Home »Market »Stocks» Higher Crude Prices May Affect These Stocks, Know What Should Your Stock Strategy

चढ़ते क्रूड से इन 5 स्टॉक्स में निवेश का मौका, मिड टर्म में बेहतर रिटर्न की उम्मीद

नई दिल्ली। जियो-पॉलिटिकल अनिश्चितता की स्थिति बनने से क्रूड की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। एमसीएक्स पर क्रूड पिछले 30 दिनों में करीब 9 फीसदी और ग्लोबल मार्केट में 8 फीसदी महंगा हो गया है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि कई फैक्टर क्रूड को सपोर्ट कर रहे हैं, जिससे इस फाइनेंशियल के तीसरे क्वार्टर तक कीमतें फिर 60 डॉलर प्रति बैरल तक जा सकती हैं। क्रूड की बढ़ती कीमतों से ऑयल एक्सप्लोर करने वाली कंपनियों को फायदा मिल सकता है।     
 
 
इन फैक्टर से क्रूड को मिल रहा है सपोर्ट
 
-सीरिया पर यूएस द्वारा मिसाइल हमले के बाद से जियो-पॉलिटिकल टेंशन बन गया है, जिससे क्रूड को लेकर एक अनिश्चितता का माहौल बन गया है।
-जहां ओपेक देशों ने क्रूड वॉल्युम घटाया है, वहीं यूएस में हाल ही में इन्वेंट्री बढ़ी है। ऐसे में अनिश्चितता बढ़ने की वजह से यूएस के पास डिमांड बहुत ज्यादा आ रही है, जिससे कीमतें बढ़ी हैं।
-ओपेक देश किसी भी कीमत पर क्रूड की कीमतें 56 डॉलर से ऊपर रखना चाहते हैं। ऐसे संकेत दिए जा चुके हैं कि आगे क्रूड प्रोडक्शन में जरूरत के हिसाब से और ज्यादा कटौती की जा सकती है।
-हरिकेन फैक्टर भी एक‍ बड़ा फैक्टर है जो इस बार यूएस में एक्टिव रहने की उम्मीद है। इस वजह से वहां कई रिग्स हरिकेन सीजन के पहले मेंटिनेंस के लिए बंद किए जा सकते हैं, इससे प्रोडक्शन प्रभावित होगा। अगर हरिकेन ज्यादा एक्टिव रहता है तो क्रूड प्रोडक्शन ज्यादा दिनों के लिए प्रभावित हो सकता है।
 
 
56 डॉलर का लेवल टूटा तो 60 डॉलर तक पहुंचेंगे भाव
केडिया कमोडिटी के अजय केडिया का कहना है कि क्रूड को लेकर अभी ग्लोबल मार्केट में अनिश्चितता बनी रहेगी, जिससे आगे क्रूड में तेजी के हालात बनते नजर आ रहे हैं। अभी क्रूउ की कीमतें 53.3 डॉलर प्रति बैरल पर है। आगे अगर 56 डॉलर प्रति बैरल का लेवल टूटता है तो क्रूड इस फाइनेंशियल ईयर के तीसरे क्वार्टर तक 60 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है। 
 
2 महीनों के अंदर 57 डॉलर पार कर सकती हैं कीमतें
गोल्डमैन सैश की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले दिनों में ग्लोबल डिमांड बढ़ेगी। लेकिन ओपेक देशों द्वारा प्रोडक्शन एक तय लिमिट में ही होगा, जिससे डिमांड यूएस की ओर शिफ्ट होगी। ऐसे में क्रूड ऑयल की कीमतों में बढ़ोतरी हो सकती है। रिपोर्ट के अनुसार ग्लोबल मार्केट में अगले 2 महीनों में क्रूड की कीमतें 57 डॉलर प्रति बैरल तक जा सकती हैं। इस साल के सेकंड हॉफ में भी क्रूड की कीमतें 55 डॉलर प्रति बैरल से नीचे नहीं आने पाएंगी।
 
अगली स्लाइड में, जानें किन स्टॉक्स में करें निवेश 
 
 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY