बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksधरे रह गए 100 करोड़, भारतीय कंपनी को खरीदने में नाकाम हुए चीनी

धरे रह गए 100 करोड़, भारतीय कंपनी को खरीदने में नाकाम हुए चीनी

एक चीनी कंपनी का फोर्टिस को खरीदने के लिए चला गया बड़ा दांव बेकार हो गया है।

1 of

 

नई दिल्ली. एक चीनी कंपनी का फोर्टिस को खरीदने के लिए चला गया बड़ा दांव बेकार हो गया है। कंपनी ने 100 करोड़ का ऐसा ऑफर दिया, जिसे खारिज करना आसान नहीं था। इसके बावजूद चीनी कंपनी के हाथ नाकामी ही लगी। फोर्टिस के अधिग्रहण की होड़ में हीरो और डाबर के हाथ बाजी लगी। हम यहां चीन की कंपनी फोसुन इंटरनेशनल की बात कर रहे हैं।

 

चीनी कंपनी ने चला था 100 करोड़ का दांव

दरअसल भारत के हेल्थ सेक्टर की कंपनी फोर्टिस अपनी बिक्री की प्रक्रिया से गुजर रही है। चीन की कंपनी फोसुन इंटरनेशनल ने इसके लिए हाल में 35 करोड़ डॉलर के निवेश का ऑफर दिया था। लेकिन इसके लिए कंपनी ने ऐसा दांव चला था कि फोर्टिस के लिए फैसला लेना मुश्किल हो गया था। चीनी कंपनी ने फोर्टिस को 100 करोड़ रुपए के शुरुआती निवेश का ऑफर दिया था। इसके लिए फोर्टिस के सामने शर्त रखी थी कि उसे डील पर विचार विमर्श करने और प्रपोजल पर बातचीत पर के लिए एक महीने का एक्सक्लूजिव पीरियड देना होगा।

 

सौंपा 2,295 करोड़ रु के निवेश का प्रपोजल

मंगलवार देर रात बीएसई में दी फाइलिंग में फोर्टिस ने कहा कि उसे फोसुन इंटरनेशनल की इकाई फोसुन हैल्थ होल्डिंग्स लिमिटेड से अनचाहा नॉन बाइंड़िंग एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट मिला है। चीनी कंपनी ने 156 रुपए प्रति शेयर की दर पर 35 करोड़ डॉलर (2,295 करोड़ रुपए) के शुरुआती निवेश का प्रपोजल दिया है।

 

 

कुछ शर्तों पर 100 करोड़ के शुरुआती निवेश का ऑफर

 

कंपनी ने कहा कि 35 करोड़ डॉलर के इस निवेश में 100 करोड़ रुपए का शुरुआती निवेश शामिल है और यह कुछ शर्तों पर निर्भर है। फोसुन द्वारा फोर्टिस के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजे लेटर के मुताबिक, 100 करोड़ रुपए के निवेश की शर्त इस बात पर निर्भर है कि फोर्टिस को विचार-विमर्श और प्रपोजल पर बातचीत के लिए एक महीने का एक्सक्लूसिव पीरियड देना होगा। हालांकि फोसुन की हर कोशिश बेकार हो गई। फोर्टिस के बोर्ड ने मुंजाल और बर्मन के ज्वाइंट ऑफर को मंजूरी दे दी है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट