बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksघाटे से मुनाफे में लौटी टाटा स्टील, मार्च क्वार्टर में 14688 करोड़ रु का प्रॉफिट

घाटे से मुनाफे में लौटी टाटा स्टील, मार्च क्वार्टर में 14688 करोड़ रु का प्रॉफिट

टाटा स्टील घाटे से प्रॉफिट की राह पर लौट आई है। 31 मार्च, 2018 में समाप्त क्वार्टर के दौरान टाटा स्टील ने 14,688.02 करोड

1 of

 

नई दिल्ली. टाटा स्टील घाटे से प्रॉफिट की राह पर लौट आई है। 31 मार्च, 2018 में समाप्त क्वार्टर के दौरान टाटा स्टील ने 14,688.02 करोड़ रुपए का कंसॉलिडेटे प्रॉफिट दर्ज किया, जबकि बीते साल के समान क्वार्टर के दौरान उसे 1,168 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

 

 

कंसॉलिडेट इनकम रही 36407 करोड़ रु

कंपनी द्वारा बीएसई फाइलिंग में दी गई जानकारी के मुताबिक, जनवरी-मार्च क्वार्टर के दौरान उसकी कंसॉलिडेटेड इनकम 36,407.19 करोड़ रुपए रही थी, जबकि वित्त वर्ष 2017 के समान क्वार्टर के दौरान यह आंकड़ा 35,457.06 करोड़ रुपए रहा था।

इस क्वार्टर के दौरान कंपनी का खर्च बढ़कर 32,626 करोड़ रुपए हो गया, जबकि मार्च, 2017 में समाप्त क्वार्टर के दौरान खर्च 31,132.02 करोड़ रुपए रहा था।

 

 

टाटा स्टील के लिए बेहतरीन रहा सालः नरेंद्रन

कंपनी के सीईओ और एमडी टी वी नरेंद्रन ने कहा, ‘कार्यान्वयन की स्ट्रैटजी और ग्लोबल मार्केट में सप्लाई-डिमांड के बैलेंस के दम पर वित्त वर्ष 18 के दौरान टाटा स्टील का प्रदर्शन शानदार रहा। साल के दौरान कलिंगनगर प्लांट के विस्तार और मार्केटिंग नेटवर्क मजबूती व ब्रांड इक्विटी के दम पर मार्केट की तुलना में भारतीय ऑपरेशन की वॉल्यूम ग्रोथ शानदार रही।’

 

 

यूके पेंशन स्कीम की रिस्ट्रक्चरिंग का प्रोसेस पूरा

उन्होंने कहा कि सभी मार्केटिंग सेगमेंट्स में ग्रोथ दर्ज की गई और करंसी में उतार-चढ़ाव के बावजूद टाटा स्टील यूरोप के लिए यह क्वार्टर अच्छा रहा। नरेंद्रन ने कहा, ‘यूके पेंशन स्कीम की रिस्ट्रक्चरिंग का प्रोसेस भी पूरा कर लिया गया है। थिसेनक्रुप के साथ बराबर हिस्सेदारी वाले जेवी पर अच्छी प्रगति है और हम एक मजबूत यूरोपियन पोर्टफोलियो तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’

 

 

विस्तार की रणनीति पर काम कर रही है कंपनी

उन्होंने कहा कि कंपनी भारत में अपने विस्तार की रणनीति पर लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा, ‘कलिंगानगर फेज 2 के विस्तार की प्रगति अच्छी है, जिससे हमारी कैपासिटी 1.3 करोड़ टन से बढ़ाकर 1.8 करोड़ टन क्रूड स्टील पर पहुंच जाएगी। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि एनसीएलटी ने भूषण स्टील के लिए हमारे रिजॉल्युशन प्लान को मंजूरी दे दी है। हमें इस ट्रांजैक्शन के लिए सीसीआई की भी मंजूरी मिल गई है।’

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट