विज्ञापन
Home » Money Making Tipssmall investment can give you big gain

सिर्फ 500 रुपए की SIP से बन जाएगा 42 लाख का फंड, अपनाएं निवेश का स्मार्ट तरीका

छोटी रकम निवेश करने का मिलता है बड़ा फायदा

small investment can give you big gain
investment in sip,अगर आप इस वजह से निवेश नहीं करते हैं क्योंकि आप हर माह ज्यादा पैसे नहीं बचा पाते हैं तो आपको अपनी राय बदलने की जरूरत है। आप हर माह सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान में 500 रुपए से निवेश की शुरुआत करके भी लंबी अवधि में 42 लाख रुपए का फंड बना सकते हैं। 

नई दिल्‍ली। अगर आप इस वजह से निवेश नहीं करते हैं क्योंकि आप हर माह ज्यादा पैसे नहीं बचा पाते हैं तो आपको अपनी राय बदलने की जरूरत है। आप हर माह सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान में 500 रुपए से निवेश की शुरुआत करके भी लंबी अवधि में 42 लाख रुपए का फंड बना सकते हैं।  आज हम आपको कम पैसे के जरिए बड़ा फंड बनाने की एक नई स्‍ट्रैटेजी के बारे में बता रहे हैं। इस स्‍ट्रैटेजी में सबसे अहम बात यह है कि आप भले ही 500 रुपए निवेश करें लेकिन आपका निवेश लंबे समय तक बना रहना चाहिए। अगर आप बीच में ही पैसा निकाल लेते हैं तो बड़ा फंड बनाने की आपकी पूरी स्‍ट्रैटेजी बेकार हो जाएगी। 

 


क्‍या है नई स्‍ट्रैटेजी 
 

बैंकबाजारडॉटकॉम के सीईओ आदिल शेट्टी के अनुसार आपको एसआईपी अकाउंट खुलवा कर 500 रुपए मंथली निवेश करना होगा। आपको हर साल अपना निवेश 20 फीसदी बढ़ाना होगा। आपके निवेश की अवधि 30 साल की होगी। अगर आपकी एसआईपी पर  सालाना 12 फीसदी रिटर्न मिलता है तो आपका कुल फंड 42.45 लाख रुपए हो जाएगा। 

 

मंथली निवेश  500 रुपए 
निवेश की अवधि 30 साल 
निवेश में सालाना इजाफा 20 फीसदी 
निवेश पर अनुमानित रिटर्न  12 फीसदी 
कुल फंड  42.45 लाख रुपए 


हर साल 20 फीसदी निवेश बढ़ाने का मिलेगा फायदा 
 

एसआईपी में हर साल 20 फीसदी निवेश बढ़ाने से आपको कंपाउंडिंग का ज्‍यादा फायदा मिलेगा। इस तरह से आप कम राशि से निवेश शुरू करके भी लंबी अवधि में बड़ा फंड बना सकते हैं। वहीं अगर आपका निवेश एक ही स्‍तर पर बना रहता है तो आप कपाउंडिंग का उतना ज्‍यादा फायदा नहीं उठा पाते हैं। उदाहरण के लिए अगर आपने 2,000 रुपए से एसआईपी में निवेश शुरू किया और अगले 20 साल तक आपका मंथली निवेश उसी स्‍तर पर बना रहता है तो आपको कंपाउंडिंग का उतना फायदा नहीं मिलेगा जितना आप अपना निवेश हर साल 10 या 20 फीसदी तक बढ़ा कर उठा सकते हैं। आपके निवेश पर जो रिटर्न मिलता है वह अगले साल आपके ओरिजनल निवेश में जुड़ कर ज्‍यादा रिटर्न दिलाता है। इसे कंपाउंडिंग कहते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन