Home »Market »Stocks» Wipro Is Learnt To Have Fired Hundreds Of Employees As Part Of Its Annual Appraisal

विप्रो ने अप्रेजल के दौरान करीब 600 कर्मचारियों को निकाला, बताया वार्षिक प्रक्रिया का हिस्‍सा

नई दिल्‍ली. देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो ने समझा जाता है कि एनुअल परफार्मेंस अप्रेजल के नाम पर सैकड़ों कर्मचारियों को निकाल दिया है। सूत्रों का कहना है कि 600 कर्मचारियों को निकाला गया है, लेकिन चर्चा है कि यह संख्‍या 2000 तक हो सकती है।
 
विप्रो ने बताया वार्षिक प्रक्रिया का हिस्‍सा
 
विप्रो से जब इस बारे में पूछा गया तो उसका कहना है कि वह हर साल रिगरस परफार्मेंस अप्रेजल प्रोसेस को अपनाता है। क्‍लाइंट की जरूरत को देखते हुए नई रणनीति के हिसाब से वर्कफोर्स के बारे में फैसला किया जाता है। इस दौरान कुछ कर्मचारी कंपनी से अलग हो जाते हैं, लेकिन यह संख्‍या हर साल अलग-अलग होती है। हालांकि कंपनी ने इस बार कितने कर्मचारियों को हटाया है, इसकी संख्‍या बताने से इनकार कर दिया।
 
हालांकि विप्रो का कहना है इस प्रोसेस में कर्मचारी की क्षमता को देखते हुए उसकी ट्रेनिंग और रिट्रेनिंग पर ध्‍यान दिया जाता है। कंपनी का कहना है कि वह 25 अप्रैल को चौथी तिमाही के परिणाम जारी करते वक्‍त कर्मचारियों की संख्‍या के बारे में बता पाएगी। फिलहाल विप्रो ने वर्ष 2016-17 की तीसरी तिमाही में बताया था कि 1.79 लाख कर्मचारी हैं।  
 
वीजा संबंधी दिक्‍कतें बढ़ रहीं
 
हाल के दिनों में दुनिया के कई देशों में वीजा को लेकर दिक्‍कतें सामने आई हैं। इससे आईटी कंपनियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अमेरिका सहित सिंगापुर, आस्‍ट्रेलिया, न्‍यूजीलैंड जैसे देश अपने यहां वीजा के नियम सख्‍त कर रहे हैं।

 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY