बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksUS वर्कर्स से भेदभाव में फंसी TCS, कोर्ट में खारिज हुई याचिका

US वर्कर्स से भेदभाव में फंसी TCS, कोर्ट में खारिज हुई याचिका

टीसीएस को अमेरिकी वर्कर्स के साथ भेदभाव के आरोपों को लेकर मुकदमे का सामना करना पड़ रहा है।

1 of

 

नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेज (टीसीएस) को अमेरिकी वर्कर्स के साथ भेदभाव के आरोपों को लेकर मुकदमे का सामना करना पड़ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कैलिफोर्निया की एक कोर्ट ने टीसीएस की भेदभाव के मुकदमे को खारिज करने की रिक्वेस्ट को खारिज कर दिया। इसे टीसीएस के लिए बड़ा झटके के तौर पर देखा जा रहा है।

 

सख्त हुई अमेरिकी कोर्ट

रिपोर्ट के मुताबिक टीसीएस को एक और झटका लगा है, जिसमें फेडरल जज ने अमेरिका के टीसीएस ऑफिस में जॉब गंवाने वाले अमेरिकी वर्कर्स की तरफ से दायर मुकदमे को क्लास-एक्शन सूट में तब्दील कर दिया है। इस मामले में टीसीएस ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

 

 

5 साल में टीसीएस ने कीं 12,500 भर्तियां

कैम्ब्रिज की एक रिपोर्ट के मुताबिक टीसीएस ने अमेरिका में 2016 तक 5 साल के दौरान की गईं 12,500 भर्तियां कीं, जो अमेरिका में आईटी सर्विसेज कंपनियों द्वारा दी गईं कुल जॉब्स की तुलना में आधी से ज्यादा थीं।

 

भारतीय कंपनी ने बीते तीन साल के दौरान अमेरिका में इम्प्लॉयमेंट, एजुकेशन और एकेडमिक पार्टनरशिप्स पर 3 अरब डॉलर (19360 करोड़ रुपए) से ज्यादा खर्च किए। टीसीएस का फिस्कल 2017 में कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू 17.6 अरब डॉलर (1,13,572 करोड़ रुपए) रहा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट