बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocks52 हजार रु से की शुरुआत, 10 साल में खड़ी कर दी 3300 करोड़ की कंपनी

52 हजार रु से की शुरुआत, 10 साल में खड़ी कर दी 3300 करोड़ की कंपनी

आइए जानते हैं इस शख्स की सफलता के बारे में...

1 of

नई दिल्ली.  अक्सर ये पढ़ने औऱ सुनने को मिलता है कि नौकरी चले जाने पर लोग कोई गलत कदम उठा लेते हैं। लेकिन इस 35 वर्षीय शख्स ने इसके उलट एक मिसाल खड़ी की। साल 2008 की मंदी में नौकरी गंवाने के बावजूद इसने हार नहीं मानी। इससे मिले सबक से अपनी जमापूंजी 800 डॉलर (52 हजार रुपए) से कंपनी शुरू की और 10 साल बाद उसकी कंपनी की वैल्यू 3300 करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई। आइए जानते हैं इस शख्स की सफलता के बारे में...

 

नर्डवॉलेट की रखी नींव

अमेरिका के 35 वर्षीय टिम चेन साल 2008 की मंदी के दौरान बेरोजगार हो गए थे। चार साल तक विभिन्न हेज फंड्स हाउसों में काम करने वाले चेन को क्रिसमस के दिन मालूम चला कि उसकी नौकरी चली गई है। स्टैनफोर्ड से ग्रैजुएट चेन को इस खबर से बड़ा धक्का लगा, क्योंकि वह जीवन में कुछ बनना चाहते थे। हालांकि, आज चेन इसे अपने लिए बहुत अच्छा मानते हैं। उनका मानना है कि अगर उनके यह नहीं होता तो आज वो एक सफल एंत्रप्रेन्योर नहीं होते। 2010 में उन्होंने पर्सनल फाइनेंस वेबसाइट नर्डवैलेट की नींव रखी, जिसके आज मंथली 1 करोड़ से ज्यादा विजिटर्स हैं।

 

आगे पढ़ें, कैसे मिला बिजनेस आइडिया

 

बहन के काम से मिला आइडिया

सीएनबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, चेन को नर्डवॉलेट शुरू करने का आइडिया अपनी बहन से मिले एक काम से मिला। उनकी बहन ऑस्ट्रेलिया में रहती थी। उसने चेन को मेल कर एक क्रेडिट कार्ड के बारे में पता करने के लिए कहा, जिसकी फॉरेन ट्रांजैक्शन फीस सबसे कम हो। गूगल पर खोजने के बाद उनको इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने अपने फाइनेंशियल अनुभव का फायदा उठाते हुए जानकारी इकट्ठा कर अपनी बहन की मदद की।

 

 

52 हजार रुपए से शुरू की कंपनी

यहां उन्हें फाइनेंशियल सर्विसेज में आ रही परेशानियों का पता चला। किसी को अगर ऑटो लोन, होम लोन, इंश्योरेंस लेने हैं तो किस कंपनी सस्ता प्लान है यह मालूम करना काफी मुश्किल था। इसलिए उन्होंने विभिन्न फाइनेंशियल सर्विसेज के फायदे और नुकसान की होने वाली जानकारी को लोगों का बताने के लिए नर्डवॉलेट की शुरुआत की। अपनी जमापूंजी 52 हजार रुपए लगाकर अपने घर से स्टार्टअप शुरू किया। इसमें वेब होस्टिंग और डोमेन फीस के साथ सॉफ्टवेयर फीस शामिल हैं।

 

 

आगे पढ़ें-

पहले साल मामूली हुई कमाई

वेबसाइट लॉन्च होने के 9 महीने बाद पैसे बचाने के लिए मजबूरन गर्लफ्रेंड के घर शिफ्ट होने पड़ा। 16 से 20 घंटे काम करने के बावजूद पहले साल सिर्फ 5 हजार रुपए (75 डॉलर) की आमदनी हुई। लेकिन दूसरे साल कंपनी का रेवेन्यू 40 लाख रुपए (60,000 डॉलर) पहुंच गई। फिर यहां से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। धीरे-धीरे वेबसाइट पर विजिटर्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई। साल 2015 में नर्डवॉलेट ने 703 करोड़ रुपए (10.5 करोड़ डॉलर) का फंड जुटाया।

 

 

ऐसे होती है कमाई

कंपनी को रेवेन्यू फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी से जेनरेट होती है। पाठक द्वारा क्रेडिट कार्ड या कोई और प्रोडक्ट नर्डवॉलेट साइट पर क्लिक कर साइन अप किए जाने पर पैसे मिलते हैं। 52 हजार रुपए से शुरू की गई उनकी कंपनी की वैल्यू 3300 करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट