Home » Market » Stocksinvest in these stocks as logistics sector get infrastructure status

इंफ्रा का दर्जा मिलने से लॉजिस्टिक्स शेयरों में बने निवेश के मौके, ऐसे बनाएं स्ट्रैटजी

केंद्र सरकार ने लॉजिस्टिक्स सेक्टर को इंफ्रा का दर्जा दे दिया है।

1 of

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने लॉजिस्टिक्स सेक्टर को इंफ्रा का दर्जा दे दिया है। इसमें मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क, वेयरहाउस और कोल्ड चेन भी शामिल हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि लॉजिस्टिक्स को इंफ्रा का दर्जा मिलने से इस सेक्टर में निवेश बढ़ेगा, डोमेस्टिक और एक्सटरनल डिमांड बढ़ेगी। वहीं, अब सेक्टर को सस्ते दरों पर कर्ज मिल सकेगा और जीडीपी में इसकी हिस्सेदारी बढ़ेगी। ऐसे में लॉजिस्टिक्स सेक्टर में आगे अच्छी ग्रोथ की उम्मीद है। 

 

 

सस्ते दर पर मिलेगा कर्ज
एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंफ्रास्ट्रक्चर का स्टेटस मिलने से लॉजिस्टिक्स कंपनियों को सस्ते दर पर कर्ज मिलेगा। बैंक उन कंपनियों को सस्ते दर पर कर्ज उपलब्ध कराती है जिनका आर्थिक विकास में योगदान होता है। जीडीपी में लॉजिस्टिक्स की हिस्सेदारी बढ़ने से इनको अब बैंकों से सस्ते दर पर कर्ज मिलने में आसानी होगी।

 

लॉजिस्टिक्स सेक्टर में बढ़ेगा निवेश
ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डारेक्टर संदीप जैन के मुताबिक आने वाले दिनों में इस सेक्टर में निवेश बढ़ने की उम्मीद है। तमाम विकसित देशों की तुलना में भारत में लॉजिस्टिक कॉस्ट बहुत ज्यादा है। लॉजिस्टिक कॉस्ट ज्यादा होने के चलते इस सेक्टर में डोमेस्टिक और एक्सपोर्ट मार्केट में कम्पटीशन कम है। इंफ्रा का दर्जा मिलने से इस सेक्टर में निवेश बढ़ेगा, जिससे ये दिक्कतें दूर होंगी।

 

वहीं स्टैल्यन एसेट डॉट कॉम के फाउंडर अमित जेसवानी का कहना है कि इंफ्रा स्टेटस मिलने से उन कंपनियों को फायदा होगा जिनको डेट की ज्यादा जरूरत है। उनको इंश्योरेंस कंपनियों और पेंशन फंड्स से लॉन्ग टर्म के लिए लोन मिलने की संभावना बढ़ी है। इसके साथ ही वे राज्य के स्वामित्व वाली फाइनेंसर इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंसिंग कंपनी लिमिटेड से लोन लेने के लिए योग्य हो गए हैं।

 

सप्लाई चेन में आएगा सुधार
यस सिक्युरिटीज की सीनियर वाइस प्रेसीडेंट और हेड ऑफ रिसर्च निताशा शंकर ने कहा कि बैंकों से सस्ते कर्ज मिलने से लॉजिस्टिक्स कंपनियों को अपना विस्तार करने में मदद मिलेगी। इससे कंपनियों का सप्लाई चेन में सुधार आएगा जो अभी इस सेक्टर की सबसे बड़ी समस्या है।

 

 

आगे पढ़ें- इन स्टॉक्स में बने निवेश के मौके

 

ऑलकार्गो लॉजिस्टिक्स
हाई कॉस्ट और लो मार्जिन लॉजिस्टिक्स सेग्मेंट पर हमेशा बोझ रहा है। इंफ्रा का दर्ज मिलने से कंपनी को राहत मिलेगी। ऑलकार्गो देश भर में लॉजिस्टिक्स पार्क बनाने की योजना बना रही है। इसके लिए कंपनी को 700 से 1000 करोड़ रुपए की जरूरत होगी। ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डायरेक्टर संदीप जैन ने ऑलकार्गो लॉजिस्टिक्स में 225 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है। 

 

 

गति
फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर ने लॉजिस्टिक्स कंपनी गति में निवेश की सलाह दी है। उनका कहना है कि इंफ्रा का दर्ज मिलने से कंपनी को अपना विस्तार करने के लिए सस्ते दर पर कर्ज मिलेगा। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट पर सरकार के बूस्ट का यह एक हिस्सा है। फाइनेंशियल ईयर 2018 के सितंबर क्वार्टर में कंपनी का प्रॉफिट 181.1 फीसदी बढ़कर 20.8 करोड़ रुपए रहा है। उन्होंने गति में 160 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है।


वीआरएल लॉजिस्टिक्स
स्टैल्यन एसेट डॉट कॉम के फाउंडर अमित जेसवानी का कहना है कि कंपनी का आउटलुक स्ट्रॉन्ग है। इंफ्रा का दर्जा मिलने से कंपनी को अपनी कैपेसिटी बढ़ाने में मदद मिलेगी। कंपनी देश की बड़ी और लिडिंग ट्रांसपोर्टेशन और लॉजिस्टिक्स कंपनियों में से एक है। जेसवानी ने स्टॉक्स में 450 रुपए के टारगेट के साथ खरीददारी की सलाह दी है। सितंबर क्वार्टर में कंपनी का नेट प्रॉफिट 56.5 फीसदी बढ़कर 21.6 करोड़ रुपए रहा है। 

आगे पढ़ें- इन स्टॉक्स में भी हैं मौके

नवकार कॉरपोरेशन 
एंजेल ब्रोकिंग के एवीपी रिसर्च अमरजीत मौर्या ने नवकार कॉरपोरेशन लिमिटेड में निवेश की सलाह दी है। उनका कहना है कि कंपनी आगे अपना विस्तार जारी रखेगी। इंफ्रा का दर्जा मिलने से विस्तार के लिए कम ब्याज दर पर कर्ज मिलने से कंपनी को फायदा होगा। मौर्या ने स्टॉक में 265 रुपए के टारगेट के साथ खरीददारी की सलाह दी है।

 

 

एबीसी इंडिया
SMC इन्वेस्टमेंट्स एंड एडवाइजर्स लिमिटेड के रिसर्च हेड सचिन सर्वदे ने एबीसी इंडिया में खरीददारी की सलाह दी है। यह ट्रांसपोर्ट कार्गो की 50 साल से ज्यादा पुरानी कंपनी है। कंपनी का मार्केट कैप 52 करोड़ रुपए है। कंपनी ट्रांसपोर्टेशन, फ्रेट फॉरवर्डिंग, इंफ्रास्ट्रक्चर लॉजिस्टिक्स और लॉजिस्टिक्स एंड वेयरहाउसिंग सर्विस में कार्यरत है। सचिन ने स्टॉक में 150 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है।

 

 

(नोट- यहां दी गई सभी सलाह मार्केट एक्सपर्ट्स की सलाह के आधार पर हैं। हर स्टॉक से जुड़े अपने जोखिम होते है, इसलिए सलाह है कि अपने स्तर पर जांच या अपने एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही निवेश का फैसला लें।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट