• Home
  • Market
  • Stocks
  • Tata Motors posts consolidated net loss of Rs 26,960.8 cr for third quarter; total income up at Rs 77,582.71 cr.

Tata Motors को 26961 करोड़ रु का भारी नुकसान, JLR ने दिया बड़ा झटका

दिसंबर, 2018 में समाप्त तिमाही के दौरान टाटा मोटर्स (Tata Motors) को 26,960.80 करोड़ रुपए का भारी भरकम नुकसान (consolidated net loss) हुआ, जबकि एक साल पहले समान अवधि में कंपनी को 1,077 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।

moneybhaskar

Feb 07,2019 05:07:00 PM IST


नई दिल्ली. दिसंबर, 2018 में समाप्त तिमाही के दौरान टाटा मोटर्स (Tata Motors) को 26,960.80 करोड़ रुपए का भारी भरकम नुकसान हुआ, जबकि एक साल पहले समान अवधि में कंपनी को 1,214.60 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ था। कंपनी को उसकी लग्जरी कार यूनिट जगुआर लैंड रोवर (Jaguar Land Rover) की वजह से तगड़ा झटका लगा है, क्योंकि जेएलआर को ग्लोबल मार्केट में लगातार मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

जेएलआर यूनिट में 27838 करोड़ रु का नुकसान

कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग के माध्यम से बताया कि उसे अपनी ब्रिटिश आर्म जेएलआर (JLR) में हुए 27,838 करोड़ रुपए (3.1 अरब पाउंड) के नुकसान से सबसे तगड़ा झटका लगा है। हालांकि वित्त वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही के दौरान कंपनी की कुल इनकम 4.36 फीसदी बढ़कर 77,582.71 करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गई।

स्टैंडअलोन बेसिस पर 617 करोड़ रु का प्रॉफिट

स्टैंडअलोन बेसिस पर देखें तो कंपनी ने अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान 617.62 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया, जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह आंकड़ा 211.59 करोड़ रुपए रहा था। टाटा मोटर्स की स्टैंडअलोन इनकम बढ़कर 16,477.07 करोड़ रुपए हो गई, जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह आंकड़ा 16,186.15 करोड़ रुपए रहा था। हालांकि जेएलआर का रेवेन्यू 1 फीसदी घटकर 6.2 अरब डॉलर रह गया।

मजबूत बना हुआ है घरेलू बिजनेसः चंद्रशेखरन

टाटा ग्रुप (Tata Group) के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन (N Chandrasekaran) ने कहा कि कंपनी का घरेलू बिजनेस लगातार मजबूत बना हुआ है और प्रॉफिट में ग्रोथ के साथ मार्केट शेयर भी बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, ‘टर्नअराउंड 2.0 स्ट्रैटजी सही दिशा में काम कर रही है और कंपनी लगातार प्रोडक्ट लॉन्च पर काम कर रही है। ऐसा टिकाऊ ग्रोथ के लिए जरूरी है।’

चीनी मार्केट में बनी हुई हैं मुश्किलें

चंद्रशेखरन ने कहा कि जेएलआर को अपने अहम बाजार चीन में लगातार चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा, ‘कंपनी ने प्रतिस्पर्धा देने, कॉस्ट घटाने और कैश फ्लो में सुधार के लिए कई अहम फैसले किए हैं। कंपनी मौजूदा प्रोडक्ट् और अग्रणी टेक्नोलॉजी में लगातार निवेश कर रही है।’

X
COMMENT

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.