Home » Market » Stocksपैनी स्‍टॉक ने दिया 37000 फीसदी रिटर्न - Penny Stock gives 37000 Per cent Returned

जब फ्रॉड और NPA से जूझ रहे थे बैंक, इस कंपनी ने दिया 37 हजार फीसदी का रिटर्न

देश में वित्‍तीय क्षेत्र एक कंपनी ने पिछले 15 साल में दिया 37 हजार फीसदी का रिटर्न।

1 of
 
नई दिल्‍ली. कभी PNB में फ्राॅड ताे कभी बैंकिंग सेक्‍टर में NPA की समस्‍या। पिछले कई सालों से ऐसा ही देश में बैंकिंग सेक्‍टर हाल बना हुआ है। लेकिन वित्‍तीय क्षेत्र की एक कंपनी का पैनी स्‍टॉक ऐसा निकला, जिसने 15 साल में 37 हजार फीसदी का रिटर्न दे दिया। 2003 में यह शेयर 5 रुपए (एडजेस्‍टेट प्राइज) से कम का था, जिसका शुक्रवार को मुम्‍बई शेयर बाजार बंद होने पर भाव 1673 रुपए पर बंद हुआ। 


 
ये स्‍टॉक है बजाज फाइनेंस का
बजाज फाइनेंस आज सेंसेक्‍स की 30 कंपनियों में शामिल है, जिसका मार्केट कैप 1 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया है। 15 साल में इस कंपनी ने पैनी स्‍टॉक से लार्ज कैप का सफर तय किया है। जिसने भी इस शेयर में निवेश किया है वह आज कई लाख रुपए के फायदे में है।
 
 
कंपनी को अच्‍छी भी ग्रोथ की उम्‍मीद
एनालिस्‍ट के साथ बैठक में कंपनी ने आगे भी अच्‍छे प्रदर्शन की उम्‍मीद जताई है। पिछले कुछ सालों में कंपनी ने एएमयू में 40 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की है। कंपनी की आसेट अंंडर मैनेजमेंट वर्ष 2008 में करीब 2500 करोड़ रुपए थी, जो इस वक्‍त 60 हजार करोड़ रुपए है।
 
 

शेयरखान ने भी दी निवेश की सलाह

शेयरखान के वाइस प्रेसीडेंट मृदुल कुमार वर्मा के अनुसार इस स्‍टॉक में निवेश अभी भी निवेश किया जा सकता है। शेयरखान ने अपनी सलाह में कहा है कि 1900 रुपए के टार्गेट के साथ इस स्‍टॉक में निवेश किया जा सकता है। शुक्रवार के बंद भाव के आधार पर स्‍टॉक 14 फीसदी का रिटर्न दे सकता है।

 

 

मोतीलाल ओसवाल ने निवेश की सलाह

मोतीलाल ओसवाल ने इस स्‍टॉक पर रिपोर्ट जारी की है। इसमें निवेश की सलाह दी गई है। रिपोर्ट के अनुसार इसमें 2330 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश किया जा सकता है। शुक्रवार को बंद भाव के हिसाब में इस शेयर में निवेश पर 40 फीसदी का रिटर्न पाया जा सकता है।
 
 
जेएम फाइनेंशियल ने भी दी निवेश की सलाह
निवेश फर्म जेएम फाइनेंशियल फर्म जेएम फाइनेंशियल ने भी इस स्‍टॉक में निवेश की सलाह दी है। जेएम का कहना है कि इस स्‍टॉक में 23 फीसदी रिटर्न के टार्गेट के साथ निवेश किया जा सकता है। शुक्रवार के बंद भाव के हिसाब से यह स्‍टॉक 20 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न दे सकता है।
 
आगे पढ़ें : जानें क्‍या है PNB फ्रॉड
 
 
ये मामला सामने कैसे आया?
- पंजाब नेशनल बैंक ने बुधवार को स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई को बताया कि उसने 1.8 अरब डॉलर (करीब 11,356 करोड़ रुपए) का संदिग्‍ध ट्रांजैक्‍शन पकड़ा है।
- यह फ्रॉड कुछ चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को फायदा पहुंचाने के लिए किए गए थे।
- बैंक के अनुसार, ऐसा लगता है कि इन ट्रांजैक्‍शन के आधार पर विदेश में कुछ बैंकों ने उन्हें (चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को) कर्ज दिया है। ये अकाउंट्स कितने थे, कितने लोगों को फायदा हुआ? इस बारे में अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। यह मामला 2011 से जुड़ा है।
 
कैसे हुआ फ्रॉड?
- इस पूरे फ्रॉड को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) के जरिए अंजाम दिया गया। यह एक तरह की गारंटी होती है, जिसके आधार पर दूसरे बैंक अकाउंटहोल्डर को पैसा मुहैया करा देते हैं। अब यदि अकाउंटहोल्डर डिफॉल्ट कर जाता है तो एलओयू मुहैया कराने वाले बैंक की यह जिम्मेदारी होती है कि वह संबंधित बैंक को बकाये का भुगतान करे।
- पीएनबी के कुछ अफसरों ने नीरव मोदी को गलत तरीके से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) दी। इसी एलओयू के आधार पर मोदी और उनके सहयोगियों ने दूसरे बैंकों से विदेश में कर्ज ले लिया। पीएनबी ने भले ही दूसरे लेंडर्स के नाम का उल्लेख नहीं किया, लेकिन समझा जाता है कि पीएनबी द्वारा जारी एलओयू के आधार पर यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और एक्सिस बैंक ने भी क्रेडिट ऑफर कर दिया था।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट