बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksआज 100 साल का हो गया 1 रुपए का नोट, ऐसा रोचक है इतिहास

आज 100 साल का हो गया 1 रुपए का नोट, ऐसा रोचक है इतिहास

कल यानी गुरुवार को 1 रुपए के नोट की 100वीं सालगिरह है। जी हां, सही पढ़ा आपने।

1 of

नई दिल्‍ली। कल यानी गुरुवार को 1 रुपए के नोट की 100वीं सालगिरह है। जी हां, सही पढ़ा आपने। दरअसल, ठीक 100 साल पहले 30 नवंबर 1917 को पहली बार 1 रुपए का नोट प्रिंट हुआ था। उस नोट में ब्रिटेन के किंग जॉर्ज V की तस्‍वीर थी। 

 

दो बार 1 रुपए की  प्रिंटिंग बंद  


रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की वेबसाइट के मुताबिक 1926 में इसे बंद कर दिया गया। तब यह तर्क दिया गया कि 1 रुपए के नोट की प्रिंटिंग में जितनी लागत है उतना लाभ नहीं है। हालांकि 1940 में एक बार फिर इस नोट की छपाई शुरू हो गई। लेकिन एक बार फिर 1994 में 1 रुपए के नोट की प्रिंटिंग बंद कर दी गई। हालांकि मोदी सरकार के कार्यकाल में 1 रुपए के नोट की वापसी हुई और 2015 में एक बार फिर प्रिंटिंग शुरू की गई।  

 

हैंडमेड पेपर से बना था 1917 वाला नोट


- 1917 में इंग्लैंड में छपे नोट हैंडमेड पेपर से बने थे। उस पर वॉटर मार्क की दो वैरायटी थीं। उस वक्त ऐसे नोट ब्रिटिश ईस्ट अफ्रीका (जो अब केन्या, यूगांडा और तंजानिया है) में भी चलते थे। इस पर एमएमएस ग्यूब्बे के साइन थे। 
- जॉर्ज-V के वक्त 5 तरह के अफसरों के साइन वाले नोट जारी किए गए थे। 
- जॉर्ज VI के वक्त सिर्फ एक तरह का नोट जारी हुआ उस पर सीई जोन्स के साइन थे। यह 1944 में जारी हुआ और 1957 में इसे विड्रॉ कर लिया गया।
- आजाद भारत में 1949 से 1994 तक 18 अफसरों के साइन वाले एक रुपए के नोट जारी किए गए।

 

नए नोट का रंग गुलाबी-हरा


- रिजर्व बैंक ने 2017 के बीच एक रुपए के नए नोट जारी किए, जिनका रंग गुलाबी और हरा है। पुराने नोट इंडिगो रंग के होते थे।


- एक रुपए का नोट भारत सरकार जारी करती है। ऐसे में इसके ऊपर भारत सरकार और उसके नीचे अंग्रेजी में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया छपा होता है। इसके अलावा बाकी सभी नोट रिजर्व बैंक जारी करता है, इसलिए इसके ऊपर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया छपा होता है।


- एक रुपए के नोट पर रिजर्व बैंक के गवर्नर की जगह सेंट्रल गवर्नमेंट के फाइनेंस सेक्रेटरी के साइन होते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट