बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksबैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 35% घटकर 355 करोड़ रहा, NPA घटकर 5.05%

बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 35% घटकर 355 करोड़ रहा, NPA घटकर 5.05%

फाइनेंशियल ईयर 2018 की दूसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 35 फीसदी घट गया है।

1 of

 

नई दिल्ली. फाइनेंशियल ईयर 2018 की दूसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 35 फीसदी घट गया है। इस दौरान कंपनी का मुनाफा 355 करोड़ रुपए रहा है। पिछले फाइनेंशियल ईयर की दूसरी तिमाही में बैंक को 552 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। दूसरी तिमाही में बैंक अपना एनपीए कम करने में कामयाब रहा है।

आय 3.6 फीसदी बढ़ी

दूसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा की आय 3.6 फीसदी बढ़कर 12490 करोड़ रुपए रही है। पिछले फाइनेंशियल की दूसरी तिमाही में बैंक को 12047 करोड़ रुपए की आय हुई थी। वहीं बैंक का प्रोविजनिंग कवरेज रेश्‍यो 30 सितंबर को 67.18 फीसदी था। पिछली तिमाही की तुलना में बैंक ऑफ बड़ौदा की प्रोविजनिंग 2368.1 करोड़ रुपए से घटकर 2329.4 करोड़ रुपए रही है, जबकि पिछले फाइनेंशियल की दूसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा की प्रोविजनिंग 1795.8 करोड़ रुपए रही थी।

 

नेट NPA में आई कमी

फाइनेंशियल ईयर 2018 की दूसरी तिमाही में बैक ऑफ बड़ौदा का नेट एनपीए 5.17 फीसदी से घटकर 5.05 फीसदी रहा है। वहीं, इस दौरान ग्रॉस एनपीए 11.40 फीसदी की तुलना में 11.16 फीसदी रहा। रुपए के टर्म में सितंबर तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का ग्रॉस एनपीए 46173 करोड़ रुपए से बढ़कर 46306 करोड़ रुपए हो गया है। वहीं, बैंक ऑफ बड़ौदा का नेट एनपीए 19,519.3 करोड़ रुपए से बढ़कर 19,572.6 करोड़ रुपए हो गया है।

 

कुल डिपॉजिट 5,83,212 करोड़ रुपए 
बैंक का कुल बिजनेस 5.30 फीसदी बढ़कर 9,28,681 करोड़ से 9,70,514 करोड़ रुपए हो गया है। वहीं, दूसरी तिमाही में कुल डिपोजिट 567531 करोड़ रुपए से बढ़कर 5,83,212 करोड़ रुपए हो गई हे। इस दौरान डोमेस्टिक डिपॉजिट 4,04,770 करोड़ से बढ़कर 4,47,593 करोड़ रुपए रहा है। इसमें 10.58 फीसदी ग्रोथ रही है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट