बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocks10 हजार का निवेश 5 साल में बना 1.80 लाख, आगे भी 60% ग्रोथ का अनुमान

10 हजार का निवेश 5 साल में बना 1.80 लाख, आगे भी 60% ग्रोथ का अनुमान

ब्रोकरेज हाउस इसमें आगे भी 60 फीसदी रिटर्न मिलने का अनुमान जता रहे हैं।

1 of

नई दिल्ली.  भविष्‍य के लिए निवेश करना बहुत जरूरी है। निवेश के लिए हमेशा ऐसे विकल्प खोजने चाहिए, जहां आपको कम समय में ज्यादा रिटर्न मिले। ऐसा ही निवेश का एक जरिया है शेयर बाजार। हालांकि शेयर बाजार में निवेश जोखिम भरा है, लेकिन यहां रिटर्न मिलने की संभावना भी उम्मीद से अधिक है। आज हम आपको एक ऐसी कंपनी के बारे में बता रहे हैं जिसने निवेशकों को 5 साल में 1800 फीसदी रिटर्न दिया है।

 

रिको ऑटो इंडस्ट्रीज

 

रिको ऑटो इंडस्ट्रीज ऑटो पार्ट्स एंड इक्विपमेंट्स मैन्युफैक्चर करती है। इसके क्लाइंट्स में देश की बड़ी कारमेकर कंपनी मारुति सुजुकी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, बीएमडब्ल्यू, रेनॉल्ट, हीरो मोटोकॉर्प औऱ कमिंस है। पिछले दो फिस्कल में रिको ऑटो ने ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री सेग्मेंट में खुद को डाइवर्सिफाइड किया है। ओवरऑल रेवेन्यू में पैसेंजर्स व्हकील की हिस्सेदारी 55 फीसदी है।

 

आगे पढ़ें, 10 हजार बने 1.80 लाख रु

10 हजार लगाकर निवेशक बने लखपति

 

बीएसई पर अगस्त 2013 को रिको ऑटो के एक शेयर का भाव 4.44 रुपए था, जो 8 मई फरवरी 2018 को बढ़कर 81.75 रुपए पर पहुंच गया। 5 साल में करीब 1740 फीसदी तक रिटर्न मिला है। यानी जिन निवेशकों ने 2013 इस कंपनी में 10 हजार रुपए निवेश किए होंगे। उनके निवेश बढ़कर अब 1.80 लाख रुपए हो गए।

60% ग्रोथ का अनुमान

 

ब्रोकरेज हाउस एडलवाइस ने रिको ऑटो में करंट मार्केट प्राइस से 60 फीसदी ग्रोथ का अनुमान जताया है। ब्रोकिंग फर्म के मुताबिक, कंपनी का सालाना ऑर्डर बुक 500 करोड़ रुपए से ज्यादा है और 700 करोड़ रुपए से ज्यादा के ऑर्डर की बोली लगा रखी है। इससे पता चलता है कि कंपनी की ग्रोथ हेल्दी है। ब्रोकरेज हाउस ने स्टॉक में 125 रुपए का लक्ष्य दिया है। यानी निवेशकों के पास आगे स्टॉक्स में अभी 60 फीसदी रिटर्न पाने का मौका है।

 

तीसरे क्वार्टर में नेट प्रॉफिट 31.54% बढ़ा

- फाइनेंशियल ईयर 2018 की तीसरी तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट 31.54 फीसदी बढ़कर 13.22 करोड़ रुपए रहा। पिछले साल समान क्वार्टर में कंपनी का नेट प्रॉफिट 10.05 करोड़ रुपए था। वहीं बिक्री 26 फीसदी बढ़कर 303.38 करोड़ रुपए रही।

 

(नोट- यहां दी गई सभी सलाह टॉप ब्रोकरेज हाउस के द्वारा जारी रिपोर्ट के आधार पर हैं। हर स्टॉक से जुड़े अपने जोखिम होते है, इसलिए सलाह है कि अपने स्तर पर जांच या अपने एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही निवेश का फैसला लें।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट