Home » Market » StocksUIDAI approved the plans for linking the SIM to AADHAR from home

घर बैठे-बैठे ऐसे आधार से लिंक होगा सिम, UIDAI ने दी सुविधा

मोबाइल सिम को आधार से घर पर बैठे-बैठे लिंक कराने की योजना को आज UIDAI ने मंजूरी दे दी।

1 of

 

नई दिल्‍ली. मोबाइल सिम को आधार से घर पर बैठे-बैठे लिंक कराने की योजना को आज यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने मंजूरी दे दी। मोबाइल उपभोक्‍ताओं को यह सुविधा 1 दिसंबर से मिलने लगेगी। इसके बाद वह तीन तरीकों से घर से ही अपने सिम को आधार से लिंक करा सकेंगे।

 

टेलीकॉम कंपनियों को योजना बनाने की मिली थी जिम्‍मेदारी

टेलीकॉम कंपनियों को मोबाइल उपभोक्‍ताओं को घर पर ही सिम को आधार से लिंक कराने के लिए तीन तरीके सरकार ने सुझाए थे। इन तरीकों के आधार पर कंपनियों को योजना बनानी थी जिसे UIDAI के सामने पेश किया जाना था। मोबाइल कंपनियां आज यह प्‍लान लेकर UIDAI के पास गई थीं, जहां इसको मंजूरी दे दी गई। UIDAI के प्रमुख अजय भूषण पांडे ने इस बात आज घोषणा की। उन्‍होंने बताया कि मोबाइल कंपनियों को 1  दिसंबर से इस योजना को शुरू करने की मंजूरी दी गई है, जिससे उपभोक्‍ता घर से ही अपन सिम को अाधार से लिंक करा सकेंगे। उन्‍होंने बताया कि इस प्रोसेस को सिम रिवेरिफिकेशन के नाम से जाना जाएगा।

 

6 फरवरी के बाद काम नहीं करेंगे सिम

सुप्रीम कोर्ट ने 6 फरवरी 2018 तक सभी सिम को आधार से लिंक कराने का आदेश दिया है। इस आदेश के तहत अगर तय समय सीमा के अंदर किसी का सिम आधार से लिंक नहीं होगा तो उसकी सर्विस बंद कर दी जाएगी।

 

अागे पढ़ें : यह है पहला तरीका

 

 

 

एप या आईवीआरएस माध्‍यम से

कंपनियां इसके लिए एप जारी करेंगी। लोग अपनी-अपनी मोबाइल कंपनियों के एप डाउनलोड कर सकते हैं। इस एप के माध्‍यम से भी सिम को आधार से लिंक कराया जा सकेगा। इसके अलावा IVRS (इंटरेक्टिव वॉयल रिक्‍गनीशन सर्विस) के माध्‍यम से भी सिम को आधार से लिंक कराया जा सकेगा। एप और IVRS माध्‍यम में लोग सीधे मोबाइल कंपनियों के सर्वर से जुड़ेंगे। सर्वर पर कंप्‍यूटराइज्‍ड तरीके से लोगों को अपना डिटेल देना होगा, इसके बाद उनका सिम आधार से लिंक हो जाएगा।

 

अागे पढ़ें : यह है तीसरा तरीका

 

 

 

बीमारों लोगों के घर जाकर सिम काे आधार से लिंक करेंगी कंपनियां

नई व्‍यवस्‍था में गंभीर रूप से बीमार, विकलांग और वरिष्‍ठ ना्गरिकों को सुविधा दी गई है कि वह मोबाइल कंपनियों से घर पर आकर सिम को आधार से लिंक कराने के लिए कह सकते हैं। इसमें मोबाइल कंपनियों का प्रतिनिधि बॉयोमैट्रिक मशीन लेकर ऐसे लोगों के घर जाएगा और प्रॉसेस पूरा करेगा।

 

पुराना तरीका भी काम करता रहेगा

इन नए तरीकों के आने के बाद भी पुराना तरीका काम करता रहेगा। इसमें लोग अपनी मोबाइल कंपनियों के ऑफिस या उनकी तरफ से तय जगहों पर जाकर भी अपने सिम को आधार से लिंक करा सकते हैं।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट