Home » Market » StocksWalmart may launch IPO for Flipkart in as early as four years

4 साल में आ सकता है फ्लिपकार्ट का IPO, वालमार्ट ने बताई टाइमलाइन

भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी चार साल के भीतर स्टॉक मार्केट में लिस्ट हो सकती है।

1 of

मुंबई. भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट चार साल के भीतर स्टॉक मार्केट में लिस्ट हो सकती है। वालमार्ट इंक ने शनिवार को अमेरिकी रेग्युलेटर में की गई फाइलिंग में कहा कि चार साल के भीतर फ्लिपकार्ट का आईपीओ आ सकता है। गौरतलब है कि अमेरिकी रिटेलर वालमार्ट ने हाल में फ्लिपकार्ट को खरीदने का ऐलान किया है। साथ ही ऐसा पहली बार है, जब फ्लिपकार्ट की संभावित लिस्टिंग की टाइमलाइन पेश की गई है। 

 

निवेश से कम नहीं होगा IPO का वैल्युएशन 
दुनिया की सबसे बड़ी रिटेलर वालमार्ट ने यूएस सिक्युरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन में की गई फाइलिंग में कहा कि वालमार्ट-फ्लिपकार्ट डील पूरी होे के बाद ‘चार साल के भीतर फ्लिपकार्ट का आईपीओ’ लाने की जरूरत पड़ सकती है। फाइलिंग में कहा गया कि वालमार्ट द्वारा भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी में किए गए निवेश की तुलना में कम वैल्युएशन पर आईपीओ नहीं लाया जाना चाहिए।

 

 

वालमार्ट ने 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने का किया है ऐलान 
वालमार्ट ने इस सप्ताह की शुरुआत में घोषणा की थी कि फ्लिपकार्ट की 77 फीसदी स्टेक के लिए वह 16 अरब डॉलर का भुगतान करेगी। वालमार्ट को अपनी अब तक की सबसे बड़ी डील से भारत जैसे अहम मार्केट में अमेजन को टक्कर देने में मदद मिलेगी। इस इन्वेस्टमेंट के साथ बेंगलुरू हेडक्वार्टर वाली कंपनी की वैल्युएशन लगभग 21 अरब डॉलर आंकी गई है। 

 

 

एंटी ट्रस्ट रेग्युलेटर से मंजूरी का इंतजार 
इस डील के बाद कंपनी में बचे माइनॉरिटी स्टेकहोल्डर्स में को-फाउंडर बिनी बंसल, चीन की टेन्सेंट होल्डिंग्स, यूएस हेज फंड टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट और माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प शामिल हैं। इस डील को फिलहाल भारत के एंटी ट्रस्ट रेग्युलेटर से मंजूरी का इंतजार है और इसी साल मंजूरी मिलने का अनुमान है। 

 

 

5 डायरेक्टर नियुक्त करेगी वालमार्ट 
फाइलिंगके मुताबिक डील के तहत वालमार्ट शुरुआत में फ्लिपकार्ट के बोर्ड में 5 डायरेक्टर नियुक्त करेगी, जबकि दो डायरेक्टर की नियुक्ति माइनॉरिटी शेयरहोल्डर्स द्वारा की जाएगी। वहीं एक बोर्ड सीट बंसल को मिलेगी। 
वालमार्ट ने कहा कि फ्लिपकार्ट के मेजॉरिटी डायरेक्टर्स की मंजूरी के बाद वह भविष्य में छठे बोर्ड मेंबर की नियुक्ति कर सकती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss