बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksपद्मावती का इंतजार इस कंपनी पर पड़ा भारी, रोज हो रहा 13 करोड़ का नुकसान

पद्मावती का इंतजार इस कंपनी पर पड़ा भारी, रोज हो रहा 13 करोड़ का नुकसान

आइए जानते हैं इस कंपनी के बारे में और कैसे हुआ नुकसान।

1 of

नई दिल्ली. संजय लीला भंसाली की फिल्‍म 'पद्मावती' को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के बाद अब बिहार में भी पद्मावती को बैन कर दिया गया है। इस वजह से देश की सबसे बड़ी और प्रीमियम फिल्म एक्सबिशन कंपनी को नुकसान उठाना पड़ रहा है। पद्मावती के इंतजार में रोजाना इस कंपनी को करोड़ों का नुकसान हो चुका है। आइए जानते हैं इस कंपनी के बारे में और कैसे हुआ नुकसान।

 

 

आगे पढ़ें- कौन है यह कंपनी

51 शहरों में हैं 600 स्क्रिन

 

हम बात कर रहे हैं देश की सबसे बड़ी मल्टीप्लेक्स चेन पीवीआर लिमिटेड की। बॉक्‍स ऑफिस के लिहाज से नवंबर माह कुछ खास नहीं गुजरा। इस महीने फिल्‍में तो कई रिलीज हुईं। लेकिन कोई भी दर्शकों को सिनेमाघर तक खींच लाने में कामयाब नहीं रही। ऐसे में इस कंपनी को इंतजार था एक बड़ी फिल्‍म का। नवंबर में जो बड़े स्‍टारों का सूखा था, फिल्‍म पद्मावती उसे पूरा कर सकती थी। लेकिन विवाद के चलते फिल्म रिलीज नहीं हो सकी जिससे पीवीआर को नुकसान हुआ।

 

देश भर में हैं 600 स्क्रीन

पीवीआर के देश भर में 600 स्कीन मौजूद है। 18 राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश के 51 शहरों में कंपनी के स्क्रिन हैं।

 

 

आगे पढ़ें- एक महीने में कितना हुआ नुकसान

नवंबर में कंपनी का मार्केट कैप 400 करोड़ तक घटा

 

- बीएसई पर पीवीआर लिमिटेड का स्टॉक 31 अक्टूबर 2017 को 1386.50 रुपए पर बंद हुआ था। बंद भाव से उस दिन कंपनी का मार्केट कैप 6480.30 करोड़ रुपए था।
- वहीं 30 नवंबर को स्टॉक 1308.55 रुपए पर बंद हुआ था। पद्मावती के इंतजार में 30 दिनों में कंपनी का मार्केट कैप 400 करोड़ रुपए तक घटकर 6113.40 करोड़ रुपए हो गया। इस तरह कंपनी के मार्केट कैप में रोजाना 13 करोड़ रुपए तक की गिरावट आई।

 

यह भी पढ़ें-

 

लंदन में यह भारतीय कहलाता है बर्गर सिंह, अब भारत में दे रहा कमाने का मौका 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss