बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksJio के चक्कर में बिके इन 4 कंपनियों के बिजनेस, बदला पूरा खेल

Jio के चक्कर में बिके इन 4 कंपनियों के बिजनेस, बदला पूरा खेल

जब से टेलिकॉम इंडस्‍ट्री में रिलायंस Jio की एंट्री हुई है, तभी से दूसरी टेलिकॉम कंपनियों की परेशानी बढ़ने लगी है।

1 of

नई दिल्‍ली... जब से टेलिकॉम इंडस्‍ट्री में रिलायंस Jio की एंट्री हुई है, तभी से दूसरी टेलिकॉम कंपनियों की परेशानी बढ़ने लगी है। छोटी- बड़ी लगभग हर कंपनियां अपने कस्‍टमर्स को लुभाने के लिए प्राइस और डाटा वार में कूद पड़ीं हैं। लेकिन इसका नुकसान ये हुआ कि इनमें से अधिकतर कंपनियों के कारोबार बिकने लगे हैं। कुछ ने दूसरी बड़ी टेलिकॉम कंपनियों का सहारा लिया, तो कोई कारोबार समेटने की तैयारी में है। आज हम आपको इस रिपोर्ट में उन्‍हीं टेलिकॉम कंपनियों के बारे में बताने जा रहे हैं।  आगे पढ़ें - कैसे कंपनियों का बिका कारोबार

 

 

 

 

 

 

 

 

वोडा-आइडिया

टेलिकॉम सेक्‍टर की दो बड़ी कंपनियां आइडिया सेल्‍युलर और वोडाफोन इंडिया के बिजनेस पर Jio का बड़ा  असर पड़ा। ये कंपनियां अपने टावर बिजनेस को अमेरिकी ग्रुप ATC टेलीकॉम इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को बेचने वाली हैं। दोनों कंपनियों के पूरे देश में अभी 20,000 टावर हैं। इसके अलावा वोडाफोन इंडिया और आइ‍डिया के बीच मर्जर भी हो रहा है। यह मर्जर 1.5 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा का है । इन कंपनियों के तिमाही रिजल्‍ट पर भी इसका असर दिख रहा है। पिछले क्‍वार्टर के रिजल्‍ट को देखें तो आइडिया को घाटा हो रहा है वहीं वोडाफोन के मुनाफे में भी गिरावट आई है।  आगे पढ़ें - जियो ने कैसे किया प्रभावित 

आरकॉम

 

रिलायंस जियो के मालिक मुकेश अंबानी के भाई अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्‍युनिकेशन का बिजनेस भी लगातार घाटे में चल रहा है। यही वजह है कि कंपनी ने 1  दिसंबर से वॉइस कॉल सर्विस को बंद करने का एलान किया है। रिलायंस कम्‍युनिकेशंस फिलहाल 44 हजार करोड़ रुपए के कर्ज के बोझ से दबी है। कंपनी एयरसेल के साथ मर्जर करना चाहती थी, लेकिन यह डील संभव नहीं हो सकी। आगे पढ़ें - जियो ने कैसे किया प्रभावित 

एयरसेल

 

पिछले कुछ दिनों से मीडिया में जो खबरें चल रही हैं उसके मुताबिक टेलिकॉम ऑपरेटर एयरसेल भारत में अपना कारोबार बंद कर सकती है। दरअसल, एयरसेल कर्जे में है और उसे काफी घाटा भी हो चुका है। इसके अलावा रिलायंस कम्युनिकेशन और एयरसेल के बीच होने वाला मर्जर भी कैंसल होने से कमाई की उम्‍मीद खत्‍म हो गई है।

 

 

टेलीनॉर

 

यूनिनॉर के नाम से भारतीय मार्केट में एंट्री लेने वाली कंपनी टेलीनॉर के साथ भी सब कुछ ठीक नहीं रहा। जियो की कॉम्‍पिटिशन की वजह से कंपनी का भारती एयरटेल के साथ मर्जर हो गया है। भारत में टेलिनॉर ने 2009 में यूनिटेक के साथ ज्‍वाइंट वेंचर (यूनिनॉर) में अपना बिजनेस शुरू किया था। हालांकि बाद में कंपनी अलग हो गई।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट