Home » Market » StocksMoodys withdraws RCom s corporate family rating on default

Moody's ने वापस ली Rcom की कॉर्पोरेट फैमिली रेटिंग, बॉन्ड के डिफॉल्ट पर फैसला

अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) को एक और झटका लगा है।

1 of

 

नई दिल्ली. अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) को एक और झटका लगा है। मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने डॉलर बॉन्ड से संबंधित पेमेंट के डिफॉल्ट का हवाला देते हुए शनिवार को कर्ज से डूबी कंपनी की कॉर्पोरेट फैमिली रेटिंग की वापस ले ली है।

 

 

मूडीज ने वापस ली रेटिंग

मूडीज ने एक स्टेटमेंट में कहा, 'मूडीज ने आरकॉम की 'सीए' कॉर्पोरेट फैमिली रेटिंग यानी सीएफआर वापस ले ली है और उसका आउटलुक निगेटिव कर दिया है।' मूडीज की वेबसाइट के मुताबिक सीएफआर मैनेजमेंट कंट्रोल के अंतर्गत आने वाली सभी इकाइयों पर लागू होती है। इसमें 'सीए' सबसे ज्यादा कमजोर रेटिंग और मूलधन व इंटरेस्ट की रिकवरी की संभावनाओं के लिहाज से डिफॉल्ट या काफी हद तक उसके नजदीक है।

 

 

इंटरेस्ट पेमेंट का किया डिफॉल्ट

विदेशी बॉन्ड पर इंटरेस्ट पेमेंट के डिफॉल्ट के क्रम में रेटिंग वापस ली जाती है। मूडीज ने कहा, '30 करोड़ डॉलर के सीनियर सिक्योर्ड बॉन्ड पर छमाही इंटरेस्ट पेमेंट 6 नवंबर, 2017 को करना था। इंडडेंचर यानी समझौते के मुताबिक कंपनी को 7 दिन का ग्रेस पीरियड मिला था, जिसके बाद उसे डिफॉल्ट मान लिया गया।'

 

 

आरकॉम ने क्या कहा

इस फैसले की वजह बताते हुए मूडीज ने कहा कि रेटिंग वापस ले ली गई, क्योंकि इंटरेस्ट या मूलधन के पेमेंट से चूकने को 'डिफॉल्ट' समझा जाता है। इस महीने की शुरुआत में आरकॉम ने कहा था कि कंपनी स्ट्रैटजिक डेट रिस्ट्रक्चरिंग स्कीम और दिसंबर, 2018 तक के डेट स्टैंडस्टिल पीरियड को देखते हुए किसी लेंडर या किसी बॉन्डहोल्डर को इंटरेस्ट या मूलधन का पेमेंट नहीं कर रही है।

 

 

 

आरकॉम पर है 44300 करोड़ का कर्ज

घाटे में चल रही आरकॉम पर कर्ज बढ़कर 44,300 करोड़ रुपए हो चुका है। वहीं कंपनी अपने 30 नवंबर तक अपने 2जी और 3जी मोबाइल टेलीफोनी बिजनेस को बंद करने का ऐलान कर चुकी है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट