Home » Market » StocksFY19 likely to be a good year for nbfc sector

बेहतर है NBFC सेक्टर का आउटलुक, 4 स्टॉक्स में मिल सकता है 36% तक रिटर्न

अगले एक साल में एनबीएफसी स्टॉक्स में अच्छा रिटर्न मिल सकता है।

FY19 likely to be a good year for nbfc sector

नई दिल्ली.  नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों (एनबीएफसी) के लिए फाइनेंशियल ईय़र 2017-18 अच्छा रहा। इस दौरान एनबीएफसी की रिटेल क्रेडिट ग्रोथ 17-19 फीसदी रही। रेटिंग एजेंसी इकरा के मुताबिक, मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में भी इस सेक्टर में ग्रोथ की रफ्तार बनी रहेगी। वहीं एक्सपर्ट्स का कहना है कि क्रेडिट ग्रोथ के अलावा एनपीए के मामले में भी बैंकों की तुलना में एनबीएफसी सेक्टर अच्छी स्थिति में है। ऐसे में एनबीएफसी सेक्टर को लेकर आगे आउटलुक बेहतर है। अगले एक साल में एनबीएफसी स्टॉक्स में अच्छा रिटर्न मिल सकता है।

 

 

मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के अनुसार, एनबीएफसी के लिए फाइनेंशियल ईयर 2018 अच्छा रहा। नोटबंदी में कमजोरी के बाद यह सेक्टर रिबाउंड किया है। इसके सभी सेगमेंट में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली है। हालांकि हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों की एसेट क्वालिटी स्टेबल है, जबकि व्हीकल फाइनेंस कंपनियों का आउटलुक बेहतर हुआ है। क्रिसिल की रिपोर्ट के अनुसार अगले 2 साल में एनबीएफसी के कुल लोन का 20 फीसदी शेयर इसी सेक्टर को जाएगा, जो पिछले 5 साल में 8 फीसदी से 19 फीसदी हो चुका है।

 

इन वजहों से भी बेहतर है आउटलुक

ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डायरेक्टर संदीप जैन ने कहा कि एनबीएफसी सेक्टर का आउटलुक काफी अच्छा है। व्हीकल सेगमेंट में क्रेडिट ग्रोथ अच्छी रहेगी क्योंकि यूटिलि‍टी व्‍हीकल्‍स, कारों और वैन समेत सभी सेगमेंट की सेल्‍स मजबूत रही है। लेकिन ब्याज दरें बढ़ने से हाउसिंग सेगमेंट में थोड़ा प्रेशर दिख सकता है। इससे कंपनियों के मार्जिन पर असर पड़ सकता है।
वहीं मार्केट एक्सपर्ट सचिन सर्वदे के मुताबिक, एनबीएफसी का बिजनेस मॉडल ऐसा है कि ये छोटे कस्टमर्स पर ज्यादा फोकस करती हैं। इनका एवरेज टिकट साइज कम होने के नाते इनमें डिफॉल्ट के चांस कम रहते हैं। लोन भी कम समय में पास हो जाता है। ऐसे में एनबीएफसी की क्रेडिट ग्रोथ बेहतर है। 

 

किन शेयरों में करें निवेश

 

# श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस

नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी (STFC)  कमर्शियल व्‍हीकल फाइनेंस और टायर लोन जैसे कई फाइनेंशियल प्रोडक्‍ट ऑफर करती है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 3.4 फीसदी घटा है। हाल ही में STFC ने ग्राहकों को क्रेडिट यानी लोन पर पेट्रोल-डीजल खरीदने के लिए सरकारी पेट्रोलियम कंपनी हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (HPCL) के साथ करार किया है। सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (Siam) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबि‍क, यूटिलि‍टी व्‍हीकल्‍स, कारों और वैन समेत सभी सेगमेंट की सेल्‍स मजबूत रहने की वजह से लगातार दूसरी बार पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स मई में 20 फीसदी बढ़ी है। ऑटो सेक्टर में डिमांड बढ़ने से भी कंपनी को फायदा होगा। ब्रोकरेज हाउस एडलवाइस ने STFC में 1985 रुपए का लक्ष्य दिया है। करंट प्राइस से स्टॉक में 36 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है।

 

# मुथूट फाइनेंस

गोल्ड फाइनेंसिंग कंपनी मुथूट फाइनेंस ने अगले वित्त वर्ष में गोल्ड लोन बिजनेस 15% बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। कंपनी इसके लिए नए मार्केट में उतरेगी और ग्राहकों के लिए लोन रिपेमेंट को सरल बनाने पर काम करेगी। मुथूट फाइनेंस की देशभर में 4303 ब्रांच हैं। अगले वित्त वर्ष से कंपनी अपने बिजनेस का विस्तार करते हुए सालाना 150 से 200 ब्रांच जोड़ेगी। चौथे क्वार्टर में कंपनी का नेट प्रॉफिट 40.3 फीसदी बढ़कर 451.39 करोड़ रुपए रहा। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में मुथूट फाइनेंस का ग्रॉस एनपीए 5.62 फीसदी से बढ़कर 6.98 रहा है। संदीप जैन ने स्टॉक में 440 रुपए का लक्ष्य दिया है। करंट प्राइस से स्टॉक में 20 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है।


# DHFL

डीएचएफएल हाउसिंग फाइनेंस कंपनी है। अफॅोर्डेबल हाउसिंग में कंपनी का कारोबार बेहतर है। कंपनी टियर 2 और टियर 3 शहरों में भी बेहतर कर रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 30 फीसदी बढ़ गया है। हाउसिंग सेक्टर में अच्छी ग्रोथ की उम्मीद है। ऐसे में मैनेजमेंट अगली 2 तिमाही में 30 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद कर रहा है। सचिन सर्वदे ने शेयर के लिए 680 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। मौजूदा कीमत 615 रुपए है,  यानी शेयर में 10 फीसदी रिटर्न की उम्मीद है। 

 

# महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंस

देश भर में बेहतर मानसून रहने की संभावना, रूरल डि‍मांड बढ़ने और माइक्रो इकोनॉमी में सुधार आने की वजह से हल्‍के कमर्शि‍यल व्हीकल्‍स और ट्रैक्‍टर्स की सेल्‍स में तेजी दर्ज की गई है। सि‍आम के मुताबिक, ट्रैक्‍टर्स की सेल्‍स में 10 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है। एमएंडएम की ट्रैक्‍टर सेल्‍स में अप्रैल 2018 में 19 फीसदी की ग्रोथ रही है। इंफ्रा एक्टिविटी बढ़ने से ग्रोथ बढ़ी है। कंपनी का कलेक्शन सुधरा है, जबकि ओईएम व डीलरशिप की मदद से मार्केट शेयर बढ़ाने में मदद मिली है। ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने शेयर में लक्ष्‍य 553 रुपए है। करंट प्राइस से स्टॉक में 14 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है। 

 

(नोट- निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट