विज्ञापन
Home » Market » StocksHe became millionaire in just investment of Rs 1 lakh

नौकरी छोड़ 1 लाख में शुरू किया बिजनेस, 2 साल में बन गए करोड़पति

आइए, जानते हैं दीपक के शानदार सफर के बारे में।

1 of
नई दिल्ली. नौकरी छोड़ बिजनेस शुरू करने का रिस्क बहुत कम लोग ही उठाते हैं। लेकिन जो ऐसा रिस्क उठाते हैं, उनको बिजनेस में सफलता मिलती है। कोलकाता के रहने वाले दीपक अग्रवाल की कहानी कुछ ऐसी ही है। सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक की नौकरी से ऊब चुके अग्रवाल ने 70 हजार रुपए महीने की सैलरी वाली अच्छी खासी नौकरी छोड़ दी और खुद का बिजनेस शुरू किया। अपनी लगन के दम पर यह शख्स महज 2 साल में करोड़पति बन गया।

दीपक अग्रवाल ने moneybhaskar.com से बातचीत में कहा कि कॉमर्स में ग्रैजुएशन के साथ उन्होंने सीए और सीएस की पढ़ाई भी की। 2010 में ग्रैजुएशन के बाद वह दिल्ली आ गए और यहां उन्हें एक बिजनेस कंसल्टिंग फर्म में 18,500 रुपए मंथली की नौकरी मिली। फैमली बैकग्राउंड बिजनेस होने के कारण उनका मन नौकरी में नहीं लगा। एक बिजनेस आइडिया आया और फिर वनएक्स सॉल्यूशंस की शुरुआत हुई। आइए, जानते हैं दीपक के शानदार सफर के बारे में।
आइए, जानते हैं दीपक के शानदार सफर के बारे में। 
 
 
अगली स्लाइड में- कितने रुपए में की शुरुआत

1 लाख में शुरू किया बिजनेस
 
दीपक ने जब नौकरी छोड़ तब उनकी सैलरी 70,000 रुपए थी। नौकरी छोड़ने के बाद दीपक ने डिजिटल एडवरटाइंजिंग में हाथ आजमाने की सोची। उन्होंने देखा, डिजिटल क्रांति का फायदा रिटेल सेक्टर और बिजनेसमैन नहीं उठा पा रहे थे। उन्होंने अपने क्लाइंट को डाटा बेस के फायदे के बारे में बताया। उन्हें बताया कि कस्टमर्स का कॉन्टैक्ट नंबर और ई-मेल एड्रेस का डाटा बेस बनाना कितना जरूरी है। उन्होंने खुद की बचत के 1 लाख रुपए की रकम से वनएक्स सॉल्यूशंस की शुरुआत की।
 

अगली स्लाइड में- क्या है बिजनेस मॉड्यूल
एसएमएस से कस्टमर्स को करते हैं अपडेट
 
वनएक्स सॉल्यूशंस ब्लक शॉर्ट मैसेज सर्विस (एसएमएस) बिजनेस में डील करती है। कंपनी अपने क्लाइंट के लिए उनके कस्टमर्स को एसएमएस भेजकर नए ऑफर्स और सर्विस के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती है। 160 कैरेट के एक एसएमएस का चार्ज 12 पैसे होता है।
 

अगली स्लाइड में- 2 साल में कितना हुआ टर्नओवर
1 करोड़ के पार हुआ टर्नओवर
 
पहले साल में कंपनी का टर्नओवर 32 लाख रुपए के करीब हुआ। कंपनी से करीब 500 क्लाइंट पहले साल जुड़े। अच्छी सर्विस मिलने से कंपनी को रेफरिंग से और क्लाइंट मिलने शुरू हुए। क्लाइंट बेस बढ़ने पर दीपक ने अपना ऑफिस घर से शिफ्ट किया और कोलकाता के लाल बाजार में 20,000 रुपए महीने पर एक ऑफिस किराए पर लिया। 2015-16 में साल में 2500 क्लाइंट के साथ कंपनी का टर्नओवर 1 करोड़ रुपए के पार हो गया। कंपनी में ग्रोथ जारी रही और 2016-17 में कंपनी का टर्नओवर 2.25 करोड़ रुपए रहा। कंपनी के पास अब 3000 क्लाइंट हैं।
 

अगली स्लाइड में- कंपनी दे रही है फ्रेंचाइजी
4 लाख में मिलेगी फ्रेंचाइजी
 
दीपक ने बताया कि वो बिजनेस को अन्य शहरों में बढ़ाने के उद्देश्य से वनएक्स सॉल्यूशंस की फ्रेंचाइजी देना शुरू किया है। कंपनी की फ्रेंचाइजी के लिए 4 लाख रुपए खर्च करने होंगे। यह रिफंडेबल सिक्युरिटी डिपॉजिट के तौर पर लिया जाता है। फिलहाल कंपनी के पास एडिडास, एचयूएल, तनिष्क, पिज्जा हट, शॉपर्स स्टॉप, बाटा जैसे नामी क्लाइंट है। दीपक का लक्ष्य इस साल कंपनी का टर्नओवर 5 करोड़ रुपए के पार करना है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन