Home » Money Making Tipshow to buy right health insurance cover

हेल्थ इन्श्योरेंस खरीदने में इन गलतियों से बचें, होगा फायदा

जरूरत से कम राशि का बीमा कवर खरीदना

1 of

नई दिल्ली। आज के जमाने में परिवार की सुरक्षा के लिए हम जो भी कदम उठाते हैं उनमें से एक अहम काम है एक हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदना। कोई भी हैल्थ प्लान खरीदने से पहले हमें उसके विभिन्न पहलुओं को समझने की जरूरत है और यही वो मोर्चा है जिस पर हम गलतियां कर सकते हैं। अगर हम जल्दबाज़ी में या फिर पूरी तरह समझे बगैर कोई प्लान खरीदते हैं तो हो सकता है कि क्लेम करते वक्त हमें अप्रिय अनुभव से गुजरना पड़े।

 

यहां हम उन कुछ आम गलतियों के बारे में बता रहे हैं जो लोग स्वास्थ्य बीमा करवाते समय कर बैठते हैं। हम यहां उपयोगी सुझाव भी दे रहे हैं जिनका पालन करते हुए आप क्लेम के वक्त परेशानी से बच सकते हैं।

 

आवश्यकता से कम बीमा

 

रिन्यूबॉयडॉटकॉम के सीईओ बालचंदर शेखर ने moneybhaskar.com को बताया कि सबसे आम गलती जो लोग हेल्थ इन्श्योरेंस करवाते हुए करते हैं वह है, कवरेज की कम राशि। लोग कम प्रीमियम चुकाना चाहते हैं इस वजह से कवरेज भी कम हो जाती है। क्या कम कवरेज आपके मेडिकल खर्च चुकाने के लिए पर्याप्त होगी।

 

उपाय- आजकल मेडिकल खर्च इतना बढ़ चुका है  कि आम आदमी उन्हें वहन नहीं कर सकता। हेल्थ प्लान इसलिए तैयार किए जाते हैं कि वे आपको इलाज की लागत से बचा सकें इसलिए इतनी इतनी राशि का कवर जरूरत लें जो आपके लिए पर्याप्त रहे। हेल्थ इन्श्योरेंस प्लान के तहत कितने सदस्य हैं और इलाज का मौजूदा खर्च कितना है। इन बातों पर भी इन्श्योरेंस खरीदते सयम देना चाहिए। अगर आप ज्यादा प्रीमियम वहन नहीं कर पा रहे हैं तो टॉप अप प्लान खरीदें जो आपकी कवरेज को सहारा दे, इससे ज्यादा कवरेज सुनि होगी।

सब-लिमिट्स को अनदेखा करना

 

जब आप हेल्थ प्लान खरीदते हैं तो कवरेज फीचर्स के मामले में लिमिट्स और सब-लिमिट्स पर शायद ही गौर करते होंगे। नतीजतन जब सब-लिमिट्स से कहीं ज्यादा का मेडिकल बिल आता है तो आपको वित्तीय दबाव का सामना करना पड़ता है। इसलिए हेल्थ इनश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले आपको उसके इसके बारे में खास तौर पर जागरुक रहना चाहिए। 

उपाय- हमेशा पता कीजिए कि किस कवरेज लाभ में क्या लिमिट्स और सब-लिमिट्स हैं। सबसे आम है इन-पेशेंट हॉस्पिटलाइजेशन कवरेज के तहत रूम रेंट सब-लिमिट्स। सब-लिमिट का असर अस्पताल में भर्ती होने के कुल क्लेम पर पड़ता है। इसलिए प्लान खरीदने से पहले इन सब-लिमिट्स को जांच लीजिए। यदि मुमकिन हो तो ऐसा प्लान खरीदिए जिसमें उच्चतर कवरेज लिमिट्स हों या सब-लिमिट्स नहीं हों।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट