Home » Market » Stocksइस कंपनी के 66 स्टॉक्स ने 1 साल में 10 हजार को बना दिया 1.24 लाख, इतना दिया रिटर्न,this company have grown Rs 10000 i

इस कंपनी के 66 स्टॉक्स ने 1 साल में 10 हजार को बना दिया 1.24 लाख, इतना दिया रिटर्न

इस कंपनी के 66 स्टॉक्स ने 10 हजार रुपए को एक साल में 1 लाख रुपए से ज्यादा बना दिया।

1 of

नई दिल्ली. स्टॉक मार्केट निवेश का ऐसा जरिया है जहां लंबे समय में उम्मीद से ज्यादा रिटर्न मिलता है। हालांकि यहां निवेश थोड़ा रिस्की होता है। लेकिन जो निवेशक लंबी अवधि के नजरिए से स्टॉक मार्केट निवेश करते हैं, उनको निराशा हाथ नहीं लगती है। आज हम आपको एक ऐसे स्मॉलकैप कंपनी के बारे में बता हैं जिसके 66 स्टॉक्स ने 10 हजार रुपए को एक साल में 1 लाख रुपए से ज्यादा बना दिया।

 

1 साल में 1233 फीसदी बढ़ा स्टॉक

 

- ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स बनाने वाली देश की अग्रणी कंपनी HEG Ltd के स्टॉक ने निवेशकों को मालामाल किया है।
- साल 2017 में अभी तक कंपनी के स्टॉक ने 1233 फीसदी का रिटर्न दिया है।

 

80 फीसदी रेवेन्यू ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स से

 

ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स बनाने का दुनिया का सबसे बड़ा प्लांट एचईजी है। कंपनी की सालाना उत्पादन की क्षमता 80,000 MT है। कंपनी का 80 फीसदी रेवेन्यू ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स के बिजनेस से आता है।


आगे पढ़ें- 66 स्टॉक्स ने बनाया लखपति

 

यह भी पढ़ें- 2G के आरोपियों को बरी कराने में है इन वकीलों का हाथ, 1 पेशी की फीस 25

 

10 हजार बने 1.24 लाख रुपए

 

- एचईजी लिमिटेड ने साल 2017 में निवेशकों की चांदी कर दी है। साल 2017 में अभी तक कंपनी के स्टॉक में 1233 फीसदी तक का रिटर्न मिला है।
- 30 दिसंबर 2016 को स्टॉक की कीमत 150 रुपए थी। यानी जिन निवेशकों ने इस भाव पर इसमें 10,000 रुपए इन्वेस्ट किए होंगे उनको कंपनी के करीब 66 शेयर मिले होंगे।
- वहीं 22 दिसंबर 2017 को स्टॉक 1233 फीसदी बढ़कर 2000.90 रुपए के भाव पर पहुंच गया। यानी एक साल में यहां लगाए गए 10 हजार रुपए 1.24 लाख रुपए बन गए।

 

आगे पढ़ें- कितनी बढ़ी कंपनी की दौलत

एक साल में 7396 करोड़ बढ़ी दौलत

 

- ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड मैन्युफैक्चर करने वाली देश की अग्रणी कंपनी का मार्केट कैप 30 दिसंबर 2016 को 599.38 करोड़ रुपए था। वहीं 22 दिसंबर 2017 को कंपनी का मार्केट कैप बढ़कर 7995.42 करोड़ रुपए पहुंच गया।
-  इस हिसाब से एक साल में ही कंपनी की कुल दौलत भी 7396.04 करोड़ रुपए बढ़ी।

 

आगे पढ़ें- दूसरे क्वार्टर में कंपनी का प्रॉफिट

ऐसे मिला फायदा

 

दरअसल, चीन में पर्यावरण मसले के चलते सेलेक्टेड स्टील और इलेक्ट्रोड बनाने वाली कंपनियां बंद हो गई है। चीन में कंपनियों के बंद होने का फायदा भारतीय कंपनियों को मिला। वहीं वैल्यूम और ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स की कीमतों में रिकवरी से कंपनी को सपोर्ट मिला।

 

दूसरे क्वार्टर में 114 करोड़ हुआ प्रॉफिट

 

सितंबर क्वार्टर में एचईजी कंपनी का नेट प्रॉफिट पिछले साल समान अवधि में 14.09 करोड़ रुपए के घाटे की तुलना में 114 करोड़ रुपए रहा।

 

यह भी पढ़ें-

 

गधी के दूध से आया बिजनेस आइडिया, हर महीने कमाता है लाखों 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट