बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksरेटिंग बढ़ाए जाने से आईटी शेयरों में उछाल, TCS-इंफोसिस 52 हफ्ते की ऊंचाई पर

रेटिंग बढ़ाए जाने से आईटी शेयरों में उछाल, TCS-इंफोसिस 52 हफ्ते की ऊंचाई पर

बुधवार के कारोबार में आईटी कंपनियों के शेयरों में शानदार तेजी दर्ज की गई है।

1 of

नई दिल्ली. ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विस मेजर मॉर्गन स्टैनले ने आईटी कंपनियों की रेटिंग और टारगेट बढ़ा दिए हैं। इस खबर से बुधवार के कारोबार में आईटी कंपनियों के शेयरों में शानदार तेजी दर्ज की गई है। इस तेजी से देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस और दूसरी बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस के शेयर 52 हफ्ते की नई ऊंचाई पर पहुंच गए।

 

IT शेयरों की रेटिंग बढ़ी

- मॉर्गन स्टैनले ने इंफोसिस, टेक महिंद्रा, परसिस्टेंस, साइंट और एचसीएल टेक जैसी आईटी कंपनियों की रेटिंग अपग्रेड कर उन्हें ओवरवेट की श्रेणी में शामिल किया है।
- वहीं, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, टीसीएस, एचसीएल सहित कुछ दूसरी कंपनियों के लिए टारगेट बढ़ा दिया है।
- मॉर्गन स्टैनले का कहना है कि ग्लोबल स्तर पर मैक्रोइकोनॉमिक सिनैरियों में सुधार होने का फायदा इस साल आईटी सेक्टर को मिलेगा। 
 

निफ्टी आईटी इंडेक्स भी साल के नए हाई पर

- रेटिंग बढ़ाए जाने से बुधवार के कारोबार में आईटी शेयरों में शानदार तेजी देखने को मिल रही है। इंफोसिस (2.85%), टीसीएस (2.06%), माइंड ट्री (1.01%) और एचसीएल टेक (0.58%) में बढ़त से निफ्टी आईटी इंडेक्स 1.27 फीसदी मजबूत हुआ है।

- आईटी शेयरों में उछाल से निफ्टी आईटी इंडेक्स 52 हफ्ते की नई ऊंचाई 12.653.25 के स्तर पर पहुंच गया है।

- पिछले एक महीने में निफ्टी आईटी इंडेक्स ने आउटपरफॉर्म किया है। इस दौरान निफ्टी50 में 3.7 फीसदी की बढ़ोतरी की तुलना में निफ्टी आईटी इंडेक्स में 11.5 फीसदी की ग्रोथ रही।

- कारोबार के दौरान टीसीएस ने 2925 रुपए का नया हाई बनाया। वहीं इंफोसिस 52 हफ्ते की नई ऊंचाई 1,161.80 रुपए के भाव पर पहुंचा।

 

ये भी पढ़ें- मॉर्गन स्टैनले ने IT शेयरों की रेटिंग बढ़ाई, 27% तक जताया रिटर्न का अनुमान

 

2018 IT सेक्टर के लिए होगा बेहतर  

- रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल सेक्टर में टेक्नोलॉजी के स्तर पर कुछ बदलाव हुए। क्लाउड कंप्यूटिंग, ऑटोमेशन और डिजिटाइजेशन जैसे ट्रेंड सेक्टर के लिए इश्‍यू रहे। वहीं, ग्लोबल स्तर पर मार्केट सुस्त रहने की वजह से डील कन्वर्जन भी सुस्त रही।

- रुपए में मजबूती और डॉलर की कमजोरी का भी सेक्टर को नुकसान उठाना पड़ा। इस वजह से 2017 में आईटी सेक्टर सबसे कम रिटर्न देने वाले सेक्टर में शामिल रहा। 

 

इन सेक्टर से बढ़ेगी आईटी में डिमांड

- मॉर्गन स्टैनले का कहना है कि 2018 में खासतौर से बैंकिंग, रिटेल और इंश्‍योरेंस सेक्टर की ओर से इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की डिमांड बढ़ेगी।

- इसके अलावा डिजिटल पर फोकस करने वाली कंपनियां भी डिमांड बढ़ाएंगी। इन वजहों से आईटी कंपनियों का मुनाफा बढ़ेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट