Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Market »Stocks» Market Cap To GDP Ratio Near 100 Suggest Caution

    ऊंचे स्तर पर पहुंचे मार्केट में करेक्शन के संकेत, जानिए क्या है एक्सपर्ट्स की राय

    नई दिल्ली।रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचे स्टॉक मार्केट में सोमवार को प्रॉफिट बुकिंग देखने को मिली है। माना जा रहा है वैल्यूएशन महंगी होने की वजह से कई स्टॉक्स में निवेशकों ने प्रॉफिट निकाला है। जीडीपी के मुकाबले मार्केट कैप के रेश्यो में बढ़त से वैल्यूएशन के महंगे होने के संकेत मिले हैं। हालांकि आने वाले अर्निंग सीजन में बेहतर नतीजों की उम्मीद से एक्सपर्ट मान रहें हैं कि सीमित करेक्शन के साथ मार्केट में बढ़त का दौर जारी रह सकता है।     
     
    मार्केट कैप टू जीडीपी रेश्यो में बढ़त
     
    घरेलू मार्केट में मार्केट कैप टू जीडीपी रेश्यो में बढ़त देखने को मिल रही है, हालांकि अभी भी ये 100 फीसदी के स्तर से नीचे बना हुआ है। स्टॉक मार्केट में तेजी के बाद पहली बार बीएसई का मार्केट कैप 120 लाख करोड़ के स्तर से ऊपर पहुंच गया है। हालांकि पूरे साल औसत मंथली मार्केट कैप 109 लाख करोड़ के आसपास रहा है। दूसरी तरफ जनवरी में जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 2016-17 में रियल जीडीपी या कॉन्सटेंट प्राइस पर जीडीपी 122 लाख करोड़ के स्तर पर पहुंच सकती है। वहीं 2016-17 के लिए कॉन्सटेंट प्राइस पर ग्रॉस वैल्यू एडेड 112 लाख करोड़ के स्तर पर रहने का अनुमान दिया गया है।  मोटे तौर पर माना जाता है कि जब किसी देश के इक्विटी मार्केट का मार्केट कैप उस देश की जीडीपी से ज्यादा हो जाता है तो वैल्यूएशन महंगे माने जाते हैं।
     
    इसे वॉरेन बफे इंडीकेटर भी कहते हैं, क्योंकि बफे ने इस इंडीकेटर ब्रॉड मार्केट के लिए सबसे अहम इंडीकेटर मान है। इंडीकेटर के मुताबिक 100 फीसदी से ऊपर रेश्यो के पहुंचने पर मार्केट निवेश के लिए महंगा हो जाता है। हालांकि इस समय जब घरेलू स्टॉक मार्केट का रेश्यो 100 फीसदी से कम है, अमेरिकी मार्केट सहित कई एशियाई मार्केट के रेश्यो 130 फीसदी से ऊपर बने हुए हैं। रेश्यो पर इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च के एनालिस्ट उदित करीवाला के मुताबिक किसी बड़ी इकनॉमी के वैल्यूएशन या प्रदर्शन के बारे में सिर्फ एक इंडीकेटर के आधार पर कुछ नहीं कहा जा सकता है। दरअसल कई फैक्टर प्रदर्शन पर असर डालते हैं ऐसे में मार्केट के वैल्यूएशन को किसी एक रेश्यो के आधार पर तय नहीं किया जा सकता।  
     
    मार्केट वैल्यूएशन पर क्या है एक्सपर्ट्स की राय
    मनी भास्कर के साथ बातचीत में मोतीलाल ओसवाल के इक्विटी एडवाइजरी ग्रुप के वाइस प्रेजीडेंट राहुल शाह ने कहा कि निफ्टी और सेंसेक्स के साथ लार्ज कैप स्टॉक के वैल्यूएशन फिलहाल महंगे लग रहे हैं। वहीं क्रिस रिसर्च के सीईओ अरुण केजरीवाल के मुताबिक अगर मार्केट ऑल टाइम हाई पर पहुंचा है तो इसका मतलब साफ है कि वैल्यूएशन सस्ते नहीं हैं। जियोजित बीएनपी पारिबा के एवीपी गौरांग शाह के मुताबिक घरेलू मार्केट अभी भी मजबूत हैं। हालांकि कुछ सेक्टर में वैल्यूएशन ऊंचे हैं वहीं मार्केट भी ऊंचे स्तर पर बने हुए हैं। ऐसे में मार्केट में करेक्शन देखने को मिल सकता है।
     
    आगे जानिए क्या हो निवेश की रणनीति 

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY