Home » Money Making Tipsbenefits of pradhanmantri vaya vandan scheme

माता-पिता को मिलने लगेगी 10 हजार रु पेंशन, खास है LIC की यह स्कीम

प्रीमियम का पूरा पैसा भी मिल जाएगा वापस

benefits of pradhanmantri vaya vandan scheme

नई दिल्ली। अगर आपके माता पिता की उम्र 60 वर्ष है तो आप उनके लिए हर माह 10 हजार रुपए की पेंशन का इंतजाम कर सकते हैं। भारतीय जीवन बीमा निगम यानी एलआईसी सीनियर सिटीजंस के लिए प्रधानमंत्री वय वंदन योजना चला रही है। इस स्कीम में पेंशन के लिए 23 मार्च, 2020 तक निवेश किया जा सकता है। अगर आपके माता पिता के पास नियमित इनकम का कोई सोर्स नहीं है तो आप उन्हें हर माह 10 हजार रुपए पेंशन का तोहफा दे सकते हैं। 

 

एकमुश्त 15 लाख करना होगा निवेश 

 

इस स्कीम में निवेश के लिए न्यूनतम उम्र 60 साल है। अगर कोई व्यक्ति यह पॉलिसी खरीदता है तो उसे 10 साल तक मंथली, तिमाही, छमाही या सालाना पेंशन मिलेगी। 10 साल के बाद पॉलिसी की अवधि पूरी होने पर अगर पॉलिसीधारक जीवित रहता है तो स्कीम में निवेश किया गया पूरा पैसा वापस मिल जाएगा। इसके अलावा अगर पॉलिसीधारक  की मौत पॉलिसी की अवधि में हो जाती है निवेश किया पैसा नॉमिनी को वापस मिल जाएगा।  इसे आप उदाहरण से समझ सकते हैं। अगर किसी 60 साल के व्यक्ति ने इस स्कीम में 15 लाख रुपए निवेश किया तो उस व्यक्ति को 10 साल तक हर माह 10 हजार रुपए पेंशन मिलेगी। वह व्यक्ति यह पेंशन मंथली, तिमाही, छमाही या सालाना ले सकता है। इस स्कीम में 15 लाख रुपए से अधिक निवेश नहीं किया जा सकता है। 

 

ऐसे सरेंडर कर सकते हैं पॉलिसी 

 

कुछ खास परिस्थितियों में पॉलिसी को समय से पहले सरेंडर करने की अनुमति दी जाएगी। जैसे पेंशनर्स को गंभीर बीमारी के इलाज के लिए पैसे की जरूरत है या उसकी पत्नी को कोई बीमारी हो गई और इलाज के लिए पैसों की जरूरत है तो ऐसे मामले में पॉलिसीधारक पॉलिसी सरेंडर कर सकता है और उसको निवेश की गई रकम का 98 फीसदी वापस मिल जाएगा। 

 

ले सकते हैं लोन 

 

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के तहत रकम जमा कराने के तीन साल के बाद लोन लिया जा सकता है। पॉलिसीधारक जितनी रकम जमा कराएगा, उसके 75% तक लोन ले सकते हैं। लोन की रकम पर ब्याज हर तिमाही तय होती है। आप जब तक लोन की रकम वापस नहीं कर देते तब तक आपको हर 6 महीने पर ब्याज देना होगा। दरअसल, ब्याज की रकम मिल रही पेंशन से ही काटी जाएगी। 

 

15 से 30 दिन में वापसी का विकल्प 

 

अगर पॉलिसी लेने के बाद पॉलिसीधारक किसी नियम या शर्त से संतुष्ट नहीं हैं तो पॉलिसी लेने पर रिसीट मिलने के 15 दिनों के अंदर और ऑनलाइन पॉलिसी लेने पर रिसीट मिलने के 30 दिनों के अंदर कारण बताकर पॉलिसी से निकल सकते हैं। इस दौरान अगर पेंशन मिल गई तो वह रकम और स्टांप ड्यूटी चार्ज की रकम काटकर सारा जमा पैसा वापस कर दिया जाएगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss