Home » Market » Stocksएक आरोप से इस इंडियन अरबपति के डूबे 2 हजार करोड़, कभी मोदी से मिला था फायदा

एक आरोप से इस इंडियन अरबपति के डूबे 2 हजार करोड़, कभी मोदी से मिला था फायदा

पिछले 10 दिनों में इस अरबपति की दौलत 2 हजार करोड़ रुपए घट गई है।

1 of

नई दिल्ली.  कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक फैसले का फायदा उठाकर करोड़ों कमाने वाले इस इंडियन अरबपति को अब रोजाना करोड़ों का नुकसान हो रहा है। पिछले 10 दिनों में इस अरबपति की दौलत 2 हजार करोड़ रुपए घट गई है। इसकी वजह से एक आरोप। जिसके बाद से रोजाना कंपनी के स्टॉक्स में लोअर सर्किट लग रहा है।

 

कौन हैं ये शख्स और क्या लगा आरोप

हम बात कर रहे हैं बैंकिंग, इंश्योरेंस, ई-गवर्नेंस, ई-कॉमर्स सर्विस देने वाली कंपनी वक्रांगी लिमिटेड के एमडी और सीईओ दिनेश नंदवाना की। वक्रांगी पर अपने स्टॉक्स की कीमतों के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था। इस वजह से पिछले 10 दिनों से स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिली। जिसकी वजह से नंदवाना के 2 हजार करोड़ रुपए डूब गए। वहीं कंपनी का मार्केट कैप 32 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा घट गया।

 

आरोपों का किया खंडन

हालांकि कंपनी के एमडी और सीईओ नंदवाना ने मीडिया के सामने इस आरोप का खंड किया है। उनका कहना है कि स्टॉक कीमतों से छेड़छाड़ की खबर बेबुनियाद है और हमें मार्केट रेग्युलेटर सेबी से कोई भी सूचना नहीं मिली है।

 

 

 

आगे पढ़ें- 

कैसे मिला मोदी का साथ

- 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। मोदी सरकार के इस फैसले से एक ओर को जहां ज्यादातर कंपनियों पर ताला लगने की नौबत आई गई थी। वहीं सरकार के इस फैसले से कुछ कंपनियों की किस्तम खुल गई। नोटबंदी के बाद कैशलेस ट्रांजैक्‍शन को बढ़ाने और डिजिटल इंडिया को प्रोमोट करने के लिए सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों का फायदा इस कंपनी को मिला और इस कंपनी के बिजनेस में बढ़ोतरी हुई।

- 8 नवंबर 2016 के बंद भाव पर कंपनी का मार्केट कैप 13796.20 करोड़ रुपए था। वहीं 25 जनवरी 2018 के स्टॉक की कीमत 505.35 रुपए थी। इस भाव पर कंपनी का मार्केट कैप 53506.60 करोड़ रुपए हुआ। मोदी के फैसले के बाद कंपनी के मार्केट कैप में 39710.4 करोड़ रुपए बढ़ोतरी हुई। 

 

आगे पढ़ें- 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट