बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksदो भारतीय कंपनियों पर भारी पड़ा चीन का यह फैसला, डूब गए 2500 करोड़

दो भारतीय कंपनियों पर भारी पड़ा चीन का यह फैसला, डूब गए 2500 करोड़

चीन ने एक फैसला लिया जिसका असर भारतीयों कंपनियों पर हुआ और इस फैसले से दो भारतीय कंपनियों के करोड़ों डूब गए।

1 of

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच डोकलाम मामला भले ही शांत हो गया है, लेकिन टेंशन अभी भी बरकरार है। दोनों देश सीमा विवाद के अलावा आर्थिक मोर्चे पर भी एक-दूसरे को नुकसान पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। इसी क्रम में हाल ही में चीन ने एक फैसला लिया जिसका असर भारतीयों कंपनियों पर हुआ और इस फैसले से दो भारतीय कंपनियों के करोड़ों डूब गए।

 

कैसे भारतीय कंपनियों को हुआ नुकसान

- दरअसल, चीन ने शांक्सी में नई ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स मिल की शुरुआत की है। नई ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स मिल शुरू होने की खबर से भारत में ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स बनाने वाली दो कंपनियों के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। जिससे इन कंपनियों को करोड़ों का घाटा उठाना पड़ा।

 

इस वजह से मिला था फायदा

- चीन में पर्यावरण मसले के चलते सलेक्टेड स्टील और इलेक्ट्रोड बनाने वाली कंपनियां बंद हो गई है। चीन में कंपनियों के बंद होने से बाजार में ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड की आपूर्ति में कमी आई है जिसका फायदा भारतीय कंपनियों को मिला।

 

आगे पढ़ें- इस कंपनी के डूबे 1200 करोड़ रु

 

यह भी पढ़ें- सिर्फ 5 दिन में 1 लाख रु बने 1.36 लाख, यहां मिला इतना रिटर्न

HEG लिमिटेड

 

- एचईजी, ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड मैन्युफैक्चरिंग का काम करती है। कंपनी दुनिया में ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड का एक्सपोर्ट भी करती है।
- मध्य प्रदेश के मंडीदीप में कंपनी का ग्रेफाइट प्लांट है।
- एचईजी के पास ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स बनाने का दुनिया का सबसे बड़ा प्लांट है। कंपनी की सालाना उत्पादन की क्षमता 80,000 टन है। कंपनी का 80 फीसदी रेवेन्यू ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स के बिजनेस से आता है। 
- बता दें कि स्टील को पिघलाने में ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड का इस्तेमाल होता है।
- एचईजी यूएस, यूरोप और पूरे एशिया के ज्यादातर देशों को एक्सपोर्ट करती है।
- कंपनी के पास 76.5 मेगवॉट क्षमता का पावर प्लांट है।

 

1200 करोड़ रुपए डूबे

 

- चीन में पर्यावरण मसले के चलते सलेक्टेड स्टील और इलेक्ट्रोड बनाने वाली कंपनियां बंद होने का फायदा कंपनी को मिला था और साल 2017 में स्टॉक में 1305 फीसदी की तेजी देखने को मिली थी।
- लेकिन चीन में नई ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स मिल खुलने की खबर से कंपनी के स्टॉक में गिरावट आई। जिससे कंपनी के मार्केट कैप में 1,195.43 करोड़ रुपए की कमी आई।

- 15 जनवरी 2018 के स्टॉक का भाव 3073.80 रुपए पर था जो 10.77 फीसदी टूटकर 19 जनवरी को 2,774.85 रुपए पर बंद हुआ।


आगे पढ़ें- इस कंपनी को हुआ 1300 करोड़ का घाटा

ग्रेफाइट इंडिया लिमिटेड

 

- ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स की मैन्युफैक्चरिंग कंपनी ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स लिमिटेड के स्टॉक्स में भी चीन में नई ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स मिल शुरू होने की खबर से गिरावट आई।
- 15 जनवरी 2018 को स्टॉक की कीमत 844.20 रुपए थी। वहीं 19 जनवरी को स्टॉक 779.20 रुपए के भाव पर बंद हुआ। यानी इस दौरान स्टॉक में 8.34 फीसदी की कमजोरी आई।
- स्टॉक में कमजोरी से कंपनी का मार्केट कैप 1267.29 करोड़ रुपए घट गया।
- साल 2017 में स्टॉक में 800 फीसदी से ज्यादा की तेजी देखने को मिली थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट