बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksऐसी पड़ी मार कि 155 करोड़ से 65 रुपए हो गई इस CEO की सैलरी

ऐसी पड़ी मार कि 155 करोड़ से 65 रुपए हो गई इस CEO की सैलरी

वियरेबल कैमरा बनाने वाली कंपनी गो प्रो के फाउंडर और सीईओ निक वुडमैन आज अर्श से फर्श पर आ चुके हैं।

1 of

नई दिल्ली. वियरेबल कैमरा बनाने वाली कंपनी गो प्रो के फाउंडर और सीईओ निक वुडमैन आज अर्श से फर्श पर आ चुके हैं। कंपनी की माली हालत खराब होने की मार कंपनी के सीईओ पर भी पड़ी है। कभी 155 करोड़ रुपए मंथली सैलरी लेने वाले वुडमैन अब 65 रुपए (1 डॉलर) पर काम करने को मजबूर हैं।

 

4 साल पहले 1866 करोड़ का था पैकेज

चार साल पहले गो प्रो के सीईओ निक वुडमैन अमेरिका के हाइएस्ट पेड सीईओ थे। ब्लूमबर्ग इंडेक्स के मुताबिक, 2014 में उनका कुल पैकेज 1866.8 करोड़ रुपए (28.72 करोड़ डॉलर) का था। इस हिसाब से 2014 में उनकी मंथली सैलरी 155 करोड़ रुपए रही।

 

बिकने की कगार पर पहुंच गई कंपनी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एक समय वियरेबल कैमरा मार्केट में गोप्रो की धाक थी। लेकिन बाद में इसे अन्य बड़ी कंपनियों सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स और गूगल से चुनौती मिली। इन कंपनियों ने भी इसके जैसे प्रोडक्ट मार्केट में कम कीमत में पेश किए। जिससे कंपनी का मार्केट शेयर घटने लगा। जिससे अब यह कंपनी बिकने की कगार पर पहुंच गई है।

 

आगे पढ़ें- ऑलटाइम लो पर पहुंचा शेयर

2014 के बाद से कंपनी की हालत साल दर साल बिगड़ती गई। ड्रोन कैमरा लॉन्च करने के बाद कंपनी को उम्मीद थी कि इससे उसे बिजनेस बढ़ाने में मदद मिलेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और कंपनी को क्वार्टर दर क्वार्टर नुकसान उठाना पड़ा। और कंपनी ने ड्रोन कैमरा का प्रोडक्शन बंद कर दिया। इससे कंपनी के शेयरों में बिकवाली होने लगी और सोमवार को शेयर ऑलटाइम लो पर पहुंच गया।

 

250 कर्मचारियों पर गिरेगी गाज

कंपनी ने अपने वर्क फोर्स में 20 फीसदी की कटौती करने की घोषणा की है। रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी 250 कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगी।

 

आगे पढ़ें- 2015 और 2016 में नहीं मिला बोनस

सिर्फ 1.95 करोड़ रु मिली सैलरी

 

कंपनी के खराब परफॉर्मेंस की वजह से वुडमैन को 2015 और 2016 में कोई बोनस नहीं मिला। उन्हें सिर्फ 1.95 करोड़ रुपए (3 लाख डॉलर) की सैलरी मिली। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट