Advertisement
Home » मार्केट » स्टॉक्सIncome tax saving can be made from the millionaire, know how

आपके पास भी होंगे 18 करोड़ रुपए, बस अपनाएं ये तरीका

करोड़पति कौन नहीं होना चाहता, लेकिन बन नहीं पाता है। हालांकि यह इतना आसान नहीं है, लेकिन अगर सही तरीके से प्लान बनाया जाए और निवेश शुरू किया जाए तो ऐसा संभव है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसके लिए अलग से निवेश करने की कोई जरूरत नहीं है बस जो निवेश चल रहे हैं उन्हीं को सही जगह पर करने की है।

1 of
नई दिल्ली. करोड़पति कौन नहीं होना चाहता, लेकिन हर कोई बन नहीं पाता है। हालांकि यह आसान नहीं है, लेकिन अगर सही तरीके से प्लान बनाया जाए और निवेश शुरू किया जाए तो ऐसा संभव है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसके लिए अलग से निवेश करने की कोई जरूरत नहीं है। बस जो निवेश चल रहे हैं, उन्हीं को सही जगह पर करने की जरूरत है। ऐसा करके आप भी 18 करोड़ रुपए की वेल्थ बना सकते हैं। एक और अच्छी बात यह होगी जिस साल व्यक्ति अपना पैसा निकालना चाहेगा, उसे कोई टैक्स भी नहीं देना होगा, यानी पूरा पैसा अपना। 

कैसे पूरा हो सकता है 18 करोड़ रुपए का सपना
 
देश में आयकर बचाने के कई सारे तरीके मौजूद हैं। इनमें लोग हर साल 1.5 लाख रुपए तक का निवेश करते हैं। यह निवेश आमतौर पर इस तरह का होता है कि बाद में वेल्थ के रूप में सामने नहीं आ पाता है। लेकिन वित्तीय बाजार के जानकारों की मानें तो सिर्फ इसी निवेश को अगर सही तरीके से कर दिया जाए तो 15 से 17 साल में एक करोड़ रुपए से ज्यादा की वेल्थ बनाई जा सकती है। अगर निवेश रिटायरमेंट तक करते रहें तो यह आराम से 18 करोड़ रुपए से ज्यादा की वेल्थ बन जाएगी। 

अगली स्लाइड में जानें कैसे बढ़ता जाएगा निवेश
 
 
 

Advertisement

कैसे बनाएं निवेश की सही रणनीति 
 
हर साल लोग आयकर बचाने के लिए 1.5 लाख रुपए के निवेश करते हैं। यह निवेश नियमित नहीं होता है। कोई एक साथ करता है, तो कोई मार्च आने पर जागता है। ऐसे में जरूरी है कि इस पैसे को महीने के हिसाब से बांट लिया जाए। यानी 12500 रुपए का हर माह निवेश किया जाए। इस प्रकार साल भर में 1.5 लाख रुपए का निवेश भी हो जाएगा। जिसकी उम्र 25 साल है और वह इस तरह का निवेश शुरू करे तो उसके पास 60 साल पूरे होने पर 18 करोड़ रुपए से ज्यादा होगा। ऐसा नहीं है कि अगर आपकी उम्र 25 साल से ज्यादा हो गई है तो आपके लिए इस तरह की निवेश योजना अच्छी नहीं है। अगर आपकी उम्र 30 साल है तो आपके पास भी इसी तरह के निवेश से 8 करोड़ रुपए से ज्यादा की वेल्थ हो सकती है। 35 उम्र में निवेश शुरू करने पर भी 4 करोड़ रुपए से ज्यादा और 40 साल की उम्र में निवेश शुरू किया जाए तो 60 साल की उम्र में आराम से पौने दो करोड़ रुपए की वैल्थ तैयार हो सकती है।
 
कहां किया जाए निवेश
 
जानकारों के अनुसार आयकर बचाने के लिए मौजूद साधनों में म्युचुअल फंड की ईएलएसएस योजनाएं सबसे बेहतर हैं। लेकिन इनमें अगर निवेश लम्बे समय के लिए किया जाए तभी अच्छा फायदा पाया जा सकता है। हालांकि न्यूनतम 3 साल के निवेश जरूरी होता है। इसके बाद निवेशक की मर्जी होती है कि वह निवेश को बनाए रखे या निकाल ले। टॉप म्युचुअल फंड पिछले 10 साल में औसतन 15 फीसदी का रिटर्न दिया है। इस दौरान शेयर बाजार में काफी उतार चढ़ाव आए लेकिन रिटर्न आयकर बचाने वाले सभी तरीकों में सबसे अच्छा रहा। 

अगली स्लाइड में जानें रिटर्न कम होने पर भी बन सकते हैं करोड़पति
 
कैसे बढ़ेगा पैसाकैसे हो जाएगा करोड़ों रुपए
 
आयकर बचाने वाले टॉप 5 म्युचुअल फंड का औसत रिटर्न पिछले 10 साल में 15 फीसदी से ज्यादा का रहा है। यानी जिन लोगों ने इन फंड में पैसा लगाया है उन लोगों को यह रिटर्न मिल चुका है। अगर इसको आधार मान लिया जाए तो जानते हैं कि कैसे पैसा बढ़ेगा
 
15 फीसदी रिटर्न मिले तो
-25 साल का व्यक्ति आयकर बचाने के लिए निवेश शुरू करे
-हर माह 12500 रुपए का निवेश करे
-60 साल तक उसका निवेश चलता रहे
तो उसे मिलेगा कुल 18.34  करोड़ रुपए

अगर मान लें कि रिटर्न 12 फीसदी ही मिला तो
-25 साल का व्यक्ति आयकर बचाने के लिए निवेश शुरू करे
-हर माह 12500 रुपए का निवेश करे
-60 साल तक उसका निवेश चलता रहे
तो उसे मिलेगा कुल 8.4 करोड़ रुपए  

अगली स्लाइड में जानें कितने फंड में निवेश करना ठीक रहेगा
 
पूरा निवेश एक ही फंड में करना ठीक नहीं 
शेयरखान के उपाध्यक्ष मृदुल कुमार वर्मा का कहना है कि लम्बे समय में आयकर बचाने वाले फंड ने अच्छा रिटर्न दिया है, इसलिए इनमें निवेश करना अच्छा कदम है। लेकिन इनमें निवेश करते वक्त टॉप रिटर्न देने वाले कम से कम 2 या 3 तीन फंड को छांटना चाहिए। इसके बाद इनमें निवेश शुरू करना चाहिए। दो या तीन फंड में निवेश होने से औसत रिटर्न अच्छा रहेगा और रिस्क भी काफी हद तक कवर हो जाएगा। 
 
हर माह निवेश का तरीका अपनाएं
 
वहीं च्वाइस ब्रोकिंग के अध्यक्ष अजय केजरीवाल का कहना है कि आयकर बचाने के लिए ईएलएसएस फंड में निवेश अच्छा तरीका है। लेकिन यहां पर साल में एक साथ या एक दो बार में ही निवेश करना अच्छा तरीका नहीं है। म्युचुअल फंड कंपनियां अपनी सभी योजनाओं में हर माह निवेश का विकल्प देती हैं। इसे सिस्टेमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान या सिप कहते हैं। इसमें पैसा बैंक से अपने आप हर म्युचुअल फंड की योजना में चला जाता है। यह तरीका निवेश का सबसे अच्छा विकल्प है। 
 
अगली स्लाइड में जाने टॉप ईएलएसएस योजनाएं
 
टॉप 5 आयकर बचाने वाली म्‍युचुअल फंड की योजनाएं
 
फंड 3 साल 5 साल 10 साल एयूएम
Invesco India Tax Plan 22.70    18.85 16.56 361
DSP BlackRock Tax Saver Fund 24.99 20.58 15.83 1,907
Franklin India Taxshield Fund 22.25 18.27 15.51 2,657
Reliance Tax Saver (ELSS) Fund 27.06 20.64 15.21 6,916
ICICI Prudential Long Term Equity Fund (Tax Saving) 21.42 18.75 14.75 4,014
 
(आंकड़े 18 मार्च 2017 के, 3,5 और 10 साल का रिटर्न प्रतिशत में, एयूएम यानी आसेट अंडर मैनेजमेंट)
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement