोर्ट करके डॉलर में अच्छी खासी आय करते हैं। इसलिए रुपए की कमजोरी का उन्हें अच्छा फायदा मिलने की उम्मीद है।

 

स्कीम 1 महीने में रिटर्न (%में)
SBI Healthcare Opportunities - D (G) 11.6%
SBI Healthcare Opportunities (G)  11.5%
Reliance Pharma Fund - Direct (G)  9.9%

Reliance Pharma Fund (G)   

9.8%  
DSP World Agriculture Fund - DP (G)     8.6% 

 नोट-यह एनएवी 14 सितंबर, 2018 तक का है       

  

आगे भी पढ़ें...

 

 

एक साल में 13 फीसदी चढ़ा

रुपए ने हाल में प्रति डॉलर का 72 का स्तर टच किया है, जो उसका ऐतिहासिक लो है। बीते एक साल की बात करें तो इस अवधि में रुपया लगभग 13 फीसदी टूट चुका है।

कमोडिटी एक्सपर्ट अजय केडिया के अनुसार, अमेरिका और चीन में ट्रेड वार बढ़ने के बीच ऑयल इम्पोर्टर्स द्वारा डॉलर की डिमांड बढ़ी है, जिससे रुपए पर दबाव बना।

आगे भी पढ़ें...

 

किन सेक्टर्स को मिलता है रुपए की कमजोरी का फायदा

रुपए के मुकाबले डॉलर के मजबूत होने का सबसे ज्यादा फायदा आईटी, फॉर्मा के साथ ऑटोमोबाइल सेक्टर को होगा। इन सेक्टर्स से जुड़ी कंपनियों की ज्यादा कमाई एक्सपोर्ट पर निर्भर है। ऐसे में डॉलर की मजबूती से फार्मा सेक्टर की डॉ. रेड्डीज, सन फार्मा, अरबिंदो फार्मा जैसी कंपनियों के शेयरों में अच्छी तेजी दर्ज की गई है। इसका फायदा फार्मा फोकस्ड म्युचुअल फंड स्कीम्स को भी मिला है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट